Loading...    
   


कॉलेज स्टूडेंट्स को जनरल प्रमोशन बना गले की फांस, घोषणा के 15 दिन बाद भी गाइडलाइन नहीं / MP EDUCATION NEWS

इंदौर। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश के कॉलेज स्टूडेंट्स को जनरल प्रमोशन की घोषणा तो कर दी परंतु शिवराज सिंह की घोषणा उच्च शिक्षा विभाग के गले की फांस बन गई है। क्योंकि संविधान में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है इसलिए घोषणा के 15 दिन बाद भी जनरल प्रमोशन की गाइडलाइन जारी नहीं की गई। समस्या यह है कि जब तक यह मसला नहीं सुलझ जाता तब तक एडमिशन की प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाएगी।

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने गाइडलाइन के बारे में जानकारी निकाली तो पता चला कि अभी सप्ताहभर और लग सकता है। बीस दिन बाद उच्च शिक्षा विभाग कोर्स में दाखिले की प्रक्रिया शुरू करेगा।उल्लेखनीय है कि जून के दूसरे सप्ताह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने परीक्षाओं के मुद्दे पर बैठक बुलाई थी। जहां कोरोना की स्थिति को देखते हुए जनरल प्रमोशन को मंजूरी दी, लेकिन अभी तक विभाग से परिणाम के आकलन को लेकर नियम नहीं आए हैं।

इस कारण प्रदेशभर के विश्वविद्यालयों में अंतिम वर्ष का परिणाम जारी करने में समय लगेगा। अधिकारियों के अनुसार प्रत्येक विश्वविद्यालय को यूजी-पीजी कोर्स के दो से तीन लाख विद्यार्थियों के परिणाम की प्रक्रिया पूरी करनी है।

अकेले देवी अहिल्या विश्वविद्यालय को नियम आने के बाद तीन दर्जन से ज्यादा यूजी-पीजी पाठ्यक्रम के परिणाम बनाने होंगे। उसके बाद ही प्रवेश की प्रक्रिया शुरू हो सकेगी। बताया जाता है कि अक्टूबर से पहले नया सत्र शुरू करने की योजना है। इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन जल्द नियम आने का इंतजार कर रहे हैं। प्रभारी कुलसचिव अनिल शर्मा का कहना है कि गाइडलाइन आने के बाद परिणाम बनाया जाएगा। इसके लिए कॉलेजों की मदद लेंगे।

अतिरिक्त संचालक डॉ. सुरेश सिलावट का कहना है कि गाइडलाइन के तुरंत बाद काउंसलिंग को लेकर शेड्यूल आएगा। इसके बाद दाखिले की प्रक्रिया शुरू हो सकेगी।

06 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

जनता बताइए, मेरी और शिवराज की जोड़ी चाहिए या दिग्विजय और कमलनाथ की: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूछा
ग्वालियर में 'महाराज' के महल के सामने कमलनाथ कैंप लगाएंगे, उपचुनाव तक वहीं रहेंगे 
रीवा को मंत्री पद नहीं मिला तो क्या एशिया की सबसे बड़ी सौर ऊर्जा परियोजना मिल गई 
एसिड अटैक की कोशिश भी गंभीर अपराध है, पढ़िए और सबको बताइए 
सावन के महीने में 300 साल बाद चमत्कारी दुर्लभ संयोग 
मुख्यमंत्री की कुर्सी में एक पाया थोड़ा बड़ा लगा दिया है 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here