Loading...    
   


मोबाइल चार्जर का रंग सफेद या काला ही क्यों होता है - GK IN HINDI

मोबाइल फोन तो सभी यूज करते हैं। जबसे स्मार्टफोन आए हैं तब से मोबाइल फोन में कई तरह के कलर और डिजाइन मिलने लगे हैं। लोग अपनी उम्र और पसंद के हिसाब से मोबाइल फोन का कलर और डिजाइन सिलेक्ट कर सकते हैं। लेकिन यदि उसके चार्जर की बात करेंगे तो आपके पास सिर्फ दो ऑप्शन होते हैं। ब्लैक एंड वाइट। 

मोबाइल चार्जर कैसे काम करता है

चार्जर एक ऐसा device होता है जो की Electricity के माध्यम से battery के charge को restore करता है। Battery chargers external devices होते हैं जिसे user अपने घर के AC mains point में connect करते हैं, इसमें एक adapter लगा हुआ होता है जो की AC current को dc में convert करता है। इस DC current से ही Battery को charge किया जाता है।

मोबाइल चार्जर का कलर ब्लैक एंड व्हाइट ही क्यों होता है 

अब अपन आते हैं अपने मूल सवाल पर। मोबाइल चार्जर का कलर या तो ब्लैक होता है या फिर वाइट। एक और खास बात आपने देखी होगी कि जब चार्जर का कलर ब्लैक होता है तो उसके अंदर एक एलईडी भी लगी होती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि:- 
मोबाइल फोन लोगों के लिए स्टेटस सिंबल होता है लेकिन मोबाइल चार्जर नहीं। 
ब्लैक कलर का मटेरियल सबसे सस्ता मिलता है, इसलिए। 
व्हाइट कलर का नाइट विजन सबसे अच्छा होता है, आप रात के अंधेरे में आसानी से ढूंढ सकते हैं कि आपका फोन चार्जर कहां रखा है। 
मोबाइल फोन की बैटरी के चार्जर को काफी कलरफुल डिजाइन के साथ बनाया जा सकता है लेकिन ₹100000 का आईफोन खरीदने वाला व्यक्ति उसकी बैटरी चार्ज करने के लिए ₹5000 का चार्जर खरीदना पसंद नहीं करता।  Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article 

सामान्य ज्ञानः कुछ मजेदार जानकारियां

(general knowledge questions answers, gk questions in hindi, general knowledge quiz, gk questions for kids, samanya gyan, general knowledge in hindi,)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here