Loading...    
   


केंद्रीय गाइडलाइन के बावजूद ग्वालियर में दुकानें बंद रहेंगी / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। भारत सरकार ने स्टेशनरी की दुकानों को खोलने की अनुमति प्रदान कर दी है परंतु ग्वालियर में दुकानें बंद रहेंगी। ग्वालियर में कोरोनावायरस का कोई नया मामला नहीं है परंतु केंद्रीय गाइडलाइन के तहत मिली हुई छूट ग्वालियर में नहीं दी जा रही है।

मार्च में ही विद्यालयों में नया शिक्षा-सत्र शुरु होने के साथ ही पूरे देश के साथ ही जिले में लॉकडाउन लागू हो गया। लॉकडाउन के चलते बाजार बंद होने के कारण नब्बे फीसदी छात्र-छात्राएं नए शिक्षण-सत्र की किताबें नहीं खरीद पाए थे। जबकि शहर में संचालित हो रहे निजी शिक्षण संस्थानों में ऑनलाइन कक्षाएं शुरु हो चुकी हैं। ऐसे में अध्ययनरत छात्रों का कोर्स नहीं छूटे इसके लिए जिला प्रशासन किताबों के साथ ही स्टेशनरी सामान की होम डिलेवरी व्यवस्था शुरु करने के लिए प्लानिंग तैयार कर रहा है। प्लानिंग तैयार होते ही शहर में किताबों की होम डिलेवरी शुरु कर दी जाएगी।

शहर के निजी स्कूलों ने नवीन शिक्षा सत्र ऑनलाइन शुरु कर दिया है। लेकिन किताबों व स्टेशनरी की दुकानें लॉकडाउन के चलते बंद होने के कारण हजारों छात्र-छात्राओं को संबंधित कक्षा की किताबें नहीं होने के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है बल्कि कोर्स भी पिछड़ रहा है। प्रशासन से अनुमति मिलने के बाद किताब विक्रेता वेंडरों के माध्यम से किताबों की होम डिलेवरी करेंगे।


24 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रही खबरें

दो इलेक्ट्रिक पोल के बीच तार ढीला क्यों होता है, सीधा क्यों नहीं होता, आइए जानते हैं 
लॉक डाउन में अमूल ने दाम घटाए, बिक्री बढ़ी, आइसक्रीम नहीं पनीर खा रहे हैं लोग 
रेलवे स्टेशन और रेलवे जंक्शन में क्या अंतर है, एक स्टेशन कब जंक्शन बन जाता है 
बेईमान राशन विक्रेता का वीडियो बनाकर भेजें: कलेक्टर 
मध्यप्रदेश कोरोना बुलेटिन: आज नए 100, कुल पॉजिटिव 1687, मृत्यु 83, स्वास्थ 203, सबसे गंभीर उज्जैन
मध्य प्रदेश: स्कूलों में छुट्टी एवं online class के नए आदेश
RGPV ने ऑनलाइन परीक्षाओं की तैयारियां शुरू की, EXAM DATE FIX
तकिए के पीछे न्यूड नेहा कक्कड़, फैंस ने जमकर ट्रोल किया
ज्योतिरादित्य सिंधिया: बीजेपी ज्वाइन करने के बाद भी कांग्रेस के कनेक्शन में क्यों हैं
कोरोनावायरस के कारण कर्मचारियों व पेंशनर्स के महंगाई भत्ता पर रोक
कमलनाथ के प्रिय IAS सभाजीत यादव रिटायरमेंट के 10 दिन पहले सस्पेंड
कोरोना पॉजिटिव के शव को कब्रिस्तान की जगह सीधे घर ले गए परिजन
DAMOH: 6 साल की मासूम का रेप, आंख फोड़ी, बोरे में बंद कर जंगल में फेंका
मंत्रिमंडल : जब कुछ न बन सका तो तमाशा बना लिया
मध्यप्रदेश में कॉलेज प्रोफेसरों के ग्रीष्मकालीन अवकाश निरस्त
जीतू पटवारी द्वारा फॉलेन आउट किए अतिथि विद्वानों को शिवराज सिंह सेवा में लेंगे: संघर्ष मोर्चा को उम्मीद


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here