Loading...    
   


सरकारी अस्पताल पर मंत्री के प्रतिनिधि का कब्जा, जिसे चाहता उसे ही बेड मिलता था - MP CORONA NEWS

उज्जैन
। उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव पर गंभीर आरोप लगा है। डॉक्टर संजीव कुमरावत की एक चैट वायरल हो गई है। जिसमें बताया गया है कि मंत्री मोहन यादव के प्रतिनिधि अभय विश्वकर्मा ने अस्पताल पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया है। वह जिसे चाहता है उसे ही बेड उपलब्ध होता है। आईसीयू में उसके लोग लेटे रहते हैं और गंभीर रूप से बीमार मरीज बाहर पड़े रहते हैं। मंत्री मोहन यादव की भूमिका इसलिए संदिग्ध हो जाती है क्योंकि डॉक्टर संजीव ने अभय विश्वकर्मा से तंग आकर ट्रांसफर मांगा तो तत्काल उनका ट्रांसफर कर दिया गया। जबकि अभय विश्वकर्मा के खिलाफ FIR दर्ज होनी चाहिए थी।

मंत्री की मर्जी के बिना उनका प्रतिनिधि इतना सब नहीं कर सकता

पूरा मामला प्रभारी डॉक्टर के एक सोशल मीडिया चैट से उजागर हो गया। मंत्री प्रतिनिधि का कहना है, मुझ पर गलत आरोप लगाए जा रहे है तो वहीं कांग्रेस का कहना है कि प्रतिनिधि ही नहीं बल्कि मंत्री को इस मामले में तत्काल इस्तीफा देना चाहिए। प्रभारी रहे डॉ संजीव कुमरावत ने कहा कि अभय विश्वकर्मा ने अस्पताल को हाईजेक कर लिया है। अभय विश्वकर्मा गैरकानूनी तरीके से अस्पताल के बेड पर कब्जा करता है। इन बातों से तंग आकर डॉ कुमरावत ने माधवनगर अस्पताल का जिम्मा संभाले नगर निगम कमिश्नर क्षितिज सिंघल से अपना ट्रांसफर नागदा करने की गुहार चैट पर कर दी। यही चैट अब वायरल हो गई है।

अभय विश्वकर्मा का दखल बंद कर दिया था: डॉ कुमरावत

डॉ कुमरावत ने कहा कि मैं 25 दिन प्रभारी रहा तो टोकन सिस्टम बनाया। यह अभय विश्वकर्मा को ये पसंद नहीं आया। क्योंकि इसके कारण उसका काम बंद हो गया था। इस बीच अधिकारियों को इस बात से अवगत करा दिया था। इसके बाद अधिकारियों ने कुछ समय के लिए माधव नगर अस्पताल में अभय विश्वकर्मा को प्रतिबंधित कर दिया था। लगातार अनियमितता की शिकायत मेरे पास आई और इसके सबूत भी मेरे पास है। 

मंत्री के प्रतिनिधि ने ICU के डीलक्स रूम पर कब्जा कर रखा था

माधवनगर अस्पताल में ICU के डीलक्स रूम भी है। अभय विश्वकर्मा द्वारा लाए गए मरीज जिनकी ऑक्सीजन 94 या 95 होती थी वे ICU में रहते थे। वहीं कम ऑक्सीजन वालों को पलंग के लिए जद्दोजहद करनी पड़ती थी। अस्पताल का कुछ स्टाफ भी उसके साथ मिला हुआ है। इसी वजह से उसको यह पता चल जाता था की कहां-कौन सा बेड खाली हुआ है।

07 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here