INDORE में 2 लड़कियां पाकिस्तानी आतंकवादी कनेक्शन में गिरफ्तार

इंदौर।
महू आर्मी कैंट की जानकारियां पाकिस्तान पहुंचा रही दो लड़कियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों के खिलाफ पाकिस्तान के लिए जासूसी करने का आरोप है। यह लड़कियां फेसबुक के जरिए सेना की गोपनीय जानकारी पाकिस्तान में बैठे आतंकवादियों तक पहुंचा रही थी। दोनों लड़कियों का पीछा करने और प्रारंभिक जांच पड़ताल के बाद दोनों को हिरासत में लिया गया है। इनके साथ एक लड़का भी पकड़ा गया है।

महू आर्मी कैंट की जानकारी पाकिस्तान पहुंचा रहीं थीं

महू से मिली जानकारी के अनुसार सैन्य छावनी महू में दो लड़कियों (हिना और कौसर) को सेना की जासूसी के आरोप में पकड़ा गया है। ये दोनों बहनें हैं और गवली पलासिया क्षेत्र में रहती थीं। बताया जाता है कि ये पिछले काफी दिनों से पाकिस्तान में किसी के संपर्क में थीं और यहां सैन्य छावनी के बारे में जानकारी उस तक पहुंचा रहीं थीं। 

पाकिस्तान में फोन पर बात करते समय सेना की नजर में आई

कुछ दिनों पहले ये महिलाएं माल रोड पर चलते हुए पाकिस्तान में फोन पर बात करती थीं। इस दौरान सेना के गोपनीय विभाग ने इनकी फ्रीक्वेंसी पकड़ी और इसके बाद से इन पर लगातार नजर रखी जाने लगी। 

4 दिन पहले लड़कियों के घर पर छापामारी हुई थी

चार दिन पहले भोपाल से आइबी, एटीएस तथा स्थानीय आर्मी इंटेलिजेंस की टीम ने इनके घर पर गोपनीय तरीके से दबिश दी थी। यह मामला बिल्कुल सामान्य रखा गया था। इसके बाद यहां लगातार कई गाड़ियां आती रहीं और लोगों को शक हो गया। इस पर खबर फैल गई।

जानकारी के मुताबिक इन बहनों के नाम कौसर और हिना हैं। ये गवली पलासिया की लक्ष्मी विहार कालोनी में रहती थीं। बताया जाता है कि मामले में NIA भी जांच कर सकती है। हालांकि मामले में महू पुलिस के एएसपी पुनीत गेहलोत ने कोई भी जानकारी देने से इंकार कर दिया। वजह महू पुलिस को मामले से दूर रखा गया था।

मारीशस से फंडिंग हो रही थी

इधर दोनों बहनों से लगातार पूछताछ की जा रही है। अब तक इनके पास से मिले लैपटाप और मोबाइल फोन जब्त कर लिए गए हैं। बताया जाता है कि इन महिलाओं को मारीशस से फंडिंग हो रही थी। इनके पिता सेना में नौकरी कर चुके थे और इसके बाद इंदौर एसबीआइ की एक शाखा में सुरक्षाकर्मी भी रहे। बाद में उनकी मृत्यु हो गई।

दोनों बहनें कई जगह नौकरी कर चुकी थीं और कहीं भी ज्यादा दिनों तक नहीं रहतीं थीं। इनमें से हिना तो महू में बिजली कंपनी में कांट्रेक्ट पर काम करती रही। बिजली कंपनी से मिली सूचना के मुताबिक हिना करीब 25 साल की है और पिछले छह महीनों से कंप्यूटर आपरेटर के तौर पर प्राइम वन एजेंसी के द्वारा काम कर रही थी। हिना ने यहां फरवरी तक करीब छह महीने तक काम किया और बाद में उसे हटा दिया गया। ऐसा बताया जाता है कि ये कई जगहों पर काम करके अलग-अलग जानकारियां एकत्रित करती थीं।

21 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here