भारत में 66A IT-ACT के मामले खारिज करने की एडवाइजरी जारी

नई दिल्ली।
सूचना तकनीक अधिनियम (Information Technology Act 2000) की धारा 66 ए के तहत दर्ज किए गए आपराधिक मामलों को खारिज करने के लिए केंद्र सरकार ने एडवाइजरी जारी कर दी है। इसके साथ ही कहा गया है कि भविष्य में कभी धारा 66 ए के तहत मामले दर्ज ना करें। 

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को एक एडवाइजरी भेजी है जिसमें उन्हें याद दिलाया गया है कि कानून का यह प्रावधान अब अमान्य है। उल्लेख करना आवश्यक है कि सुप्रीम कोर्ट ने एक याचिका पर फैसला सुनाते हुए आईटी एक्ट की धारा 66 ए को खत्म कर दिया था। भारत के कई राज्यों में पुलिस यह कहकर मामले दर्ज कर रही है कि उनके पास इसके बारे में कोई आदेश नहीं है। गृह मंत्रालय ने राज्यों से यह भी कहा है कि इस बाबत राज्य पुलिस को जागरूक किया जाए और अगर कोई मामला पुराने कानून के तहत दर्ज हुआ है तो तुरंत वह मामला वापस लिया जाए। 

दरअसल उच्चतम न्यायालय ने 2015 में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) कानून की धारा 66ए को निरस्त करने के बावजूद लोगों के खिलाफ इस प्रावधान के तहत अब भी मामले दर्ज किए जाने पर आश्चर्य व्यक्त किया और इसे ‘चौंकाने’ वाला बताया था। NGO ‘पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज़’ (पीयूसीएल) की ओर से दायर आवेदन में पीयूसीएल की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता संजय पारीख का आरोप है कि 2019 में अदालत ने स्पष्ट निर्देश दिए थे कि सभी राज्य सरकारें 24 मार्च 2015 के फैसले को लेकर पुलिस कर्मियों को संवेदनशील बनायें, इसके बावजूद इस धारा के तहत हजारों मामले दर्ज कर लिए गए।

क्या है आईटी एक्ट की धारा 66 A

2008 में एक्ट में संशोधन करके धारा 66(A) को जोड़ा गया जो फरवरी 2009 में लागू हो गया। यह धारा इलेक्टॉनिक डिवाइसेज (डेस्कटॉप, लैपटॉप, टैब आदि) या संचार उपकरण (मोबाइल, स्मार्टफोन आदि) पर आपत्तिजनक कंटेट पोस्ट करने के संबंध में है। इसके तहत दोषियों को तीन साल की जेल या 5 लाख रुपये का जुर्माना या फिर दोनों की सजा मिल सकती है। इस कानून के मुताबिक कोई भी अपमानजनक, अवैध या खतरनाक सूचना भेजना एक दंडनीय अपराध है। इस धारा को भारतीय नागरिकों को प्राप्त अभिव्यक्ति की आजादी पर अंकुश माना गया था। 

15 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

EMPLOYEE NEWS- कैबिनेट में महंगाई भत्ता एवं राहत 28% की मंजूरी
EMPLOYEE NEWS- 18 महीने का एरियर नहीं मिलेगा, कर्मचारियों को नफा हुआ या नुकसान
MP NEWS- मोहल्ले के लड़कों को बिजली बिल वसूली की नौकरी मिलेगी
MP NEWS- मंत्री: होशियार मत बन नहीं तो दूंगा, युवक: प्रचार करने आना तब बताऊंगा
MP CORONA NEWS- कर्फ्यू के संबंध में नई गाइडलाइन जारी
MP HED NEWS- ट्रांसफर, भर्ती और अतिथि विद्वानों के मुद्दे पर समीक्षा बैठक में बात होगी
CORONA BREAKING- केंद्र ने राज्यों में प्रतिबंध लगाने के लिए एडवाइजरी जारी की
MP NEWS- कमलनाथ को फिर दिल्ली से बुलावा, सोनिया के साथ काम करें
MP NEWS- मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विवेक तन्खा की मांग तत्काल स्वीकार की
MP NEWS- पुलिस से पंगा के बाद महिला SDO मुरैना से उमरिया के जंगल में ट्रांसफर
RASHIFAL- सूर्य की कर्क संक्रांति आपकी राशि को कितना प्रभावित करेगी, यहां पढ़िए

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindi9PM के बाद पत्नी से झगड़ा करना किस देश में अपराध 
famous temples in Madhya Pradeshमांढरेवाली माता के कारण सिंधिया राजवंश का कभी पतन नहीं हुआ
GK in Hindiगाय को माता क्यों मानते हैं, दूध तो भैंस भी देती है 
GK in HindiDISC BRAKE बाइक के अगले पहिए में क्यों लगाते हैं, पिछले में क्यों नहीं
GK in Hindiकैसे पता करें TV-AC फ्रिज ने 1 महीने में कितनी यूनिट बिजली खर्च की 
GK in Hindiउपहार के लिफाफे में एक रुपया क्यों जोड़ा जाता है, लॉजिक क्या है
GK in Hindi- हिटलर की मूछें टूथब्रश जैसी क्यों थी, योद्धाओं जैसी क्यों नहीं, पढ़िए
GK in Hindiभारत के किस रेलवे स्टेशन का नाम, सबसे बड़ा है, इसमें अंग्रेजी के कुल कितने अक्षर आते हैं 
GK in Hindiसड़क किनारे वृक्षों पर सफेद पेंट क्यों किया जाता है, वैज्ञानिक कारण 
GK in Hindiबर्फ का टुकड़ा पानी में तैरता है तो फिर शराब में क्यों डूब जाता है 
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here