Loading...    
   


C-21 MALL से छलांग लगाने वाली लड़की डॉक्टर है, 2 दिन पहले ठेकेदार पति ने सुसाइड किया था, CM और गृह मंत्री के नाम लिफाफे छोड़े

इंदौर।
विजय नगर स्थित C21 मॉल के थर्ड फ्लोर से आत्महत्या करने के लिए कूदने वाली लड़की डॉक्टर है और उज्जैन के आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से MBBS की पढ़ाई कर रही है। 15 दिन पहले उसने ठेकेदार शुभम खंडेलवाल से लव मैरिज की थी। 2 दिन पहले शुभम खंडेलवाल ने भी आत्महत्या कर ली थी। उसके पास से सुसाइड नोट मिला जिसमें दो सब इंजीनियरों के नाम लिखे हैं। मुख्यमंत्री और गृहमंत्री के नाम भी दो लिफाफे मिले हैं। कुल मिलाकर मामला प्यार और धोखे का नहीं है बल्कि कुछ और है।

ठेकेदार की सुसाइड नोट में दो सब इंजीनियर, मुख्यमंत्री और गृहमंत्री का नाम 

उज्जैन गीता कॉलोनी में रहने वाले नगर निगम के 30 साल के ठेकेदार की कार का एक्सीडेंट बुधवार की रात नलवा के समीप हो गया था। इसके बाद पुलिस शुभम खंडेलवाल की मौत को एक्सीडेंट में हुई मौत मानकर चल रही थी, लेकिन शुभम खंडेलवाल की जेब से मिले सुसाइड नोट के बाद पुलिस को पता लगा कि शुभम ने जहर खाकर आत्महत्या की है। दरअसल, शुभम ने सुसाइड नोट में नगर निगम के दो अधिकारी उपयंत्री नरेश जैन और संजय खुजनेरी पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। शुभम ने सुसाइड नोट मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के नाम भी लिखा था।

ठेकेदार की 15 दिन पहले शादी हुई थी

फरीदाबाद की रहने वाली सानिया MBBS की पढ़ाई करने तीन-चार साल पहले उज्जैन आई थी। आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस करते हुए उसकी मुलाकात शुभम खंडेलवाल से हुई। दोस्ती के बाद इन्होंने शादी का फैसला किया और 15 दिन पहले ही चिंतामन मंदिर में सादे समारोह में शादी की थी। 

डॉक्टर सानिया जूस पीने के बहाने मॉल में गई और छलांग लगा दी

बुधवार रात पति शुभम की मौत के बाद युवती के पिता उज्जैन आए और अपने साथ बेटी को फरीदाबाद लेकर जाने वाले थे। वे उज्जैन से लौटकर इंदौर में सरवटे बस स्टैंड क्षेत्र में एक होटल में रुके थे। उनकी दोपहर में फ्लाइट थी। इसलिए दोनों सुबह एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए थे। यहां बेटी ने जूस पीकर आने का कहा। यहां से निकलकर वह सीधे मॉल पहुंची और तीसरी मंजिल से छलांग लगा दी।

ठेकेदार की जेब से मुख्यमंत्री और गृहमंत्री के नाम दो लिफाफे मिले हैं

पुलिस ने शुभम की जेब से दो लिफाफे और एक सुसाइट नोट जब्त किया है। ये दो लिफाफे क्रमश: मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के नाम है, जो उन्हें ही भेजे जाएंगे। वहीं, परिजनों के नाम लिखे सुसाइट नोट में शुभम ने लिखा- पूज्य पिताजी एवं माताजी मुझे माफ कर देना। बहुत दिनों से परेशान था। नगर निगम के उपयंत्री नरेश जैन और संजय खुजनेरी व इनके साथी मुझे मानसिक तनाव दे रहे थे। मेरी मौत के ये सब जिम्मेदार हैं। इन्हीं की वजह से मैं आत्महत्या कर रहा हूं।

ठेकेदार शुभम खंडेलवाल जहर खाकर गाड़ी चला रहा था

एफएसएल अधिकारी प्रीति गायकवाड़ ने बताया कि मृतक शुभम की गाड़ी से सल्फॉस की गोली के पांच खाली पॉकेट मिले हैं। पास ही एक ग्लास और जगह-जगह उल्टी की हुई मिली। इससे पता चलता है कि मृतक ने एक्सीडेंट से पहले सल्फॉस खाया था। संभवत: सल्फॉस खाने के बाद उसका संतुलन बिगड़ा और दुर्घटना हुई। उसकी कार के एयर बैग खुले थे। यानी गाड़ी हाई स्पीड में चल रही होगी। कार में मृतक ने काफी उल्टी कर रखी थी। उसके नमूने लेकर डीएनए के लिए भिजवाए जा रहे हैं।

पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने विसरा तक नहीं लिया

जांच में ये बात सामने आई है कि दुर्घटना के बाद अस्पताल में शुभम की सांसें चल रही थी। बाद में उसकी मौत हुई। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर इस बात से बेखबर थे कि उसने कुछ जहरीला पदार्थ खाया है लिहाजा उन्होंने बिसरा नहीं लिया और एक्सीडेंटल प्रकरण मानते हुए पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया था। ये जानकारी जब चिंतामण थाने के टीआई महेंद्र मकासरे को लगी तो वे गाड़ी से तुरंत चक्रतीर्थ पहुंंचे, लेकिन तब तक परिजन अंतिम संस्कार कर चुके थे। यदि अंतिम संस्कार नहीं हुआ होता तो संभवत: पुन: शव को पीएम रूम में लाकर बिसरा लिया जाता लेकिन देर हो चुकी थी। ऐसे में तय हुआ कि अब मृतक की गाड़ी में पड़ी मिली उसकी उल्टी का डीएनए टेस्ट करवाया जाएगा।

दोनों सब इंजीनियरों ने ठेकेदार के खिलाफ प्रकरण दर्ज करवाए थे

इधर, इस पूरे मामले में उज्जैन नगर निगम के दोनों उपयंत्री जैन व खुजनेरी उलझते नजर आ रहे हैं। इसलिए कि कुछ दिनों पहले इन दोनों अधिकारियों ने खाराकुआं और चिमनगंज थाने में शुभम खंडेलवाल के खिलाफ अपनी गाड़ी के कांच फोड़ने, घर पर पत्थरबाजी करने तथा जान से मारने की धौंस देने के प्रकरण दर्ज करवाए थे। उस पर यह भी आरोप लगाए थे कि वह बिल पास करवाने के लिए दबाव बनाने के चलते यह सबकुछ कर रहा है।

आत्महत्या करने से पहले बिल्डर्स एसोसिएशन के व्हाट्सएप ग्रुप पर कुछ लिखा था

घटना से पहले रात 7.41 बजे बिल्डर्स एसोसिएशन के ग्रुप पर शुभम ने फोटो सेंड किया था। संभवत: उसने खुद की सेल्फी सेंड की थी। रात के अंधेरे में केवल चेहरा ही दिखाई दे रहा था। उसने सेल्फी के साथ कुछ लिखा भी था, लेकिन ग्रुप के लोग पढ़ते उससे पहले ही उसने डिलीट भी कर दिया था।

11 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here