Loading...    
   


ग्वालियर में काढ़ा पीकर ठीक हो रहे हैं कोरोना के मरीज, डॉक्टर इलाज नहीं कर रहे / GWALIOR NEWS

ग्वालियर। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक अस्पताल में 1000 से ज्यादा मरीजों को ठीक करने का रिकॉर्ड बनाया है परंतु ग्वालियर की बात कुछ और है। यहां अव्वल तो पॉजिटिव मरीजों को अस्पताल में भर्ती ही नहीं किया जाता और यदि कर लिया जाता है तो उन्हें देखने के लिए डॉक्टर नहीं आती। कुछ मरीज अपने स्तर पर आयुर्वेदिक काढ़े का इंतजाम कर लेते हैं और कुछ मरीजों को अस्पताल में कोई ना कोई व्यक्ति दया पूर्वक आयुर्वेदिक काढ़ा दे देता है। चमत्कार देखिए कि आयुर्वेदिक कार्ड के कारण 221 में से 120 मरीज स्वस्थ हो गए।

पॉजिटिव मरीज के साथ रहने वाला संक्रमित नहीं हो रहा

ठाकुरबाबा रोड डबरा, बदनापुरा, घोसीपुरा और बंशीपुरा के मामलों को छोड़ दें तो अन्य कहीं भी अधिक संख्या में कोरोना के मरीज नहीं मिले हैं। साथ ही संक्रमित मरीज के साथ में रहने वाले तक पूरी तरह स्वस्थ्य पाए गए हैं। एक्सपर्ट का मानना है कि वायरल लोड कम होने से पॉजिटिव मरीज के संपर्क में रहने पर भी व्यक्ति स्वस्थ्य रह सकता है। ग्वालियर में मिले 221 पॉजिटिव मरीजों में से अब तक केवल 30 लोगों में ही सर्दी, खांसी, बुखार जैसे लक्षण मिले हैं। जबकि 190 लोगों को तो जुकाम खांसी तक नहीं है।

केस-1: दवाई तो दूर डाइट तक नहीं दी फिर भी दंपति ठीक हो गए

बेहट में पति पत्नी को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। इनके तीन छोटे बच्चे भी थे। प्रशासन ने अस्पताल में भर्ती कराने की जगह मरीजों को बेहट में ही एक धर्मशाला में क्वारंटाइन कर दिया। यहां इनको प्रोटोकॉल के मुताबिक दवाई तो दूर डाइट तक नहीं मिली। मोहल्ले वालों ने जो कुछ खाने को दिया उससे ही पेट भर लिया। बाद में एक बच्चा भी संक्रमित पाया गया। मगर परिजन घबराए नहीं और 10 दिन बाद स्वस्थ्य होने पर इनको डिस्चार्ज कर दिया गया।

केस-2: डॉक्टर चेकअप करने तक नहीं आया, घर वालों ने काढ़ा पिलाया, मरीज स्वस्थ

गोला का मंदिर स्थित निजी अस्पताल में 11 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को भर्ती किया गया था। यहां पर कोरोना से डॉक्टर इस कदर डरे हुए हैं कि चेकअप करने तक नहीं आ रहे हैं। केवल फोन ही मरीज से हालचाल जान लिया जाता है। यहां पर मरीजों को नियमित रूप से काढ़ा दिया गया। जिससे मरीजों ने हालत में सुधार महसूस किया। सभी मरीज स्वस्थ्य होकर घर लौट चुके हैं।

08 जून को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ता मामले में दिल्ली हाई कोर्ट का डिसीजन
एमपी बोर्ड 12वीं की परीक्षा तारीख बदलने के लिए ABVP ने ज्ञापन दिया
SIM CARD का फुल फॉर्म क्या है, आविष्कार कब हुआ, कितने प्रकार की होती है
मध्य प्रदेश शासन ने सभी सरकारी/प्राइवेट स्कूलों की छुट्टियां बढ़ाई
ज्योतिरादित्य सिंधिया: बिना आग के धुंए में कौन सी खिचड़ी पका रहे हैं
MP BOARD 12th EXAM 2020: ऑनलाइन प्रवेश-पत्र की मान्यता के संबंध में संशोधित आदेश
ज्योतिरादित्य सिंधिया: राज्यसभा चुनाव के बाद भी चैन से नहीं बैठ पाएंगे
नेताजी के स्वागत में हाईवे पर खड़े रहे IG पुलिस, वर्दीधारी से चाय पेश करवाई
CBSE 12th EXAM के लिए HELPLINE NUMBER एवं प्रमुख दिशा निर्देश
मैं कांग्रेस में लौट आया हूं 'महाराज' आने वाले हैं: सत्येंद्र यादव
MP BOARD 12th EXAM GUIDELINE, परिजन क्वॉरेंटाइन है तो परीक्षा नहीं दे सकते
भारत में बंद स्कूल/कॉलेज कब खुलेंगे: HRD मिनिस्टर ने बताया
दिवालिया बैंक में जमाधन डूब जाता है तो क्या लिया गया LOAN भी नहीं चुकाना पड़ता
मोड़ आने पर सड़क एक तरफ झुकी हुई क्यों बनाते हैं
Tata Sky ने 25 फ्री चैनलों को PAID कर दिया, यूजर्स की पॉकेट कटेगी
किस तरह के तबादला आदेशों को कोर्ट में चुनौती दी जा सकती है, पढ़िए
बनावटी दवाई देने वाले DOCTOR के खिलाफ किस धारा के तहत FIR दर्ज होगी, यहां पढ़िए
मध्यप्रदेश में कोरोना रिटर्न: डिस्चार्ज के 18 दिन बाद महिला फिर से पॉजिटिव


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here