BHOPAL NEWS- एमपीपीएससी के 135 उम्मीदवारों की किस्मत की बत्ती गुल

भोपाल
। सरकारी भेल कॉलेज मैनेजमेंट की गलती के कारण मध्यप्रदेश शासन ने शायद अपने कुछ होनहार प्रशासनिक अधिकारी को दिए। कई सालों से इस परीक्षा की तैयारी कर रहे 135 उम्मीदवारों की किस्मत की बत्ती गुल हो गई क्योंकि भेल कॉलेज के मैनेजमेंट ने उचित प्रबंध नहीं किए थे। परीक्षा के बीच में लाइट चली गई और इनवर्टर ने भी काम नहीं किया। 

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 72 सेंटरों पर परीक्षा का आयोजन किया गया। लोक सेवा आयोग मध्य प्रदेश द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में इस पर लिखा हुआ था कि परीक्षा केंद्र पर बिजली कट हो जाने की स्थिति में वैकल्पिक व्यवस्था होनी चाहिए। भेल कॉलेज के दस्तावेजों में इनवर्टर मौजूद है। कॉलेज में भी इनवर्टर रखा था लेकिन जब परीक्षा के बीच में बिजली गई तो इनवर्टर ने भी काम नहीं किया क्योंकि बैटरी खराब थी। 

गलती किसी की भी हो परंतु इस सेंटर पर परीक्षा देने वाले 135 उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर असर जरूर पड़ा है। कॉलेज मैनेजमेंट में सभी परीक्षार्थियों की टेबल पर मोमबत्ती लगाई। मोमबत्ती की लाइट में परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। परीक्षा के दौरान एक बार बिजली जाने से, दूसरी बार इनवर्टर के बंद हो जाने से और तीसरी बार मोमबत्ती लगाए जाने के उपक्रम से परीक्षार्थियों का ध्यान भंग हुआ।

केंद्र अधीक्षक का बयान: हमने भेल प्रबंधन और बिजली कंपनी को सूचना दी थी

गवर्नमेंट पीजी काॅलेज भेल के केंद्र अधीक्षक डॉ. मथुरा प्रसाद का कहना है कि हमने परीक्षा से पहले ही भेल प्रबंधन और बिजली कंपनी को परीक्षा को लेकर बिजली आपूर्ति निरंतर रखने की सूचना दी थी। इसके बावजूद रविवार को 3.30 बजे अचानक बिजली गुल हो गई, हालांकि कॉलेज का इन्वर्टर शुरू हो गया। हमने पहले ही मोमबत्ती की व्यवस्था कर ली थी।

परीक्षा के समाप्त होने से 10 मिनट पहले इन्वर्टर डाउन हो गया, जिसके पहले ही हमने 135 कैंडिडेट की टेबल पर मोमबत्ती एहतियातन लगा दी गई थी। हालांकि फिर भी उजाला आ रहा था। इस बीच कैंडिडेट को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हुई। एग्जाम बिना किसी बाधा के पूरा हुआ। उन्होंने बताया कि उनके सेंटर पर 200 कैंडिडेट का रजिस्ट्रेशन था। पहले पेपर में 140 कैंडिडेट शामिल हुए थे। दूसरे पेपर में 135 कैंडिडेट शामिल हुए। 

कैंडिडेट को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई: उपायुक्त का दावा

वहीं, भोपाल की राजस्व उपायुक्त संजू कुमारी ने बताया कि भेल सेंटर पर बिजली गुल होने की सूचना मिली थी। हालांकि कैंडिडेट को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हुई। इधर कैंडिडेट्स की ओर से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

25 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश मानसून- 10 जिलों में भारी वर्षा का अलर्ट, 42 में सावन सुहाना होगा
MPTET वर्ग 3 EXAM NOTIFICATION- परीक्षा तिथि घोषित, 2018 से इंतजार था
MPPEB NEW EXAM CALENDAR 2021-22 जारी, 13 परीक्षाओं की घोषणा
MP SCHOOL OPEN- शिक्षा विभाग की गाइड लाइन जारी
GWALIOR NEWS- कांग्रेस ने भाजपा में गए सिंधिया समर्थकों को वापस बुलाया
EMPLOYEE NEWS- गलत वेतन निर्धारण- एएसआई से वसूला गया ब्याज वापस करो: हाईकोर्ट का आदेश
MP SCHOOL NEWS- 1 दिन की पढ़ाई के लिए सप्ताह भर की फीस क्यों दें, पेरेंट्स का सवाल
INDORE NEWS- BEd की छात्रा को 400 में से 399 नंबर दे दिए, DAVV में हंगामा
BHOPAL GST डिप्टी कमिश्नर को क्लर्क ने चांटा मारा

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiहार्ड डिस्क की क्षमता, GB और TB के बाद क्या आता है
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
GK in Hindi₹1 के नोट पर गवर्नर के हस्ताक्षर क्यों नहीं होते हैं 
GK in Hindiइंसान को शेर कहना शान और गधा कहना अपमान क्यों माना जाता है 
GK in Hindi- खतरे का रंग लाल क्यों होता है काला क्यों नहीं
GK in Hindiपुष्पक विमान किस ईंधन से चलता था, पेट्रोल और बैटरी तो उस समय होते नहीं थे
GK in Hindiआवारा गाय सड़क के बीच क्यों बैठतीं हैं, क्या सुसाइड करना चाहतीं हैं 
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here