Loading...    
   


मध्यप्रदेश में कांग्रेस के 92 विधायक हैं लेकिन वोट 93 मिले, ऐसा कैसे / MP NEWS

भोपाल। राज्यसभा चुनाव तो खत्म हो गया नतीजे भी आ गए लेकिन राज्यसभा चुनाव की राजनीति लगातार जारी है। अब नतीजों का विश्लेषण किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी खुश है और भाजपा पर हमलावर है क्योंकि मध्यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी के विधायकों की संख्या 92 है लेकिन राज्यसभा में कांग्रेस पार्टी को 93 वोट (दिग्विजय सिंह 57 फूल सिंह बरैया 36) मिले। सवाल यह है कि एक एक्स्ट्रा वोट किसका है। 

क्रॉस वोटिंग के डर ने दिग्विजय सिंह को टॉप पर पहुंचाया 

मध्यप्रदेश में रिक्त हुई राज्यसभा की 3 सीटों पर चुनाव होने थे। कांग्रेस पार्टी की ओर से दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया उम्मीदवार थे जबकि भारतीय जनता पार्टी की ओर से ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी प्रत्याशी बनाए गए थे। दिग्विजय सिंह को जीतने के लिए 52 वोटों की जरूरत थी परंतु कमलनाथ ने क्रॉस वोटिंग के डर से दिग्विजय सिंह के लिए 54 वोट आरक्षित किए। जब चुनाव के नतीजे आए तो उन्हें 57 वोट मिले। सवाल यह है कि यह जो अतिरिक्त 3 वोट मिले वह दिग्विजय सिंह की लोकप्रियता है या फिर कमलनाथ के इंतजाम बाद भी क्रॉस वोटिंग के डर से की गई तीसरी व्यवस्था। 

संध्या समर्थक खुश है क्योंकि 'महाराज' मंत्री बनेंगे

लंबे समय के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया के खेमे में खुशी का माहौल देखा जा रहा है। लोकसभा चुनाव हारने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया भले ही किंग मेकर की स्थिति में हो परंतु महाराज की भूमिका में नहीं थे। उनके पास कोई पद नहीं था। राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया केवल सांसद बन गए हैं बल्कि भारतीय जनता पार्टी के साथ हुए समझौते के अनुसार केंद्रीय मंत्री भी बनेंगे।

19 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

वैज्ञानिक कैसे पता लगाते हैं कि आज कितनी वर्षा हुई, आइए जानते हैं
दवा के पैकेट में 2 टेबलेट के बीच ज्यादा गैप क्यों होता है, सिर्फ 1 टैबलेट के लिए 10 टेबलेट जितना बड़ा पैकेट क्यों देते हैं
RGPV: डिप्लोमा फॉर्मेसी व इंजीनियरिंग सहित सभी प्रायोगिक परीक्षाएं स्थगित
मध्यप्रदेश में स्कूलों की ऑनलाइन क्लास पर प्रतिबंध, आदेश जारी
क्या सीमेंट की सड़कें टायर खराब करतीं हैं, डामर रोड टायर के लिए अच्छी है
RAISEN से BF संग भागी नाबालिग को इंदौर पुलिस ने पकड़ा तो एसिड पी लिया
बीजेपी के कुछ विधायक पाला बदल सकते हैं, उपचुनाव के अलावा कमलनाथ का प्लान-बी
MP CORONA: टोटल 182 में से इंदौर 57, भोपाल 50, चार में से 3 मौतें इंदौर में
दादा-दादी को नींद की दवाई खिलाकर बॉयफ्रेंड के साथ बेडरूम शेयर करती थी
कर्मचारी द्वारा दोषी की संपत्ति कुर्क होने से बचाना IPC के तहत दंडनीय अपराध है
MADHYA PRADESH के 5 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, 3 संभागों में भी जोरदार बरसात होगी
भोपाल की कोरोना पॉजिटिव महिला के संपर्क में आये सभी 41 लोग निगेटिव, कमजोर पड़ा कोरोना
गांधी की हत्या में 'सिंधिया' भी भागीदार, आजादी के 73 साल बाद कांग्रेस ने कहा
डाकू या लुटेरे के आश्रयदाता को एक विशेष धारा के तहत सजा दी जाती है, पढ़िए
GWALIOR में बिजली बिल विवाद निराकरण के लिए विशेष शिविर
कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर: NPS छोड़कर OPS का लाभ पाने का विकल्प खुला
शासकीय सेवा में प्रमोशन, कर्मचारी का कानूनी अधिकार है अथवा नही ?
मप्र शासकीय कर्मचारियों को समयमान वेतनमान के नए नियम लागू


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here