Loading...    
   


MP CORONA: एक्टिव केस 1 लाख के पार, दैत्यों की तरह बढ़ते जा रहे हैं आंकड़े - UPDATE NEWS

भोपाल
। मध्यप्रदेश में अब ऐसा कोई सामाजिक नागरिक नहीं जिसकी जान पहचान में, नाते रिश्तेदारों में कुछ लोगों की मृत्यु ना हुई हो। कुछ सामाजिक लोग तो इसलिए डिप्रेशन में आ रहे हैं क्योंकि उन्हें हर रोज किसी ना किसी परिचित के निधन का समाचार सुनना पड़ रहा है। सरकार ने काफी कोशिश की लेकिन आंकड़ों ने बढ़ना बंद नहीं किया। आज मध्य प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 102486 हो गई है। पिछले 24 घंटे में 11598 नागरिक पॉजिटिव पाए गए जबकि मात्र 4445 लोग अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट में 90 लोगों की मौत दर्ज की गई है।

मध्य प्रदेश में सबसे खतरनाक स्थिति वाले जिलों की संख्या 33 (2 जिले बढ़ गए) 

इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, रतलाम, उज्जैन, सागर, रीवा, खरगोन, बैतूल, धार, विदिशा, सतना, शिवपुरी, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, सीहोर, शहडोल, कटनी, बड़वानी, रायसेन, सिंगरौली, मुरैना, राजगढ़, अनूपपुर, मंदसौर, सीधी, नीमच, दमोह, टीकमगढ़, पन्ना, दतिया और उमरिया ऐसे जिले हैं जहां कोरोनावायरस से पीड़ित मरीजों की संख्या 1000 से अधिक चल रही है। इंदौर में 13000, भोपाल 12000, ग्वालियर 9000 और जबलपुर 4500 से अधिक के साथ सबसे खतरनाक स्थिति में है। 

मध्य प्रदेश के 6 जिले जहां स्थिति नियंत्रण में है

बुरहानपुर, भिंड, अलीराजपुर, खंडवा, देवास और छिंदवाड़ा मध्यप्रदेश के ऐसे जिले हैं जहां एक्टिव केस की संख्या 500 से कम है। निश्चित रूप से इन जिलों में कलेक्टर एवं तमाम कोरोना कंट्रोल टीम सफलतापूर्वक काम कर रही है। यह सभी अभिवादन के पात्र हैं।

MADHYA PRADESH COVID19 UPDATE NEWS 08 MAY 2021 

विशेष नोट:- अपने जिले के अस्पतालों में बेड्स की उपलब्धता या कोविड संबंधी अन्य जानकारी एक फोन पर प्राप्त कर सकते हैं। कोविड टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर - 1075 
मध्यप्रदेश के इंदौर और जबलपुर शहर में अब तक 1200 नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचे जा चुके हैं। यह सभी गुजरात की एक कंपनी में बनाए गए थे। अन्य माध्यमों से आए नकली इंजेक्शनों की संख्या अलग है। 
मध्य प्रदेश के सरकारी एवं प्राइवेट अस्पतालों में खाली बेड की स्थिति जानने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने एक व्हाट्सएप नंबर 9407299563 जारी किया है। लोगों को केवल इस पर hi लिखकर भेजना है। 
दमोह उपचुनाव के प्रशिक्षण और चुनाव ड्यूटी के दौरान 200 से ज्यादा शिक्षक संक्रमित हुए। इनमें से 14 की मौत हो चुकी है। 100 से ज्यादा शिक्षक अभी भी इलाज करवा रहे हैं। 20 की हालत गंभीर बनी हुई है। 
रतलाम में एक मदरसे को 30 बेड के कोविड केयर सेंटर में तब्दील किया गया है। इसे सहयोग कोविड केयर सेंटर नाम दिया गया है। 
कोरोना के आंकड़ों का एनालिसिस कर रहे प्रद्मश्री प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने दावा किया है कि जुलाई तक कोरोना की दूसरी लहर खत्म हो जाएगी। पहले कहा था 7 मई से आंकड़ों में गिरावट आएगी। 
अनूपपुर में एक महिला तड़प-तड़पकर मर गई और डॉक्टर अपनी कुर्सी पर बैठे रहे। इस घटना के फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। 

MADHYA PRADESH CORONA BULLETIN 08 MAY 2021 DISTRICT WISE STATUS LIST





08 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here