MP NEWS- प्रतीक्षा की मां की प्रतीक्षा अब कभी खत्म नहीं होगी, हिमाचल में मौत

बैतूल
। मध्य प्रदेश की कोल सिटी पाथाखेड़ा की रहने वाली प्रतिक्षा पाटील उम्र 27 वर्ष की मां की प्रतीक्षा अब कभी खत्म नहीं होगी। उनकी लाडली बेटी हिमाचल प्रदेश में हुए भूस्खलन का शिकार हो गई है। प्रतीक्षा का शव मिल गया है। दिल्ली से नागपुर लाया जा रहा है।

वीडियो कॉल पर मां से बात कर रही थी तभी हादसे का शिकार हो गई 

हिमाचल प्रदेश में घूमने के लिए कई प्रतीक्षा पाटिल रविवार को करीब 1:30 बजे अपनी मां से वीडियो कॉल पर बात कर रही थी। वह अपने मोबाइल के कैमरे से बता रही थी कि हिमाचल कितना खूबसूरत है। तभी अचानक वीडियो कॉल डिस्कनेक्ट हो गया। फिर वापस फोन नहीं लगा। शाम पांच बजे परिजनों को दिल दहला देने वाली ख़बर प्रतीक्षा की मौत की मिली। तब से ही माता, पिता और परिवार के सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल है।

19 जुलाई को नागपुर से हिमाचल के लिए रवाना हुई थी

प्रतीक्षा के पिता सुनील दीवाकर पाटील वेस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड (डब्ल्यूसीएल) पाथाखेड़ा की तवा-1 खदान में अंडर मैनेजर है। सुनील पाटील ने बताया उनकी बेटी बहुत ही होनहार थी। प्रकृति से इतना ज्यादा प्यार था कि चाहकर भी हम उसे हिमाचल प्रदेश जाने से नहीं रोक पाए। 19 जुलाई सोमवार को प्रतीक्षा घूमने के लिए नागपुर से हिमाचल गई थी। अलग-अलग जगहों के प्राकृतिक सौंदर्य को मोबाइल में कैद कर मां से वीडियोकॉल पर बात करती थी।

IITIAN प्रतिक्षा पाटील को हायर एजुकेशन के लिए विदेश जाना था

किन्नौर में भू स्खलन का शिकार हुई प्रतीक्षा के पिता ने बताया उनकी बेटी ने आईआईटी खडग़पुर से बी-टेक, एम-टेक किया था। इसके बाद डीएचएल मुंबई और फिर टीवीएस पुणे में जॉब किया। 18 माह के हॉयर एजुकेशन के लिए स्पेन जाने टीवीएस कंपनी से प्रतीक्षा ने रिजाइन किया था। इसी बीच कोरोना सक्रिय हो गया। जिसके चलते स्पेन में एडमिशन नहीं मिला। प्रतीक्षा को प्रकृति से प्यार था। इसलिए वह अक्सर पहाड़ी क्षेत्रों और विदेश घूमने जाती थी।

प्रकृति की गोद में जाना चाहती थी, प्रकृति की गोद में समा गई

प्रतीक्षा के पिता ने बताया कि करीब 15 दिन पहले पाथाखेड़ा से जाते वक्त बेटी ने अपनी मां प्रणीता से हिमाचल प्रदेश घूमने जाने की बात कही थी। मां ने बारिश का मौसम होना बताकर घूमने जाने से मना कर दिया था। फिर बेटी ने मुझसे पूछा और कहा कि एडमिशन मिलते ही पढ़ाई के लिए विदेश चली जाउंगी। फिर घूमने को नहीं मिलेगा। पढ़ाई के लिए विदेश जाने की बात सुनकर मैने हिमाचल प्रदेश घूमने जाने को कह दिया। मुझे इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि जिस प्रकृति से मेरी बेटी को इतना प्यार था उसी प्रकृति की गोद में मेरी बेटी इतनी जल्दी हमेशा के लिए सो जाएगी। 

गौरतलब है कि रविवार दोपहर किन्नौर के सांगला-छितकुल रोड पर बटसेरी के पास भू स्खलन से चट्टाने गिरी। इसकी चपेट में सांगला की ओर जा रहा वाहन क्रमांक एचआर 55 एसी 9003 आ गया। इसमें चालक समेत 12 लोग सवार थे। हादसे में प्रतीक्षा सहित 9 लोगों की मौत हुई है।

27 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून- 9 जिलों में भारी वर्षा की चेतावनी, पूरे प्रदेश में बारिश होगी
MP NEWS- JABALPUR का युवक, 2 मंत्रियों का कथित निजी सचिव, गिरफ्तार
MP BOARD 12th RESULT DATE घोषित, ऐसे चेक करें
MP NEWS- कर्मचारियों के इंक्रीमेंट के संबंध में वित्त विभाग का स्पष्टीकरण
MP NEWS- दुष्कर्म पीड़ित छात्रा का शोषण करने वाले शिक्षक को गुरु पूर्णिमा के दिन 5 साल की जेल 
INDORE NEWS- स्कूल तो खुले लेकिन स्टूडेंट्स नहीं आए
GWALIOR NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया के OSD कांग्रेस के टारगेट पर, भोपाल से उठा सवाल
EMPLOYEE NEWS- बैन हट गया लेकिन तबादले नहीं हो रहे, कर्मचारी परेशान
MP NEWS- कांग्रेस के पूर्व मंत्री ने कलेक्टर को निकम्मा, बेवकूफ और... कहा
MP NEWS- चयनित शिक्षकों ने बीजेपी प्रदेश कार्यालय में प्रदर्शन किया
EMPLOYEE NEWS- मप्र में हड़ताली कर्मचारियों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई होगी
 

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiत्रिपुंड का वैज्ञानिक महत्व क्या है, दिखावे के लिए तो नहीं लगाते, यहां पढ़िए 
GK in Hindiहार्ड डिस्क की क्षमता, GB और TB के बाद क्या आता है
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
GK in Hindi₹1 के नोट पर गवर्नर के हस्ताक्षर क्यों नहीं होते हैं 
GK in Hindiइंसान को शेर कहना शान और गधा कहना अपमान क्यों माना जाता है 
GK in Hindi- खतरे का रंग लाल क्यों होता है काला क्यों नहीं
GK in Hindiपुष्पक विमान किस ईंधन से चलता था, पेट्रोल और बैटरी तो उस समय होते नहीं थे
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here