Loading...    
   


SBI के कैशियर ने गर्लफ्रेंड के लिए 15 किलो गोल्ड चुराया, पढ़िए चौंकाने वाला घोटाला / MP NEWS

भोपाल। भारत के ज्यादातर लोग भारतीय स्टेट बैंक पर भरोसा करते हैं। वह भरोसा करते हैं कि एसबीआई में उनका पैसा और लॉकर में उनका सोना सुरक्षित है लेकिन चौंकाने वाली बात यह है कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का मैनेजमेंट अपने कर्मचारियों पर नजर नहीं रखता। मध्य प्रदेश के जिला श्योपुर में एसबीआई के कैशियर ने अपनी गर्लफ्रेंड को खुश करने के लिए ना केवल बैंक से 15 किलो गोल्ड चुराया बल्कि अपने दोस्त की मदद से बैंक में वापस गिरवी रखकर गोल्ड का नकदीकरण भी कर लिया। 

ध्यान से पढ़िए पूरी कहानी: मैनेजमेंट की चूक के कारण हुआ घोटाला 

पुलिस अधीक्षक श्योपुर संपत उपाध्याय के मुताबिक 10 जून को ब्रांच मैनेजर की तरफ से मामला दर्ज कराया गया था। बताया गया था कि लॉकर में 101 पैकेट में रखा हुआ 15 किलो गोल्ड गायब है। एसपी संपत उपाध्याय ने बताया कि पहली नजर में यह मामला चोरी का नजर आ रहा था और पुलिस भी इसी दिशा में काम कर रही थी परंतु पुलिस की एक टीम बैंक कर्मचारियों की स्कैनिंग करने में लगी हुई थी। पुलिस टीम की सूझबूझ के कारण इस मामले का खुलासा हो सका जबकि प्लानिंग फुलप्रूफ थी। आरोपी इतना कॉन्फिडेंट था कि पुलिस जांच के समय हमेशा उपस्थित रहता था लेकिन फिर संदेह के दायरे में आ गया और पूछताछ के लिए राउंडअप किया गया।

बैंक के लॉकर से गोल्ड चुराकर उसी बैंक में गिरवी रख देता था

पूछताछ में राजीव पालीवाल ने बताया कि वह बैंक के लॉकर से गोल्ड चुराकर अपने दोनों दोस्तों ज्योति गर्ग और नवीन गुप्ता को देता था। फिर उसके दोस्त उसी गोल्ड को उसी बैंक में देकर लोन लेते थे। इस तरह चुराए गए गोल्ड का नकदीकरण हो जाता था। क्योंकि बैंक से चुराया गया गोल्ड बाजार में बेचना काफी मुश्किल है और फिर छोटे से जिले में इतना सारा गोल्ड भेजना निश्चित रूप से जेल के दरवाजे खोल सकता था अतः बैंक के कैशियर ने गोल्ड को कैश में बदलने के लिए या प्लान बनाया। पुलिस के मुताबिक उसके दोस्त 26 से ज्यादा बार बैंक में गोल्ड गिरवी रखकर बैंक को करोड़ों की चपत लगा चुके हैं। फिलहाल पुलिस तीनों आरोपियों से बाकी सोने के बारे में पूछताछ कर रही है।

20 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

दवा के पैकेट में 2 टेबलेट के बीच ज्यादा गैप क्यों होता है, सिर्फ 1 टैबलेट के लिए 10 टेबलेट जितना बड़ा पैकेट क्यों देते हैं
कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर: NPS छोड़कर OPS का लाभ पाने का विकल्प खुला
RGPV: डिप्लोमा फॉर्मेसी व इंजीनियरिंग सहित सभी प्रायोगिक परीक्षाएं स्थगित
ग्वालियर में किराना व्यवसायी लापता, सागरताल पर लावारिस कार मिली
RAISEN से BF संग भागी नाबालिग को इंदौर पुलिस ने पकड़ा तो एसिड पी लिया
वैज्ञानिक कैसे पता लगाते हैं कि आज कितनी वर्षा हुई, आइए जानते हैं
मध्यप्रदेश में कांग्रेस के 92 विधायक हैं लेकिन वोट 93 मिले, ऐसा कैसे
SBI में FD-RD की बजाए SBI ETF में निवेश कीजिए, दुगना ब्याज (9%) मिलेगा
कर्मचारी द्वारा दोषी की संपत्ति कुर्क होने से बचाना IPC के तहत दंडनीय अपराध है
पैसेंजर ट्रेन कब से चलेंगी, तारीख घोषित, तैयारियां शुरू
मप्र शासकीय कर्मचारियों को समयमान वेतनमान के नए नियम लागू
कील पानी में डूब जाती है लेकिन लोहे का जहाज तैरता रहता है, ऐसा क्यों
BREAKING / DIG के डाइट प्लान से मात्र 4 दिन में CORONA पॉजिटिव से नेगेटिव, 45 दिन में एक भी पुलिसकर्मी पॉजिटिव नहीं
मध्यप्रदेश में स्कूलों की ऑनलाइन क्लास पर प्रतिबंध, आदेश जारी
MP CORONA: फुल स्पीड पर भोपाल-इंदौर, 55-55 पॉजिटिव, 4-4 मौतें
CM सहित MP के सभी 205 विधायकों पर कोरोना का खतरा
MP BOARD 10th HIGH-SCHOOL RESULT की तारीख तय


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here