Loading...    
   


दिग्विजय सिंह यह क्या कह गए, तो फिर कमलनाथ...? / MP NEWS

भोपाल। सिंधिया राजवंश दिग्विजय सिंह की राजनीति का सबसे प्रिय विषय रहा है। ज्योतिरादित्य सिंधिया के भविष्य के साथ खेलने के लिए वह अपने सारे महत्वपूर्ण काम छोड़कर समय निकाल लिया करते थे। आजकल भी ऐसा ही कुछ हो रहा है। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 'टाइगर जिंदा है' क्या कहा, श्री दिग्विजय सिंह ने ताबड़तोड़ कई ट्वीट कर डाले। उनमें से एक 'बूमरैंग' की तरह वापस आ गया है।

शुरू से समझिए किस्सा क्या है 

ताजा-ताजा भाजपा के नेता बने श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए कार्यकर्ताओं को संबोधित करते-करते, श्री दिग्विजय सिंह एवं श्री कमलनाथ को टारगेट पर ले लिया। उन्होंने भाजपा के मंच से कहा कि ' कमलनाथ जी, दिग्विजय सिंह जी, आप दोनों सुन लीजिए, टाइगर जिंदा है। माना जा रहा है कि इस बयान से उनका तात्पर्य यह था कि दोनों दिग्गज नेताओं ने उनका पॉलिटिकल शिकार करने की कोशिश की परंतु वह न केवल बच निकले बल्कि भारतीय जनता पार्टी में (अपने सभी समर्थकों को मंत्री पद दिलवा कर) स्थापित भी हो गए।

अब मैं शेर का शिकार नहीं करता: दिग्विजय सिंह

ज्योतिरादित्य के बयान का श्री दिग्विजय सिंह ने अपने तरीके से प्रत्युत्तर दिया। सबसे पहले उन्होंने कहा कि 'जब शिकार प्रतिबंधित नहीं था, तब मैं और श्रीमंत माधवराव सिंधिया जी शेर का शिकार किया करते थे। इंदिरा जी के वाइल्डलाइफ़ कंज़र्वेशन एक्ट लाने के बाद से मैं अब सिर्फ शेर को कैमरे में उतारता हूँ।' (इस तरह उन्होंने बताया कि अब मैं शेर का शिकार नहीं करता, उसे (ज्योतिरादित्य सिंधिया) पिंजरे में बंद करवा कर उसके फोटो उतारता हूं) 

दिग्विजय सिंह ने कैसा जवाब दिया कि फोकस कमलनाथ के ऊपर चला गया 

श्री दिग्विजय सिंह का यह तंज अपने आप में काफी था लेकिन शायद उनका मन नहीं भरा था। उन्होंने एक और ट्वीट लिखा। श्री सिंह ने लिखा कि 'शेर का सही चरित्र आप जानते हैं? एक जंगल में एक ही शेर रहता है!!' (प्रत्यक्ष रूप से तो इस लाइन का अर्थ यह निकलता है कि मध्य प्रदेश की राजनीति में सिर्फ एक ही शेर रहेगा और उसका नाम दिग्विजय सिंह है, यानी भारतीय जनता पार्टी में जाने के बाद भी श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह के हमलों से बच नहीं पाएंगे।)  लेकिन इसका एक और अर्थ भी निकलता है, मध्य प्रदेश कांग्रेस की राजनीति में सिर्फ एक ही शेर रहेगा। यानी आने वाले समय में कमलनाथ....।

03 जुलाई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

मध्य प्रदेश के 33 मंत्रियो में से 14 विधायक ही नहीं है: कमलनाथ
प्राचीन काल में क्या राजा-महाराजा भी खुले में शौच के लिए जाते थे
झूठी गवाही के लिए धमकाना या लालच देना कितना गंभीर अपराध है, यहां पढ़िए
जो थर्माकोल गर्म पानी में से नहीं पिघलता, माचिस की तीली से क्यों सिकुड़ जाता है
अब मुझमें हिम्मत नहीं बची, मैं सुसाइड कर लूंगी: एक्ट्रेस रानी चटर्जी
मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल: पढ़िए कौन किसके कोटे से, कौन नया- कौन पुराना
मध्य प्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती नाराज, मंत्रिमंडल में संशोधन की मांग
इंदौर में दुकानों का किराया माफ, लॉकडाउन के कारण लिया फैसला
MPPSC: सहायक प्राध्यापक आरक्षण से संबंधित याचिका खारिज
प्रोटेम स्पीकर को मंत्री पद की शपथ दिला दी, 3 मंत्री एक्स्ट्रा हो गए: सज्जन सिंह वर्मा
मध्यप्रदेश - 28 मंत्री, 20 कैबिनेट, 8 राज्य मंत्री
फर्जी सर्टिफिकेट लगाने वाला कितने साल के लिए जेल जाएगा, ध्यान से पढ़िए
हत्यारे को बचाने की किसी भी प्रकार की कोशिश अपराध है, पढ़िए FIR में कौन सी धारा दर्ज होगी
कमलनाथ और दिग्विजय सिंह आप दोनों सुन लीजिए, टाइगर अभी जिंदा है: ज्योतिरादित्य सिंधिया
सब्जी खरीदने से पहले किन बातों का ध्यान रखें, सरकार ने नई एडवाइजरी जारी की
फर्स्ट मैरिज एनिवर्सरी पर पति नहीं आया, विवाहिता छत से कूद गई, मौत
मध्य प्रदेश कोरोना: 7844 में से 245 पॉजिटिव, 8 मरीजों की मौत
MP POLICE RI/SUBEDAR TRANSFER LIST / मध्य प्रदेश पुलिस आरआई/सूबेदार तबादला सूची
देवास के बाद सागर में शिवराज सरकार मंत्रिमंडल विस्तार का विरोध
उत्तर प्रदेश: माफिया ने पुलिस वालों को घसीटकर गोलियां मारी, 8 पुलिसकर्मी शहीद, सबसे पहले CO को मारा
भोपाल कलेक्टर कार्यालय में अधिकारियों के बीच कार्य विभाजन
मध्यप्रदेश : किससे अपील करें, इस सब की


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here