Loading...    
   


MP COLLEGE PRIVATE परीक्षा मामले में उच्च शिक्षा विभाग का फैसला और विवाद / BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्य प्रदेश में स्नातक के प्रथम और द्वितीय वर्ष के प्राइवेट विद्यार्थियों को परीक्षा देनी होगी। यह निर्णय उच्च शिक्षा विभाग ने लिया है। इस आधार पर सभी विश्वविद्यालयों ने संबद्घ कॉलेजों के प्राचार्यों को निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके तहत विद्यार्थियों के प्रश्न पत्र तैयार करने की जिम्मेदारी कॉलेज के प्राचार्यों को दी गई है। साथ ही विद्यार्थी परीक्षा अनिवार्य तौर पर दें, इसकी जिम्मेदारी भी संबंधित कॉलेज के प्राचार्य की होगी। हालांकि विभाग के इस निर्णय को लेकर विरोध भी शुरू हो गया है। प्रोफेसरों का कहना है कि जब फीस विश्वविद्यालय वसूल कर रहा है तो परीक्षा कराने की जिम्मेदारी कॉलेज को क्यों दी जा रही है।

वहीं स्नातक के प्रथम और द्वितीय वर्ष के नियमित विद्यार्थियों को परीक्षा नहीं देनी होगी। इसकी वजह है नियमित विद्यार्थियों के नतीजे सतत एवं व्यापक मूल्यांकन (सीसीई) के आधार पर जारी कर दिए जाएंगे, जबकि प्राइवेट विद्यार्थियों का सीसीई नहीं होता है। इस वजह से उन्हें परीक्षा देनी होगी। प्रदेश में स्नातक प्रथम और द्वितीय वर्ष की प्राइवेट परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों की संख्या करीब चार लाख होगी। 

कोरोना के चलते विद्यार्थियों की परीक्षा नहीं कराने का निर्णय लिया गया है। नियमित विद्यार्थियों के नतीजे पिछली कक्षा के अंक समेत इस साल के सीसीई के आधार पर तैयार किए जाएंगे, लेकिन प्राइवेट विद्यार्थियों के लिए सीसीई की व्यवस्था नहीं होने के कारण उन्हें परीक्षा देनी होगी।

बरकतउल्ला विश्वविद्यालय में स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के करीब पचास हजार छात्र होंगे। बीयू ने प्रति छात्र से परीक्षा फॉर्म भराने के एवज में 14 सौ रुपए जमा कराए हैं। इस लिहाज से बीयू के पास करीब 7 करोड़ रुपए परीक्षा फॉर्म की राशि के तौर पर जमा हुए हैं। अब परीक्षा कराने की जिम्मेदारी कॉलेजों के पास जाने से यह पूरी रकम बीयू के पास बच जाएगी।

जब परीक्षा फॉर्म विश्वविद्यालय जमा करा रहा है, उसकी फीस भी वही वसूल रहा है तो परीक्षा कराने की जिम्मेदारी भी विश्वविद्यालय की होनी चाहिए न की कॉलेजों की। सरकार का यह निर्णय गलत है।
डॉ कैलाश त्यागी, अध्यक्ष प्रदेश प्राध्यापक संघ

03 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्यप्रदेश में 10+2 स्कूल खुलेंगे, प्राइमरी और मिडिल बंद रहेंगे, आदेश जारी
IGNOU EXAM: फाइनल ईयर/ सेमेस्टर के लिए नोटिफिकेशन
कमलनाथ का कबीला ग्वालियर में ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी बड़ा धमाका करने की तैयारी में
ज्योतिरादित्य सिंधिया मुश्किल में: हाईकोर्ट ने निर्वाचन रद्द करने का नोटिस भेजा
गर्मी के पसीने और और व्यायाम के पसीने में क्या अंतर है
चीटियां क्या सचमुच अनुशासन में चलतीं है या फिर एक दूसरे के पीछे चलना उनकी मजबूरी है
रोऊंगा नहीं; कहीं से भी लाना पड़े, पैसा ले आऊंगा: सीएम शिवराज सिंह
BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
खनिज अधिकारी की वाइफ के बंगले में मिनी बार, बाथरूम में AC
जौहरी होटल भोपाल में नाबालिग लड़के-लड़कियों की हुक्का पार्टी
मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान जारी, वीकेंड की प्लानिंग कर लें
INDORE में वेब सीरीज के नाम पर लड़कियों से न्यूड वीडियो मंगवाए जाते थे
भारतीय ट्रेनों में एसी कोच बीच में क्यों होता है
MP BY-ELECTION: ग्वालियर-चंबल में दिग्विजय सिंह की सक्रियता
कोरोना के कारण 8वीें तक का पाठ्यक्रम संक्षिप्त किया
भोपाल में डॉक्टर ब्लैकमेलिंग के मामले में चैनल के ऑफिस पहुंची क्राइम ब्रांच
इंदौर में BF संग लिव इन में रह रही लड़की ने सुसाइड किया
यदि रेल की पटरी में करंट का तार लगा दें तो क्या होगा
IAS जोशी दंपति की 100 से ज्यादा संपत्तियां कुर्क करने का आदेश जारी


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here