Loading...    
   


MP NEWS- शिक्षक भर्ती: अब अंग्रेजी के उम्मीदवार नाराज

भोपाल
। मध्यप्रदेश में उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती हेतु दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया चल रही है। पिछले दिनों जीव विज्ञान के सहायक विषयों के डिग्री धारी उम्मीदवारों ने पॉलिसी पर आपत्ति जताई थी और आज अंग्रेजी विषय के उम्मीदवार भी नाराज हो गए। उम्मीदवारों ने लोक शिक्षण संचालनालय के भोपाल कार्यालय में आ कर प्रदर्शन किया।

मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती: बिना कारण बताए रिजेक्ट कर रहे हैं

प्रदर्शनकारी कमिश्नर डीपीआई से मिलने आए थे परंतु उन्हें मिलने नहीं दिया गया। अंग्रेजी विषय के प्रदर्शनकारियों विद्वानों ने अपने आवेदन में लिखा है कि उन्हें बिना कुछ कारण बताए उनके दस्तावेज को निरस्त किया जा रहा है। चयनित शिक्षकों ने आवेदन में लिखा है कि वे माध्यमिक शिक्षक अंग्रेजी विषय से मेरिट में आए हैं। उन्होंने ग्रेजुएशन में तीनों साल फाउंडेशन कोर्स में अंग्रेजी विषय की पढाई की है और सभी छह सेमेस्टर में अंग्रेजी की परीक्षा भी दी है। साथ ही बीएड की पढाई में भी अंग्रेजी मुख्य विषय के रूप में लिया था।

MPPEB की रूलबुक के अनुसार पात्रता व योग्यता प्राप्त है

आवेदन में लिखा है कि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) द्वारा जारी नोटिफिकेशन में भी अंग्रेजी विषय के शिक्षक के लिए अंग्रेजी लिटरेचर से ग्रजुएट होना अनिवार्य है, ऐसा कहीं भी उल्लेख नहीं किया गया था। चयनित शिक्षकों का कहना है कि उन्होंने रूलबुक में दिए गए नियम के अनुसार संबंधित विषय में कम से कम 50 फीसद अंकों के साथ स्नातक उपाधि और एक वर्षीय बीएड के अंतर्गत योग्यता हासिल की है। उन्होंने मांग की है कि उन्हें निरस्त सूची से संशोधित कर शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शामिल करें।

15 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com

ग्रेजुएशन के लिए इंग्लिश कंपलसरी

आंध्र प्रदेश में स्नातक करने के लिए अंग्रजी को अनिवार्य कर दिया गया है। आंध्र प्रदेश सरकार ने शैक्षणिक वर्ष 2021-22 से राज्य के सभी सरकारी, निजी सहायता प्राप्त और गैर-सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों में 'अंग्रेजी माध्यम' अनिवार्य करने का फैसला लिया है। यह जानकारी मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के कार्यालय ने दी है। छात्रों में रोजगार की संभावनाएं के लिए ऐसा किया गया है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here