Loading...    
   


INDORE में BBA स्टूडेंट का शव फंदे पर लटका मिला - MP NEWS

इंदौर
। मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में मोबाइल एप के मार्फत लोन देने वाली कंपनी ने वसूली के लिए दबाव बनाया और रिश्तेदारों को भी मैसेज भेजने लगे, तनाव में आकर बीबीए सेकंड इयर के छात्र ने फांसी लगा ली। परिजन अब संबंधित कंपनी के खिलाफ शिकायत करेंगे। 

पुलिस के अनुसार राजेश नगर में रहने वाले 22 वर्षीय हर्ष पिता उमेश शर्मा ने गुरुवार शाम को फांसी लगाकर जान दे दी। वह बीबीए का छात्र था। उसके पिता की मिठाई की दुकान है। भाई पुणे आईटी कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं। भाई हिमांशु ने बताया कि वे अभी वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। मृतक हर्ष ने कुछ समय पहले मस्क मैलन कंपनी से 2600 रुपए का लोन लिया था। लॉकडाउन में आय नहीं हो पाने के कारण हर्ष किस्त नहीं भर पाया। इसके बाद कंपनी के कर्मचारियों ने हर्ष के दोस्तों और रिश्तेदारों को मैसेज भेजे कि वह लोन नहीं भर पा रहा है। कंपनी के कर्मचारी हर्ष पर राशि जमा करने का दबाव बनाने लगे। मैसेज हिमांशु को भी गया। उसने कंपनी से संपर्क किया और लोन जमा करने की प्रक्रिया समझी। फिर भाई से बात की। 

हर्ष से पिता और हिमांशु ने बात की, कहा कि और कोई लोन हो तो वह भी बता दे। उसे भी भर देंगे, तब हर्ष ने कहा कि अब कोई लोन नहीं है। इस पर हिमांशु ने लोन जमा कर दिया। हिमांशु ने बताया कि कंपनी के लोग मोबाइल एप के मार्फत लोन देते थे। वे लोन देने के दौरान एप पर एक स्वीकृति लेते, जिसमें कस्टमर के सारे कॉन्टैक्ट नंबर एक्सेस कर लेते हैं। जब कोई लोन नहीं भरता है तो उसके सारे पहचान वालों को बेइज्जत करने वाले मैसेज भेजते हैं। कंपनी लोगों को धमकाती है। हिमांशु को भी धमकाकर कहा था कि अब रिकवरी वाले घर भेजेंगे और बेइज्जत करेंगे। इसी से हर्ष डर गया था। अब शर्मा परिवार धमकाने वाली कंपनी के खिलाफ शिकायत करेगा।
 
हर्ष के भाई हिमांशु ने बताया कि कुछ दिन बाद उसे लोन ब्रो नामक कंपनी से मैसेज आया। बताया गया कि हर्ष ने तीन हजार का लोन लिया था उसने चुकाया नहीं है। अब पांच हजार चुकाना होंगे, वरना कानूनी कार्रवाई होगी। यह मैसेज हिमांशु के अलावा उनके दोस्तों और रिश्तेदारों को पहुंचे। मैसेज देखते ही हिमांशु ने भाई को फोन लगाया, लेकिन उसने पिक नहीं किया। फिर हिमांशु ने घर में पिता के आने का इंतजार किया, भाई से पूरी जानकारी ली। लोन चुकाए और बाकी कोई और लोन की जानकारी ली। कुछ देर बाद हर्ष के दोस्त आए। वे और हिमांशु उसे ऊपर कमरे में देखने गए तो वह फांसी के फंदे पर मिला।

10 अक्टूबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here