Loading...    
   


GWALIOR में भगवान वायरस से पीड़ित, 7 दिन के लिए सेल्फ क्वॉरेंटाइन / MP NEWS

ग्वालियर। क्वॉरेंटाइन भले ही ज्यादातर लोगों के लिए एक नया शब्द हो परंतु संक्रमित मरीज के एकांतवास की परंपरा भारत में 5000 साल पुरानी है। लोगों को यह याद रहे कि संक्रामक रोग से पीड़ित होने पर एकांतवास में जाना अनिवार्य है, भगवान जगन्नाथ स्वयं वर्ष में एक बार एकांतवास पर जाते हैं। कुलैथ में विराजमान भगवान जगन्नाथ 16 जून को संक्रमण का शिकार हो गए। इसलिए 7 दिन तक होम क्वॉरेंटाइन में रहेंगे। इस दौरान भक्त उनके दर्शन नहीं कर सकते।

क्वॉरेंटाइन: भारत की स्थापित प्राचीन परंपराओं में से एक है

भारत वर्ष में स्थापित प्राचीन परंपरा के अनुसार कुलैथ ग्राम में विराजमान भगवान जगन्नाथ 16 जून को वायरस से पीड़ित हो गए, जिसके बाद 7 दिनों के लिए भगवान क्वारंटाइन (एकांतवास) में चले गए। इस दौरान मंदिर के पट आमभक्तों के लिए बंद हो गए। इस दौरान केवल मुख्य सेवाधारी ही अंदर प्रवेश कर भगवान की सेवा करते हैं।

हर साल संक्रमण का शिकार होकर होम क्वारंटाइन में जाते हैं भगवान

कोरोना महामारी के दौरान एक शब्द सबसे अधिक प्रचलित हुआ है वह है क्वारंटाइन। लेकिन इस शब्द का महत्व सनातन हिंदू धर्म के प्रचलन में कई सदियों से है। कुलैथ में भगवान जगन्नाथ का मंदिर है। इस मंदिर में हर साल आषाढ़ मास में अमावस्या को तीन दिवसीय मेले का आयोजन किया जाता है। इस दौरान भगवान का भंडारा और रथयात्रा का आयोजन होता है। लेकिन इस मेले से ठीक 7 दिन पहले भगवान जगन्नाथ वायरस से संक्रमित होते हैं। उनके मुख्य सेवक द्वारा बताया जाता है कि भगवान खांसी, जुकाम और बुखार से पीड़ित हुए हैं। इस दौरान उन्हें 7 दिनों के लिए क्वारंटाइन कर दिया जाता है। जिसे 'एकांतवास' कहा गया है। इस बार जगन्नााथजी का मेला 23 जून से प्रारंभ होगा। 

इस परंपरा का पालन क्यों किया जाता है 

अधूरे विज्ञान की भक्ति करने वाले अक्सर इस तरह की परंपराओं का मजाक उड़ाते हैं। दरअसल ऐसे लोग इन परंपराओं के पीछे उपस्थित व्यापक जनहितकारी महत्व को समझ नहीं पाते। भगवान के संक्रमित या बीमार होकर एकांतवास में जाने के पीछे संदेश सिर्फ इतना है कि यदि कोई भी मनुष्य किसी संक्रामक रोग से शिकार होता है तो उसे कम से कम 7 दिन के लिए समाज के संपर्क से दूर हो जाना चाहिए। एकांतवास में चला जाना चाहिए। अब तो चीन ने भी बता दिया आएगी होम क्वॉरेंटाइन करना चाहिए।

17 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

एक स्वस्थ इंसान को कितने वोल्ट तक बिजली का करंट नहीं लगता
MP PEB EXAM CALENDAR 2020 में होने वाली भर्ती/प्रवेश परीक्षाओं का डेट चार्ट जारी
GWALIOR में महिला ने कार जला डाली क्योंकि उससे रास्ता जाम होता था
घर के निर्माण में नदी की रेत क्यों यूज़ करते हैं, समुद्र या रेगिस्तान की क्यों नहीं
SUSHANT SINGH: कोई फांसी लगाकर सुसाइड करने से पहले जूस क्यों पिएगा
TATA SKY का नया प्लान, 2 महीने के लिए फ्री, टूटते ग्राहकों को रोकने वाला ऑफर
MADHYA PRADESH में SCHOOL जुलाई के महीने में भी बंद रहेंगे: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
एक व्यक्ति अपराध करे और दूसरा सिर्फ साथ रहे तो दूसरा अपराधी माना जाएगा या नहीं, पढ़िए
AC खराब हो जाए तो क्या फ्रिज का डोर ओपन करके रूम ठंडा कर सकते हैं
BREAKING: कॉलेज (UG-PG और इंजीनियरिंग) परीक्षाएं अनिश्चित काल तक के लिए स्थगित
INDORE में कांग्रेस विधायकों के सामने घुटने पर बैठे SDM
SC-ST EMPLOYEE को प्रमोशन में आरक्षण: केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एप्लीकेशन फाइल की
ICSE EXAM: सीएस की परीक्षाएं स्थगित, नई तारीख घोषित
मध्यप्रदेश कोरोना: 133 पॉजिटिव में से 40 भोपाल में, 6 मौतों में से 4 इंदौर में
क्या शासकीय कर्मचारी के खिलाफ पुलिस इन्वेस्टिगेशन और डिपार्टमेंटल इंक्वायरी एक साथ कर सकते हैं
BIG BREAKING: चीन का हमला, एक कर्नल दो सैनिक शहीद, 40 साल से स्थापित शांति भंग
BHOPAL में राजनीति का दंगल 17 जून से, भाजपा-कांग्रेस के सभी पहलवान हाथ आजमाएंगे
MADHYA PRADESH में सभी स्कूल/कॉलेज/कोचिंग, अंतर्राज्यीय बस बंद करने के आदेश


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here