Loading...    
   


SC-ST EMPLOYEE को प्रमोशन में आरक्षण: केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एप्लीकेशन फाइल की

Central Government employee - reservation in promotion

नई दिल्ली। शासकीय सेवकों के लिए प्रमोशन में आरक्षण विवाद पर एक नया मोड़ आया है। भारत सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक आवेदन दाखिल करके अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के संदर्भ में स्पष्टीकरण मांगा है। 

पिछले 6 महीने में 1.3 लाख प्रमोशन रुके

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपनी एप्लीकेशन में गवर्नमेंट ऑफ इंडिया ने कहा है कि जनवरी, 2020 तक करीब 1.3 लाख प्रमोशन रुके पड़े हैं। प्रमोशन का काम रुका होने से सरकारी कर्मचारियों व अधिकारियों में भारी रोष है। सनद रहे कि मामले में सुप्रीम कोर्ट ने यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया था।

केंद्र सरकार ने अस्थाई तौर पर प्रमोशन देने की इजाजत मांगी

सरकार ने आवेदन में गुहार लगाई है कि उसे अस्थायी तौर पर प्रमोशन करने की इजाजत दी जाए क्योंकि बड़ी संख्या में पद खाली पड़े हैं। सरकार ने कहा है कि 78 विभागों में से 23 विभागों में प्रमोशन का काम रुका पड़ा है। सरकार का कहना है कि गत वर्ष 15 अप्रैल को यथास्थिति बनाए रखने के आदेश के कारण आरक्षित और सामान्य श्रेणी के तमाम प्रमोशन पर पूरी तरह से रोक लगी हुई है। 

शासकीय कर्मचारियों में भारी असंतोष

हर महीने बड़ी संख्या में सरकारी अधिकारी बिना प्रमोशन के सेवानिवृत्त हो रहे हैं। सरकारी नौकरों में इसे लेकर असंतोष व रोष है। वे हतोत्साहित भी हो रहे हैं। इसके अलावा इस कारण होने वाले वित्तीय नुकसान को लेकर भी उनमें असंतोष है।

2018 में भी इजाजत मिली थी

सरकार का कहना है कि कोरोना महामारी के समय लोगों को राहत प्रदान करने में अग्रिम मोर्चे पर काम कर रहे हैं। उनका मनोबल बनाए रखना जरूरी है। सरकार ने कहा है कि पहले भी इस तरह के आवेदन दाखिल किए गए थे और 17 मई 2018 और 5 जून 2018 को कोर्ट ने प्रमोशन इजाजत दी थी।

मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त 2017 में दिल्ली हाईकोर्ट के उस मेमोरेंडम को निरस्त कर दिया था जिसमें एससी-एसटी को प्रमोशन में आरक्षण देने की बात कही गई थी। केंद्र सरकार ने हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे रखी है, जो फिलहाल लंबित है।

15 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

SUSHANT SINGH RAJPUT का शव फांसी पर झूलता मिला, मौत से पहले मां को याद किया
सात फेरे के बाद विदा होकर ससुराल जा रही दुल्हन चंबल नदी में कूदी
INDORE में प्रेमिका से मिलने पाइप के सहारे गर्ल्स हॉस्टल पहुंचा डॉक्टर, गिरकर मौत
INDORE में कांग्रेस विधायकों के सामने घुटने टेकने वाले SDM-CSP हटाए, विधायकों के खिलाफ FIR
GWALIOR में महिला ने कार जला डाली क्योंकि उससे रास्ता जाम होता था
MADHYA PRADESH के राज्यपाल की तबीयत बिगड़ी, मेदांता ICU में भर्ती
थ्री पिन प्लग का पहला पिन शेष दोनों पिन से बड़ा क्यों होता है
गंगाजल कितने समय बाद एक्सपायर हो जाता है
MADHYA PRADESH में SCHOOL जुलाई के महीने में भी बंद रहेंगे: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
MP NEWS: महिला अधिकारी ने दलित कर्मचारी से जूते सैनिटाइज करवाए
स्वस्थ इंसान का हृदय 1 मिनट में कितना खून पंप करता है
रात के समय किसी के घर में चोरी छुपे घुसना किस धारा के तहत अपराध है
पुलिस ने पिता को बेइज्जत किया था, गुस्से में बेटा IPS बन गया
घर के निर्माण में नदी की रेत क्यों यूज़ करते हैं, समुद्र या रेगिस्तान की क्यों नहीं
BHOPAL में नीम की पत्तों से कोरोना संक्रमण, सरकारी नल से पूरे मोहल्ले में महामारी
MADHYA PRADESH कोरोना: INDORE 4000 के पार, BHOPAL की थम नहीं रही रफ्तार
ग्वालियर में छात्रों की बेमियादी भूख हड़ताल, जनरल प्रमोशन के लिए
KAMAL NATH के सबसे नजदीकी विधायक कोरोना पॉजिटिव


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here