Loading...    
   


CORONA पीड़ित शासकीय शिक्षक की ऑक्सीजन हटाई, मौत, CCTV में दिखाई दिया

शिवपुरी
। मध्य प्रदेश के शिवपुरी स्थित जिला चिकित्सालय के कोविड वार्ड में भर्ती शासकीय शिक्षक की रात में ऑक्सीजन हटा दी गई। सुबह से पहले उनकी मौत हो गई है। मामले का खुलासा इसलिए हुआ क्योंकि मरने वाले शासकीय शिक्षक का भांजा भारतीय जनता पार्टी का प्रदेश कार्यसमिति सदस्य है। भारी पॉलीटिकल प्रेशर के बाद सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग दिखाई गई जिसमें ऑक्सीजन हटा कर ले जाता हुआ व्यक्ति साफ नजर आया। 

बेटे ने आपत्ति उठाई और सीसीटीवी रिकॉर्ड की मांग की

मामला पिछोर के शासकीय शिक्षक सुरेंद्र शर्मा की मौत का है। श्री शर्मा कोरोनावायरस से संक्रमित होकर इलाज कराने के लिए जिला चिकित्सालय में भर्ती हुए थे। शाम तक स्वस्थ हैं और उनकी स्थिति में काफी सुधार हो रहा था लेकिन सुबह अचानक डॉक्टरों ने बताया कि उनकी मृत्यु हो गई है। सुरेंद्र शर्मा के बेटे ने मृत्यु को संदिग्ध मानते हुए हंगामा किया और सीसीटीवी फुटेज की मांग की लेकिन डॉक्टरों ने सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग दिखाने तक से मना कर दिया। 

भाजपा नेता के दबाव के कारण सीसीटीवी रिकॉर्डिंग दिखानी पड़ी

इस तरह के ज्यादातर मामलों में डॉक्टर, पुलिस को बुलाकर मामला शांत करवा देते हैं लेकिन सुरेंद्र शर्मा के भांजे धैर्यवर्धन शर्मा भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य हैं। इसलिए काफी मुश्किल के बाद ही सही लेकिन सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग दिखाई गई है। 

साफ दिखाई दे रहा है मौत से पहले ऑक्सीजन सपोर्ट हटाया 

सीसीटीवी फुटेज में स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है कि रात करीब 11:00 बजे शासकीय शिक्षक सुरेंद्र शर्मा का ऑक्सीजन सपोर्ट हटा दिया गया था। वार्ड में उस समय कोई डॉक्टर दिखाई नहीं दे रहा है परंतु माना जा रहा है कि डॉक्टर के आदेश पर ऑक्सीजन हटाई गई। इसके पीछे कारणों की जांच होना जरूरी है। आरोप तो यह भी लग रहा है कि बेड खाली करवाने के लिए ऑक्सीजन सपोर्ट हटा दी गई। जांच का विषय है अभी होना चाहिए कि सुरेंद्र शर्मा की मौत के बाद उनका बेड किसे अलॉट किया गया।

14 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here