Loading...    
   


मध्यप्रदेश में अब ग्राम पंचायतें लॉकडाउन होंगी, वार्डों में कर्फ्यू लगेंगे - MP NEWS

भोपाल
। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश में लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खत्म करने का मन बना लिया है लेकिन कोरोना कि तीसरी लहर और वर्तमान संक्रमण को रोकने के लिए कोरोना को समाप्त करने के लिए 'एरिया स्पेसिफिक' रणनीति बनाने का फैसला लिया है। भविष्य में जिस ग्राम पंचायत क्षेत्र में जनसंख्या के अनुपात में 5% से अधिक CORONA के मामले मिलेंगे वहां धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी। शहरी इलाकों में कुछ ऐसा ही वार्डों में होगा। इससे पहले भारत सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए नई गाइडलाइन जारी की जा चुकी है।

मुख्यमंत्री बुंदेलखण्ड मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओं से संतुष्ट नहीं

मंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण रोकने व समाप्त करने के लिए पंचायत अनुसार योजना बनाएँ। मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने बताया कि सागर जिले में कस्बों में कोविड केयर सेंटर प्रारंभ होने के अच्छे परिणाम सामने आए हैं। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि बुंदेलखण्ड मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाएँ चुस्त-दुरूस्त की जाएँ। 

कोरोना को समाप्त करने के लिए 'एरिया स्पेसिफिक' रणनीति बनाई जाए: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से कम हो रहा है। अधिकांश जिलों में साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर 10% से कम रह गई है तथा नए प्रकरण भी लगातार कम होते जा रहे हैं, वहीं बड़ी संख्या में मरीज स्वस्थ हो रहे हैं। अब कोरोना को समाप्त करने के लिए 'एरिया स्पेसिफिक' रणनीति बनाई जाए तथा आगामी 31 मई तक प्रदेश में कोरोना संक्रमण को समाप्त करने के पूरे प्रयास किए जाएँ, जिससे जन-जीवन को धीरे-धीरे सामान्य बनाया जा सके।

मध्य प्रदेश की साप्ताहिक औसत संक्रमण दर 10%

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। वी.सी. में मंत्रीगण, प्रभारी अधिकारीगण तथा सभी संबंधित उपस्थित थे। प्रदेश में कोरोना के 5065 नए प्रकरण आए हैं, पिछले 24 घंटों में 10337 मरीज स्वस्थ हुए हैं तथा एक्टिव प्रकरणों की संख्या 77 हजार 607 है। प्रदेश की कोरोना ग्रोथ रेट 0.9%, सात दिन की पॉजिटिविटी 10% तथा आज की पॉजिटिविटी 7% है।

3 जिले कंट्रोल के बाहर, 6 जिलों में स्थिति चिंताजनक

प्रदेश के 3 जिलों में 200 से अधिक नए प्रकरण तथा 9 जिलों में 100 से अधिक नए प्रकरण आए हैं। इंदौर में 1153, भोपाल में 653, जबलपुर में 324, सागर में 198, रीवा में 175, रतलाम में 160, उज्जैन में 151, सिंगरौली में 115 तथा ग्वालियर जिले में 105 नए प्रकरण आए हैं।

मध्य प्रदेश के 9 जिले पूर्ण नियंत्रण में, 32 जिलों में तेजी से सुधार

प्रदेश के 9 जिलों में 5% से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है, वहीं 32 जिलों में 10% से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है। गुना, छिंदवाड़ा, अशोकनगर, बड़वानी, भिंड, बुरहानपुर, झाबुआ, अलीराजपुर, खंडवा में 5% से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है तथा इन जिलों सहित ग्वालियर, होशंगाबाद, मंदसौर, धार, कटनी, सतना, बालाघाट, रायसेन, शाजापुर, नरसिंहपुर, राजगढ़, देवास, विदिशा, सिवनी, मंडला, आगर-मालवा, छतरपुर, मुरैना, श्योपुर, दतिया, निवाड़ी, टीकमगढ़, तथा हरदा में 10 प्रतिशत से कम साप्ताहिक पॉजिटिविटी है।

20 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here