INDORE में कारोबारियों का सब्र टूटा, शकर बाजार में भी दुकानें खुली - MP NEWS

इंदौर।
मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में 2 महीने बाद भी शहर में लॉकडाउन पूरी तरह नहीं खोला गया है। आधे-अधूरे खुले बाजार के बीच ऐसे कारोबारी जिन्हें प्रशासन ने अब तक दुकानें खोलने की अनुमति नहीं दी उनके सब्र का बांध टूटने लगा है।    

बुधवार को शहर के कई हिस्सों में ऐसे तमाम कारोबारियों ने अपनी दुकानें प्रशासन का आदेश आने का इंतजार किए बिना खोल ली। राजबाड़ा से सटे शकर बाजार में भी दुकानें खोल ली गई। एमटीएच कंपाउंड में इलेक्ट्रानिक कारोबारियों ने बैठक बुलाकर दुकानें खोलने का फैसला ले लिया। बुधवार 12 बजे एमटीएच कंंपाउंड की करीब 250 इलेक्ट्रानिक की दुकानें खुल गई। इससे पहले मार्केट के व्यापारी एसोसिएशन ने बाजार के सभी कारोबारियों की बैठक बुलाई थी। 

दो महीने से व्यापार बंद कर बैठे कारोबारियों ने बैठक में एसोसिएशन के पदाधिकारियों के सामने विषय रखा कि जब सभी लोग बाहर निकलने लगे हैं। बाजार में ट्रैफिक है। अन्य दुकानें खोली जा रही है तो यह मार्केट क्यों बंद रखा जाए। व्यापारियों ने समस्या बताई कि दुकानों के किराए से लेकर बिजली का बिल में भी जब किसी तरह की राहत नहीं दी जा रही तो प्रशासन को दुकानें बंद रखवाने का भी अधिकार नहीं है। वैसे भी बाजार में व्यापारियों की दुकानों पर इलेक्ट्रिक उपकरण, पंखे-कूलर आदि भी है। इस आधार पर भी हम दुकानें खोल सकते हैं।

एमटीएच कंपाउंड व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष किशोर जयवानी के अनुसार क्योंकि पंखे-कूलर जैसी आवश्यक वस्तुओं से जुड़ा कारोबार है इसलिए बाजार खोल दिया गया है। हम मंगलवार शाम को कलेक्टर से मिलने जा रहे हैं। व्यापारी उनसे आग्रह करेंगे कि बाजार खोलने का आदेश भी जारी किया जाए। व्यापारियों की परेशानी भी उन्हें बताई जाएगी। प्रदेश सरकार और शासन से भी मांग कर रहे हैं कि नगर निगम के प्रापर्टी टैक्स के साथ बिजली के बिल में भी हमें रियायत दी जाना चाहिए। अभी घोषणा हो रही है कि प्रापर्टी टैक्स के भी सिर्फ पेनाल्टी में छूट दी जा रही है। इससे ईमानदार व्यापारी जो समय पर टैक्स चुका रहा है उसका कोई फायदा नहीं होगा। जिसने लंबे समय से टैक्स नहीं चुकाया उन्हें ही इसका लाभ मिलेगा।

शहर के ज्यादातर हिस्से में रेस्टोरेंट और होटल्स ने भी टेक अवे की अनुमति के साथ काम शुरू कर दिया है। हालांकि शहर के कुछ होटल्स जो क्लब संचालित कर रहे हैं वे अपने क्लब के सदस्यों को एंट्री देकर होटल्स में बैठाकर भी अनुति दे रहे हैं। सपना संगीता रोड पर काफी किंग समेत कुछ काफी शाप और रेस्टोरेंट देर रात तक खुल रहे हैं और ग्राहकों को अंदर बैठाकर खिला भी रहे हैं। रेडीमेड गारमेंट व्यापारी एसोसिएशन ने प्रशासन से मांग की है कि अब कपड़ों की दुकानों को भी खोलने की अनुमति दी जाए। जब सभी तरह के व्यापार को अनुमति दे दी गई है तो गारमेंट कारोबारियों से भेदभाव क्यों किया जा रहा है

09 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार


महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here