Loading...    
   


BHOPAL NEWS- कलेक्टर ने कहा: फर्जीवाड़ा नहीं, सुविधा के लिए रिकॉर्ड ऐसा बनाया

भोपाल
। मध्य प्रदेश के प्रतिष्ठित समाचार पत्र दैनिक भास्कर द्वारा प्रकाशित किए गए कोरोनावायरस की टेस्टिंग में फर्जीवाड़े के मामले में भोपाल कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया ने अपना पक्ष प्रस्तुत किया है। उनका कहना है कि यह फर्जीवाड़ा नहीं है बल्कि पहचान की सुविधा के लिए रिकॉर्ड को इस तरीके से संधारित किया गया था।

कलेक्टर अविनाश लवानिया ने बताया कि भोपाल में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए गहन सैम्पलिंग अभियान चलाया जाकर एवं लॉकडाउन के चरणबद्ध तरीके से खोले जाने पर यातायात (रेलवे स्टेशन,/बस स्टेण्ड) के माध्यमों में बाहर से आने व जाने वाले लोगो की सैम्पलिंग आवश्यक होती थी।

इस कारण जिला प्रशासन ने रेलवे स्टेशन पर आने एवं जाने वाले यात्रियों की सैम्पलिंग बढ़ाई एवं उस समय अधिक यात्रियों के आने जाने, एक परिवार के एक साथ यात्रा के लिए जाने, परिजनों के यात्रियों को छोड़े जाने, परिवार के एक ही व्यक्ति का ऑन रिकार्ड मोबाईल नम्बर दिया जाना स्वाभाविक रहा है।

15 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com

तीसरी लहर से बच्चों को बचाने व्यवस्था की जा रही है: मुख्यमंत्री

तीसरी लहर में बच्चों के अधिक प्रभावित होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। अत: बाल रोग विशेषज्ञों की उपलब्धता बढ़ाने, पैरा-मेडिकल स्टाफ को बच्चों के इलाज, टीकाकरण और अन्य प्रक्रियाओं के प्रशिक्षण की व्यवस्था की जा रही है। 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here