Loading...    
   


गांधी परिवार के सबसे खास अहमद पटेल से मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ / NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी पर अघोषित रूप से मालिकाना हक रखने वाले गांधी परिवार के सबसे खास कांग्रेस नेता एवं सांसद अहमद पटेल से ED (Enforcement Directorate , New Delhi) की टीम ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पूछताछ की है। राजनीति में इस मामले के कई मायने निकाले जाते हैं। अहमद पटेल से पूछताछ का अर्थ सोनिया गांधी से पूछताछ माना जा रहा है।

अहमद पटेल से पूछताछ यानी सोनिया गांधी की पड़ताल 

कांग्रेस पार्टी में अहमद पटेल की अपनी कोई निजी पहचान नहीं है। वह पार्टी में अपने निर्धारित पद से ज्यादा सोनिया गांधी और गांधी परिवार के मामले देखते हैं। पार्टी में अहमद पटेल किसी महत्वपूर्ण पद पर नहीं है और ना ही कांग्रेस के मांस लीडर हैं जिनका चेहरा देखकर वोट मिलते हो परंतु फिर भी पावरफुल इतने हैं कि कांग्रेस के किसी भी दिक्कत नेता को फ़ोन कर गहरी नींद से उठा कर कोई भी काम सौंप देते हैं। उनका एक मोबाइल फ़ोन हमेशा खाली रखा जाता है जिस पर सिर्फ़ 10 जनपथ से ही फ़ोन आते हैं।

अहमद पटेल के बेटे से भी पूछताछ हो चुकी है

प्रवर्तन निदेशालय, नई दिल्ली की टीम शनिवार को कांग्रेस के सीनियर लीडर अहमद पटेल के घर जा पहुंची। आधिकारिक रूप से बताया गया है कि संदेसरा बंधुओं (स्टर्लिंग बायोटेक फार्मा) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ की गई है। 2017 में गुजरात की स्टर्लिंग बायोटेक फार्मा कंपनी पर करोड़ों रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप लगा था। इस कंपनी के प्रमोटर चेतन और नितिन संदेसरा हैं। अगस्त 2019 में अहमद पटेल के बेटे फैसल से भी इस बारे में पूछताछ की जा चुकी है।

दो बार बुलाने पर भी नहीं आए तो ED की टीम अहमद पटेल के घर जा पहुंची

अहमद पटेल गुजरात से राज्यसभा सांसद भी हैं। जांच एजेंसी ने उन्हें दो बार इसी मामले में पूछताछ के लिए तलब किया था। तब पटेल ने जांच एजेंसी से कहा था कि वो सीनियर सिटीजन हैं और कोविड-19 के लिए केंद्र सरकार ने घर में रहने की गाइडलाइंस जारी की हैं। लिहाजा, वो पूछताछ में शामिल नहीं हो सकते। जांच एजेंसी ने इससे सहमति जताई थी। इसके बाद शनिवार को अफसरों ने पटेल के घर जाकर उनसे पूछताछ की।  

तीन साल पहले सामने आया था मामला

आरोप है कि स्टर्लिंग बायोटेक के नाम पर आंध्रा बैंक से पांच हजार करोड़ का कर्ज लिया गया था। कई नोटिस के बावजूद कंपनी प्रमोटर्स ने रकम वापस नहीं की। बैंक ने इसकी शिकायत सीबीआई से कर दी। बाद में जांच ईडी को सौंप दी गई। उसने दिल्ली और गाजियाबाद में सात स्थानों पर छापेमारी की थी। जिन लोगों के यहां छापेमारी की गई थी, वो पटेल के करीबी बताए गए थे। अगस्त 2019 में पटेल के बेटे फैसल और दामाद से भी पूछताछ की जा चुकी है। वैसे, यह मामला कुल 14 हजार 500 करोड़ रुपए का बताया जाता है। 

27 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

भोजन में पहले रोटी खाना चाहिए फिर चावल या पहले चावल खाना चाहिए फिर रोटी, विज्ञान क्या कहता है
ग्वालियर में मुरैना-भिण्ड से आने वालों पर प्रतिबंध, क्वारेंटाइन किए जाएंगे
अधिकारी, कोर्ट में गलत जानकारी पेश कर दे तो विभागीय कार्रवाई होगी या FIR दर्ज होगी, पढ़िए
आकाशीय बिजली में कितना करंट होता है, वह जमीन पर क्यों गिरती है
सीएम शिवराज सिंह के तिरुपति रवाना होते ही भोपाल में 2 दिग्गजों का डिनर, ये समीकरण कुछ कहता है
इंदौर में जज के बेटे ने स्ट्रीट डॉग को गोली मार दी, पालतू कुत्ते पर भोंक रहा था
मध्यप्रदेश में भारी बारिश की संभावना, 13 जिलो की लिस्ट जारी
सुनिए PM MODI के बारे में कांग्रेस विधायक वो बयान जिसके बाद गोलियां चल गईं
कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन के लिए #RestoreOldPension ट्रेंड कराया
मध्य प्रदेश कोरोना: चंबल में ताबड़तोड़ कोरोना, मुरैना 36, भिंड 13 पॉजिटिव
इस लड़की से कोई शादी करने को तैयार नहीं था, आज मिलने के लिए अपॉइंटमेंट लेना पड़ता है
कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर: NPS छोड़कर OPS का लाभ पाने का विकल्प खुला
गर्भाधान संस्कार क्या होता है, क्या सचमुच गुणवान संतान की प्राप्ति होती है
भोपाल के बड़े कपड़ा व्यापारी की कोरोना से मौत, बाजार में दहशत
कमलनाथ चीन के एजेंट है, यह मामला ऑन रिकॉर्ड है: प्रभात झा
MP POLICE RECRUITMENT: गृह मंत्री ने 4269 आरक्षक पदों पर भर्ती की मंजूरी दी
BHOPAL SAMACHAR / 32 नए इलाके कंटेनमेंट घोषित, भोपाल में 210 कंटेनमेंट क्षेत्रों की लिस्ट
सरकारी अधिकारी निर्दोष नागरिक को जबरन रोककर रखे तो IPC की किस धारा के तहत मामला दर्ज होगा
RATLAM: मासूम बच्ची का बलात्कारी, जेलर के घर से फरार, मामले को दबाने की कोशिश


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here