Loading...    
   


MP CORONA: इधर रिकॉर्ड तोड़ कोरोना, उधर वैक्सीन खत्म, आज प्रत्येक 100 में से 11 पॉजिटिव - UPDATE NEWS

भोपाल
। कोरोनावायरस के संदर्भ में मध्य प्रदेश सरकार की रिपोर्ट डराने वाले आंकड़े पेश कर रही है। इंदौर में एक्टिव केस की संख्या 5000 से ज्यादा और भोपाल में 4000 से ज्यादा हो गई है। जबलपुर, ग्वालियर और उज्जैन की स्थिति प्रशासन के नियंत्रण से बाहर नजर आ रही है। सरकारी लापरवाही के कारण कोरोनावायरस की दूसरी लहर ने मध्य प्रदेश के 30 से ज्यादा जिलो को चपेट में ले लिया है बावजूद इसके लापरवाही जा रही है। कई जिलों में वैक्सीन खत्म होने के समाचार आ रहे हैं। सारे प्रतिबंध जनता पर लगाए जा रहे हैं, प्रशासन पर अनुशासन की कोई पाबंदी नहीं है। आज का पॉजिटिविटी रेट 11% आया है। यानी प्रत्येक 100 में से 11 सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं।

MADHYA PRADESH CORONA BULLETIN 04 APRIL 2021

संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं, मध्य प्रदेश द्वारा जारी कोरोनावायरस मीडिया बुलेटिन दिनांक 04 अप्रैल 2021 (शाम 6:00 बजे तक) के अनुसार पिछले 24 घंटे में:- 
28705  सैंपल की जांच की गई।
147 सैंपल रिजेक्ट हो गए।
25527 सैंपल नेगेटिव पाए गए।
3178 सैंपल पॉजिटिव पाए गए। 
11% आज का पॉजिटिविटी रेट।
11 मरीजों की मौत हो गई।
2201 मरीज डिस्चार्ज किए गए।
मध्यप्रदेश में संक्रमित नागरिकों की कुल संख्या 306851
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 4040
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से स्वस्थ हुए नागरिकों की संख्या 281476 
आज दिनांक 04 अप्रैल 2021 को संक्रमित नागरिकों की कुल संख्या 21335 

MADHYA PRADESH COVID19 UPDATE NEWS 04 APRIL 2021

भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर एवं उज्जैन के कलेक्टर संक्रमण की गंभीरता का अनुमान नहीं लगा पाए। महाराष्ट्र के नागरिकों की आवाजाही बेरोकटोक जारी रही। नतीजा पांचों जिलों में कोरोनावायरस का संक्रमण बेकाबू हो चुका है। हालात बिगड़ने के बाद धारा 144 के तहत जनता पर प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं।
मध्य प्रदेश के 7 जिलों में एक्टिव केस की संख्या 500 से ज्यादा बनी हुई है। अस्पतालों में बिस्तर फूल होते जा रहे हैं। हालात यह है कि संक्रमित मरीज को भगवान भरोसे छोड़ दिया जाता है। जिंदा बच गया तो उसकी किस्मत। 
भोपाल के जेपी अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई के कारण मरीज की मौत हो गई और मैनेजमेंट की बेशर्मी देखिए कि खबर का खंडन जारी करते हुए सिविल सर्जन ने कहा ऑक्सीजन की कमी नहीं है। जबकि आरोप सप्लाई को लेकर था कमी को लेकर नहीं।
पिछले दिनों एक नायब तहसीलदार ₹10000 की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार हो चुका है। उसने एक दुकान को प्रोटोकॉल के उल्लंघन के नाम पर सील कर दिया था और खोलने के बदले रिश्वत मांग रहा था।

मप्र के जिन जिलों में 50 से अधिक पॉजिटिव पाए गए हैं उनके नाम इस प्रकार हैं:- 

Indore, bhopal, jabalpur, gwalior, Khargon, Ujjain, ratlam, Betul, narsinghpur, Chhindwara, katni, shajapur, badwani.

मप्र के जिन जिलों में 20 से अधिक पॉजिटिव पाए गए हैं उनके नाम इस प्रकार हैं:- 

Sagar, dhaar, Rewa, Vidisha, shivpuri, satna, dewas, Neemuch, shehdol, Mandsaur, sehore, Damoh, Jhabua, khandwa, rajgarh, anuppur, singrauli, seoni, guna, alirajpur, dindori.

मप्र के जिन जिलों में 500 से ज्यादा एक्टिव केस दर्ज है उनके नाम इस प्रकार हैं:- 

Indore, Bhopal, jabalpur, Gwalior, ujjain, ratlam, betul, इन दिनों में कोरोनावायरस का संक्रमण काफी फैल चुका है। जहां तक संभव हो इन जिलों में यात्राएं स्थगित करें।

मप्र के जिन जिलों में 100 से ज्यादा एक्टिव केस दर्ज है उनके नाम इस प्रकार हैं:- 

Khargon, sagar, dhaar, rewa, Vidisha, hoshangabad, Narsinghpur, Chhindwara, Shivpuri, satna, Badwani, balaghat, Dewas, neemuch, shehdol, Mandsaur, sehore, damoh, Jhabua, khandwa, Raisen, rajgarh, katni, shajapur, seoni, guna, burhanpur, alirajpur. इन जिलों में कोरोनावायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। बहुत जरूरी होने पर कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए यात्रा करें।

MP CORONA (COVID-19) DISTRICT WISE STATUS LIST 


04 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here