Loading...    
   


कांग्रेस के प्रबंध में भ्रष्टाचार घुस आया है, कठोरता से दूर करना होगा: नेताजी का ऐतिहासिक JABALPUR भाषण याद आया

जबलपुर। कांग्रेस पार्टी में शुरू हुई अंतर कलह ने एक बार फिर आज से 81 साल पहले की यादें ताजा कर दी। 3 मई 1939 को कार्यकर्ताओं ने गांधी मुक्त कांग्रेस को वोट किया था। महात्मा गांधी की मर्जी और अपील के खिलाफ वोट करते हुए कांग्रेस पार्टी कार्यकर्ताओं ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस को राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना था। उस समय नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने जो भाषण दिया था, उसका एक-एक शब्द आज भी पूरी तरह प्रासंगिक है।

कॉन्ग्रेस के 52वे त्रिपुरी अधिवेशन में सुभाष चंद्र बोस ने क्या कहा था

“सर्वप्रथम सत्ता के लोभ के कारण हमारे प्रबंध में जो भ्रष्टाचार घुस आया है, उसे कठोरता से दूर करना होगा। बंधुओं! कॉन्ग्रेस का वर्तमान वातावरण धूमिल हो चुका है और मतभेद उभर आए हैं। फलस्वरूप हमारे अनेक मित्र खिन्न-चित्त और हतोत्साहित हैं। किन्तु मैं अपरिवर्तनीय आशावादी हूँ। आप जिस मेघ को देख चुके हैं, वह गुजरता मेघ है। मुझे अपने देशवासियों के देशप्रेम पर विश्वास है। हमें भरोसा है शीघ्र ही हम इन कठिनाइयों पर विजय पाएँगे। हमारे कार्यकताओं में एकता कायम हो जाएगी।” 

सुभाष चंद्र बोस का भाषण 81 साल बाद क्यों याद आया 

जबलपुर के जहन में इतिहास तो हमेशा ताजा बना रहता है परंतु इन दिनों कांग्रेस पार्टी में जो कुछ चल रहा है उसके कारण 52 वा अधिवेशन, नेताजी सुभाष चंद्र बोस का भाषण और उसके बाद हुई राजनीति सब कुछ जमीनी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वापस याद आ रहा है। जो कार्यकर्ता सिर्फ कांग्रेसी है, वह काफी दुखी है। जबलपुर में 81 साल बाद फिर एक बार चर्चा है कि खास नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने महात्मा गांधी के भावनात्मक बयान से प्रभावित होकर इस्तीफा ना दिया होता।

24 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

इंदौर की लड़की से लंदन वाले BF ने गिफ्ट के नाम पर 4 लाख रूपये ठग लिए
जबलपुर में अस्पताल से कूदकर आत्महत्या कर रहे कोविड-19 मरीज को बचाया
रसोई गैस सिलेंडर में आग लग जाए तो क्या करें, यहां पढ़िए, हमेशा ध्यान रखिए
ग्वालियर कलेक्टर/एसपी के खिलाफ FIR कराएगी कांग्रेस पार्टी
रिटायर्ड कर्मचारी को पेंशन में देरी पर ब्याज प्राप्त करने का अधिकार है या नहीं, यहां पढ़िए
सोयाबीन में पीला मोजेक पर नियंत्रण के लिए क्या करें
इंदौर में BF संग लिव इन में रह रही लड़की ने सुसाइड किया
ग्वालियर के वीर जयभान सिंह पवैया अब महाराजा ज्योतिरादित्य सिंधिया की शरण में
क्या आपको सुरक्षा के लिए दूसरे पर हमला करने का हक है, पढिए कानून क्या कहता है
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर में कहा: हां मैं गद्दार हूं
विधायक ने लापरवाह SDO को ओवरफ्लो पुल पार करवा कर बताया, ग्रामीण कितने जोखिम में हैं
क्या हम अपने मकान को स्मार्ट होम बना सकते हैं, पढ़िए क्या चेंज कर सकते हैं
चेक बाउंस होने पर क्या कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं, क्या थाने में FIR लिखवा सकते हैं
मध्यप्रदेश में 53000 कोरोना पीड़ित, आधे से ज्यादा सिर्फ 4 जिलों में
इंदौर में लड़कियों के बोल्ड वीडियो इंटरनेट पर अपलोड करने वाला मास्टरमाइंड गिरफ्तार
उज्जैन के होटल नटराज में छात्रा की हत्या, BF के साथ आई थी
स्टेनलेस स्टील में ऐसा क्या होता है जो जंग नहीं लगती, जबकि स्टील में जंग लगती है
CWC में सोनिया गांधी का इस्तीफा, नए मनमोहन की तलाश शुरू
मध्यप्रदेश में बंगाल की खाड़ी से नए बादल आ रहे हैं, मंगल को पहुंचेंगे बुधवार से बरसेंगे
अंजली ने तारक मेहता को छोड़ा, रोशन सिंह सोढ़ी भी गोकुलधाम छोड़ कर चले गए
ज्योतिरादित्य सिंधिया का तिरंगा दुपट्टा क्या कांग्रेस की कलह में राहुल गांधी को सपोर्ट कर रहा था


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here