Loading...    
   


जब चयनित शिक्षक मौजूद हैं तो अतिथि शिक्षकों की सेवाएं क्यों बढ़ाईं - Khula Khat to MPDPI

जैसा कि आपको ज्ञात है कि मध्यप्रदेश शिक्षक भर्ती वर्ग 1 और 2 की भर्ती 2018 से चली आ रही है, जिसमे डीपीआई और जनजातीय विभाग दोनों ने मिल कर संयुक्त परीक्षा व्यापम द्वारा आयोजित की थी। डीपीआई और जनजातीय विभाग वर्ग 1 ओर 2 का पदों का रोस्टर जारी करके मेरिट लिस्ट जारी कर दी थी और सत्यापन शुरू कर दिया था। पर अचानक फिर से 20 मई तक सत्यापन पर रोक लगा दी गई।

इसी बीच आगामी सत्र तथा परीक्षाओं की वजह से अतिथि शिक्षकों की सेवाएं भी बढ़ा दी गई हैं। चयनित शिक्षकों में रोष व्याप्त है कि जब चयनित शिक्षक मौजूद हैं और उनका सत्यापन रोककर अतिथियों की सेवा सरकार बढ़ा रही है। पहले समस्त 30000 पदों का सत्यापन कराकर नियुक्ति प्रदान की जाए इसके बाद यदि पद शेष रहते हैं तो अतिथि शिक्षक रखे जाए, क्योंकि मध्यप्रदेश में 2011 के बाद से अभी तक कोई भी शिक्षक भर्ती नहीं हो पाई है। 

शिक्षक भर्ती 2018 जो 2021 में भी अधूरी है, इससे युवा आर्थिक मानसिक तनाव झेल रहा है, क्योंकि चयन हो जाने के पश्चात युवा इसी आस में इंतजार कर रहे हैं कि सरकार बेरोजगारी में राहत देकर सत्यापन कार्य पूरा करके जुलाई माह तक पूरे 30 हजार पदों पर नियुक्ति प्रदान कर देगी। 
निवेदक, नवीन श्रीवास्तव, चयनित शिक्षक, मध्यप्रदेश

07 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here