मध्य प्रदेश के 17 जिले कोरोना मुक्त, 5 जिलों में संकट बरकरार - MP NEWS TODAY

भोपाल
। केंद्रीय गाइडलाइन के अनुसार मध्य प्रदेश के 17 जिले कोरोनावायरस से मुक्त हो गए हैं। इन जिलों में धारा 144 के तहत लगाए गए कर्फ्यू को हटाया जा सकता है लेकिन 5 जिले ऐसे हैं जहां संकट बरकरार है और 1 जून से कर्फ्यू हटाना मुश्किल नजर आ रहा है। शेष जिलों की स्थिति सोमवार तक स्पष्ट हो पाएगी।

मध्य प्रदेश के 17 जिलों में लॉकडाउन खत्म हो जाएगा 

मध्य प्रदेश के 17 जिलों छतरपुर, टीकमगढ़, दतिया, मुरैना, गुना, श्योपुर, अशोकनगर, छिंदवाड़ा, हरदा, भिंड, बुरहानपुर, मंडला, झाबुआ, निवाड़ी अलीराजपुर, खंडवा तथा बड़वानी में साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 5% से कम है। केंद्रीय गाइडलाइन के अनुसार जिन क्षेत्रों में संक्रमण की दर 5% से कम है वहां कर्फ्यू नहीं लगाया जा सकता, अतः निश्चित हो गया है कि इन 17 जिलों में कर्फ्यू खत्म हो जाएगा। 

मध्य प्रदेश के 5 जिलों में कर्फ्यू नहीं हट पाएगा

मध्य प्रदेश के 5 जिलों में ही 10% से अधिक पॉजिटिविटी है। सर्वाधिक भोपाल जिले में 15%, इंदौर में 13% रीवा में 13%, उज्जैन में 12% तथा अनूपपुर जिले में 11% पॉजिटिविटी है। केंद्रीय गाइड लाइन के अनुसार इन इलाकों में कर्फ्यू नहीं हटाया जा सकता। क्योंकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा कर दी है इसलिए कर्फ्यू में ढील दी जा सकती है परंतु प्रतिबंध पूरी तरह से समाप्त नहीं हो सकते। निश्चित रूप से इस विफलता के लिए प्रशासन को जिम्मेदार माना जाना चाहिए। 

कोरोना कर्फ्यू के बारे में केंद्रीय गाइड लाइन क्या है 

केंद्रीय गाइडलाइन के अनुसार जिन इलाकों में 1 सप्ताह तक 5% से अधिक संक्रमण दर दर्ज की जाती है वहां धारा 144 के तहत प्रतिबंध लगाए जाने चाहिए। कर्फ्यू कब तक लागू रहेगा जब तक की संक्रमण की दर कम से कम 1 सप्ताह तक 5% से कम नहीं हो जाती। कर्फ्यू लगाने का अधिकार कलेक्टर को दिया गया है लेकिन वह गाइडलाइन का उल्लंघन करते हुए ना तो कर्फ्यू लगा सकते हैं और ना ही कर्फ्यू हटा सकते हैं। 

22 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here