Loading...    
   


BHIND के कर्मचारी व अधिकारियों के अप-डाउन पर बैन - EMPLOYEE NEWS

भिंड।
 मध्य प्रदेश के भिंड जिले में तैनात सरकारी व गैर सरकारी कर्मचारी और अधिकारी ग्वालियर, मुरैना और इटावा से प्रतिदिन अप-डाउन कर रहे हैं। इनसे कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है। ऐसे कर्मचारी और अधिकारियों को जिला न छोड़ने की रोक भिंड कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने लगाई है। उन्होंने कहा कि जिला मुख्यालय पर पदस्थ अधिकारी कर्मचारी मुख्यालय छोड़कर अप-डाउन नहीं कर सकेंगे। 

भिंड में नौकरी करने वाले बैंक कर्मी, बिजली कर्मी, शिक्षा विभाग सहित अन्य विभाग के कर्मचारी व अधिकारी प्रतिदिन अप-डाउन करते हैं। इनके अलावा प्राइवेट सेक्टर में कार्यरत कर्मचारी भी प्रतिदिन आते-जाते हैं। वहीं, ग्वालियर शहर इन दिनों कोरोना का हॉट स्पॉट बना हुआ है। ग्वालियर से शहर में आने वाले लोग अपने साथ कोरोना वायरस का संक्रमण ला रहे है जिससे भिंड जिला भी प्रभावित हो चुका है। कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने इस बात को ध्यान में रखते हुए अप डाउन पद्धति से नौकरी करने वालों पर पूर्ण रोक लगाई है। ऐसे लोगों को पदस्थ नगर, ग्राम या फिर मुख्यालय पर ही रहना होगा। यह आदेश सोमवार की दोपहर जारी किया गया है।

ग्वालियर शहर के अलावा बड़ी संख्या में ऐसे कर्मचारी है जो इटावा शहर के निवासी है। इन दोनों शहरों में रहकर भिंड जिले में कार्य करने वाले कर्मचारी अब जिले के पदस्थ स्थान पर रहना होगा। यह आदेश का पालन न करके अप-डाउन करने वाले कर्मचारी व अधिकारी के बारे में जानकारी लगते ही पहले दस दिन के लिए होम क्वारैंटाइन किया जाएगा। इसके साथ ही दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

19 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here