Loading...    
   


खबर का असर: शमशान से शिक्षकों की ड्यूटी निरस्त

भोपाल
। भोपाल समाचार डॉट कॉम में प्रकाशित हुई समग्र शिक्षक संघ की चेतावनी का तुरंत असर दिखाई दिया है। मात्र कुछ ही घंटों में SDM को वह आदेश निरस्त करना पड़ा जिसके तहत उन्होंने शिक्षकों की ड्यूटी श्मशान घाट में लगा दी थी। निरस्तीकरण का आदेश क्रमांक 3793 जारी हो गया है एवं उसकी ऑफिशियल कॉपी सीईओ जनपद पंचायत, सीएमओ नगर पंचायत एवं ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर तक पहुंच गई है। (यह है वो खबर जिसका हुआ असर: SDM ने शिक्षकों की ड्यूटी शमशान और अस्थि विसर्जन में लगाई )

क्या किया था SDM ने 

आदेश क्रमांक 3724 के माध्यम से अनुविभागीय दंडाधिकारी मनावर जिला धार ने श्मशान घाट खलघाट पर शिक्षकों की ड्यूटी के आदेश जारी कर दिए थे। ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर को नोडल बनाए गया था। आदेश में लिखा गया था कि नियुक्त किए गए शिक्षक इस बात को सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार होंगे कि शहर के सभी शवों का खलघाट श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया जाए एवं अस्थि विसर्जन किया जाए लेकिन ग्रामीण क्षेत्र के शवों का दाह संस्कार नहीं होना चाहिए। 

समग्र शिक्षक संघ ने क्या कदम उठाया 

समग्र शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश चंद दुबे ने जिला धार मध्यप्रदेश के कलेक्टर को पत्र लिखते हुए स्पष्ट कर दिया था कि आदेश निरस्त किया जाए एवं आदेश जारी करने वाले एसडीएम के खिलाफ कारवाई की जाए। यदि आदेश निरस्त नहीं किया जाता तो समग्र शिक्षक संघ तीव्र विरोध प्रकट करेगा जिसके लिए धार जिला प्रशासन जिम्मेदार होगा। इसके अलावा शिक्षक संघ ने कहा था कि इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में जाएंगे एवं आदेश जारी करने वाले एसडीएम को पार्टी बनाएंगे।

03 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here