Loading...    
   


आयकर का छापा बिल्डर के यहां नहीं मंत्री- ब्यूरोक्रेट्स के सिंडिकेट पर पड़ा है

आयकर की छापामार कार्रवाई की चर्चा चारों ओर है। आधिकारिक रूप से आयकर विभाग की टीम बिल्डर के ऑफिस में कार्रवाई करती नजर आ रही है परंतु पॉलिटिकल चश्मे से देखें तो यह छापा किसी बिल्डर क्या नहीं बल्कि एक कैबिनेट मंत्री के यहां डाला गया है जो मध्यप्रदेश में अपना नया सिंडिकेट बना रहा है। 

सूत्रों का कहना है कि पिछले कुछ सालों में यह सिंडिकेट काफी धनवान हो गया है। भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसरों के अलावा भारतीय पुलिस सेवा के कुछ अधिकारियों का काला धन भी इसी सिंडिकेट में निवेश किया गया है। अकूत बेनामी संपत्ति और बेहिसाब काला धन की दम पर यह सिंडिकेट पॉलिटिक्स में पावरफुल होता जा रहा है। 

बताने की जरूरत नहीं कि 15 साल पहले मध्यप्रदेश में काला धन का जो खेल शुरू हुआ था वह अब चरम पर आ गया है। चुनाव चिन्ह कुछ भी हो, टिकट उसी को मिलता है जिसे सिंडिकेट चाहता है। छोटे से पहाड़ पर बने सबसे ताकतवर घर में वही रहता है जिसे सिंडिकेट द्वारा चुना जाता है। प्रदेश में गुटों की संख्या नहीं बढ़ रही है, सिंडिकेट की संख्या बढ़ने लगी है। देखना यह है कि ताजा कार्रवाई पर कतरने के लिए है, किसी डील के लिए है या फिर एक सिंडिकेट को खत्म कर देने के लिए है।

20 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

भोपाल में ललितपुर, झांसी के 9 व्यापारी 5 लड़कियों सहित गिरफ्तार
उज्जैन के होटल नटराज में छात्रा की हत्या, BF के साथ आई थी
बिना पूछे कैसे पता करें कि किसी के मोबाइल में अपना नंबर सेव है या नहीं
27% OBC आरक्षण पर आज हाई कोर्ट में हुई कार्यवाही का समाचार
विवाहित महिला को भगा ले जाने वाले के खिलाफ किस धारा के तहत मामला दर्ज होता है
ताश के पत्तों की संख्या 52 ही क्यों होती है, सूट 4 ही क्यों होते हैं, यहां जानिए
मध्यप्रदेश में पहले की तरह बस संचालन की अनुमति
शादीशुदा स्त्री/पुरुष का दूसरा विवाह कब धारा 494 के तहत अपराध बन जाता है, पढ़िए
मध्यप्रदेश में घिर आए हैं बंगाल के बाद, 14 जिलों के लिए चेतावनी जारी
भारत में सभी सरकारी नौकरियों के लिए एक परीक्षा होगी
ग्वालियर में महिला व्यापारी की लाश फांसी पर झूलती मिली
ज्योतिरादित्य सिंधिया का ग्वालियर दौरा स्थगित हो सकता है
इंदौर की लड़की से लंदन वाले BF ने गिफ्ट के नाम पर 4 लाख रूपये ठग लिए
विश्व मच्छर दिवस: पढ़िए कुछ मजेदार चौंकाने वाली जानकारियां
Gmail में दिक्कत, गूगल ने ऑफिशल स्टेटमेंट जारी किया
WhatsApp की खास ट्रिक: आपकी मर्जी के बिना कोई आपको ग्रुप में एड नहीं कर पाएगा


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here