Loading...    
   


GWALIOR NEWS: मौसा ने मासूम की हत्या की, मात्र कान की बाली, ओम के लॉकेट के लिए

ग्वालियर।
 मध्य प्रदेश के ग्वालियर में 11 साल के मासूम की हत्या का खुलासा पुलिस ने किया है। मासूम की हत्या उसके ही मौसा ने कान की बाली, गले में पड़े ओम के लॉकेट के लिए की थी। जिस बाली और पैंडल के लिए उसने मासूम को मारा वह सिर्फ 1850 रुपए बिके थे।

सभी को हैरत इस बात से है कि हत्या करने के बाद आरोपी मौसा बच्चे के पिता के साथ दिन रात उसे तलाशने का नाटक करता रहा। जब मासूम का शव मिला तो अंतिम संस्कार में भी मौसा सबसे आगे खड़ा था। वह नाटक कर आंसु बहाता रहा। हत्या करने वाले के नाम का खुलासा होते ही परिजन के पैरों तले जमीन खिसक गई है। पुलिस को मिले CCTV फुटेज से आरोपी की पहचान हुई। आम तोड़ने ले जाने की कहकर बच्चे को पहाड़ी पर ले गया और हत्या कर दी।

गिरवाई स्थित वीरपुर बांध निवासी कल्याण सिंह का बेटा 11 वर्षीय अमित बघेल 9 जून दोपहर 2 बजे घर से कुरकुरे लेने निकला था। इसके बाद वह वापस नहीं लौटा। देर शाम तक बच्चा वापस नहीं आया तो परिजन ने तलाश शुरू की, लेकिन उसका कहीं भी पता नहीं चला। इसके बाद उन्होंने मामले की सूचना गिरवाई थाना में दी। पुलिस ने मामले की गंभीरता को समझते हुए तत्काल नाबालिग होने पर अपहरण का मामला दर्ज किया। अभी पुलिस उसकी तलाश कर रही थी कि तभी अजयपुर की पहाड़ी पर गड्‌ढे में एक छात्र का शव मिला। सिर पर पत्थर मारकर हत्या की गई थी। शव की पहचान अमित रूप में हो गई थी। यहां से पुलिस ने छानबीन शुरू की।

वारदात के बाद पुलिस को एक स्थान पर CCTV कैमरे के धुंधले से फुटेज मिले। जिसमें एक युवक बालक को ले जाता दिखाई दिया। फुटेज में दिखने वाले की पहचान बालक के के घर से तीन मकान दूर रहने वाले उसके ही मौसा धर्मेन्द्र बघेल के रूप में हुई। अब पुलिस के लिए चुनौती और भी बढ़ गई थी। मृतक का मौसा दिन रात उनके परिवार के साथ ही उठ बैठ रहा था। उसे उठाने का मतलब हंगामा हो सकता था। सोमवार रात वह जब किसी काम से वह जा रहा था तो पुलिस ने उसे लिफ्ट कर लिया। इसके बाद थाना लाकर पूछताछ की तो उसने पहले पुलिस को हड़काया फिर पुलिस ने जब अपने अंदाज में टटोला तो सब उगल दिया।

6 महीने पहले अमित के पिता ने उसके एक कान में सोने की बाली और गले में सोने का ओम का लोकेट पहनाया था। यही उसकी मौत की वजह बनी। मौसा धर्मेन्द्र की तभी से उस पर नजर थी। उसने 9 जून की दोपहर आम तोड़ने के बहाने अमित को अपने साथ बुलाया। इसके बाद उसे अजयपुर की पहाड़ी पर ले गया। यहां गले से लोकेट खींचने के चक्कर में अमित का गला कसा और वह बेहोश हो गया। इसके बाद उसे वहीं पास के एक गड्‌ढे में डाल कर पत्थर पटककर मार डाला और दफना दिया। इसके बाद घर लौटा तो अमित के घर के बाहर भीड़ लगी थी। उनके साथ बच्चे को तलाश करने का पूरा नाटक किया।

पुलिस ने जब उससे सोने की बाली और लोकेट के बारे में पता किया तो आरोपी ने बताया कि एक सुनार को बेचा है। सिर्फ 1850 रुपए में बाली और लोकेट बिका था। इन 1850 रुपए के लिए उसने बच्चे की हत्या कर दी। पुलिस ने बाली और लोकेट बरामद कर लिया है।

15 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here