Loading...    
   


फुटबॉल कोच ने नाबालिग छात्रा का रेप किया, गिरफ्तार / MP NEWS

हरदा। कोरोना के संक्रमण लोगों को बचाने जब पूरे देश में लॉकडाउन थे। इस दौरान मध्य प्रदेश के हरदा जिले में फुटबॉल के कोच ने एक नाबालिग को प्रशिक्षण देने के बहाने बुलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपित कोच ने जुर्म भी कुबूल कर लिया, पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है। खास बात यह है कि इस कोच के पास प्रशिक्षण देने के लिए न तो कोई डिग्री है और ना ही लॉकडाउन में उसने प्रशासन से अनुमति ली थी।  

विगत दिनों शहर के रहने वाले फुटबाल के कोच शिक्षक दीपक पुरबिया ने फुटबॉल में हवा भरने के बहाने से एक नाबालिग से दुष्कर्म किया था। इसके बाद बीते मंगलवार को नाबालिग ने थाने में मामला दर्ज कराया। पुलिस ने नाबालिग के परिजनों की शिकायत पर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। थाना प्रभारी उमेंद्र सिंह राजपूत ने बताया कि आरोपित दीपक पुरबिया द्वारा जुर्म कबूल कर लिया है। उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से आरोपित को जेल भेज दिया गया है। इधर शहर सहित जिले भर में दीपक पुरविया शहर के एक निजी स्कूल में बच्चों को खेल का प्रशिक्षण देता था, लेकिन उसके पास कोई भी खेल शिक्षा की डिग्री नहीं है।

तथाकथित फुटबॉल कोच के रूप में यह बच्चों को नेहरू स्टेडियम पर फुटबॉल का प्रशिक्षण देता था। हालांकि इसके पहले आरोपित का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। इधर शिक्षा विभाग ने अब हरकत में आ गया है। तथाकथित फुटबॉल कोच दीपक पुरबिया द्वारा दुष्कर्म करने के मामला सामने आने के बाद शिक्षा विभाग के डीईओ देवेंद्र रघुवंशी ने बताया कि जिले के समस्त निजी स्कूलों से खेल शिक्षकों की जानकारी मांगी जाएगी। साथ ही स्कूलों से खेल शिक्षकों का चरित्र सत्यापन भी मांगा जाएगा। 

जिले के प्रभारी क्रीड़ा अधिकारी रामनिवास जाट ने बताया कि खेल शिक्षक रखना सभी निजी स्कूलों में अनिवार्य है। इसके लिए निजी स्कूलों में बीपीएड, डीपीएड, सीपीएड डिग्री धारी खेल शिक्षकों को रखना चाहिए। दुष्कर्म के मामले में आरोपित बने दीपक पुरबिया के पास कोई खेल की कोई डिग्री नहीं है। वह सिर्फ अपने अभ्यास के अनुभव के आधार पर बच्चों को प्रशिक्षण देता था।

प्रभारी डीईओ देवेंद्र सिंह रघुवंशी ने बताया कि निजी कोच द्वारा दुष्कर्म किए जाने के मामले की जानकारी मिली है। शहर सहित जिले के सभी निजी स्कूलों को पत्र लिखा जाएगा। जिसमें निजी स्कूल में पदस्थ खेल शिक्षकों की जानकारी एकत्रित की जाएगी। ताकि ऐसे किसी भी फर्जी खेल शिक्षक द्वारा बच्चों को खेल का प्रशिक्षण देने से रोका जा सके।

11 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

चलती ट्रेन में यदि कोई सामान गिर जाए तो क्या करें
प्रीति ने लिखा 'लाइफ बहुत गंदी है' और फांसी पर झूल गई
लो जी, कमलनाथ को पता ही नहीं था, दिल्ली में उनके खिलाफ क्या पक रहा है
नरोत्तम मिश्रा, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से बदतमीजी कर रहे हैं: पूर्व मुख्यमंत्री
यदि कोई मर्जी के बिना घर में घुस आए तो क्या FIR दर्ज करवाई जा सकती है
RGPV: परीक्षाओं के लिए नए नियम जारी
MP BOARD 12th EXAM: 4 श्रेणी के छात्रों को परीक्षा से छूट का नोटिफिकेशन
DAHET के लिए आवेदन शुरू, ऑफिशल नोटिफिकेशन यहां है
तांत्रिक बाबा से भूत-प्रेत झड़वाने आए 19 करोना पॉजिटिव, बाबा की भी कोरोना से मौत
ROJGAR SETU REGISTRATION यहां करें
MPPEB: प्री-वेटरीनरी एण्ड फिशरीज़ टेस्ट (PV&FT) के लिए आवेदन शुरू
इसी के साथ मध्य प्रदेश 10000 के पार, आज 200 कोरोना पॉजिटिव मिले
जबलपुर में पति ने चरित्र संदेह में पत्नी को जिंदा जलाया


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here