Loading...    
   


टीम दिग्विजय सिंह ने श्रमिकों को भिखारी बताया / BHOPAL NEWS

भोपाल। कहते हैं ना कि व्यक्ति जिस माहौल में रहता है, वह कितना भी प्रयास कर ले सार्वजनिक जीवन में उसका प्रतिबिंब दिखाई दे ही जाता है। आज कुछ ऐसा ही हुआ है। खुद को कांग्रेस का संत पुरुष साबित करने की कोशिश कर रहे दिग्विजय सिंह की टीम के लोगों ने उन्हें महान राजा बताने की प्रत्याशा में सम्मानित श्रमिकों को भिखारी कह डाला। 

टीम दिग्विजय सिंह के प्रेस सचिव 0755-2441584 की ओर से जारी प्रेस रिलीज में बताया गया था कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह ने आज अपने घरों की तरफ वापस जा रहे श्रमिकों को सूखी सेवनिया चौराहे पर भोजन के पैकेट, पानी की बोतल, बिस्किट, नमकीन, हैंड सैनेटाइजर पाउच, ओआरएस, वितरित किए एवं जो श्रमिक नंगे पांव चल रहे थे उन्हें चप्पल पहनाईं। 

इस प्रेस रिलीज को टीम दिग्विजय सिंह की तरफ से टाइटल दिया गया 'राजा ने रंक को पहनाई चप्पल'। इस प्रकार दिग्विजय सिंह की टीम ने दिग्विजय सिंह को महान राजा बताने की प्रत्याशा में श्रमिकों को 'रंक' यानी भिखारी बताया है।

17 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

कांग्रेस की गोपनीय लिस्ट ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास पहुंच गई 
टॉयलेट के तुरंत बाद पानी पीना चाहिए या नहीं, पढ़िए 
शादी के लिए जाति, धर्म या पहचान छुपाने वाले के खिलाफ क्या कार्रवाई होती है
महिलाएं आटा गूंथने के बाद उस पर उंगलियों से निशान क्यों बनाती हैं, जानिए रहस्य की बात 
भारत में परमाणु बम का कोड और हमले का अधिकार किसके पास होता है
CAR जैसे हैंडब्रेक ट्रेन में क्यों नहीं होते, एक्सीडेंट क्यों हो जाता है 
मध्यप्रदेश में 10वीं को जनरल प्रमोशन, 12वीं की परीक्षा होगी
गर्भपात के दौरान यदि महिला की मृत्यु हो गई तो जेल कौन जाएगा डॉक्टर या पति
ऑनलाइन पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते समय क्या करें और क्या नहीं करें
मध्य प्रदेश: 24 सीटों पर चुनाव से पहले भाजपा में बगावत की सुगबुगाहट
कानून में संशोधन के बाद गर्भपात कब-कब अपराध की श्रेणी में आता है, जानिए 
नए टू व्हीलर्स की हेडलाइट हमेशा ऑन क्यों रहती है
चक्रवाती तूफान #अम्फान उम्मीद से ज्यादा भयानक हो गया, 3 दिन में टकराएगा
इस साल स्कूल नहीं खुलेंगे तो बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया
YES BANK: मात्र ₹1 लाख की FD पर, सबसे ज्यादा ब्याज और कोरोना इंश्योरेंस फ्री
एक साथ कई कामों में लगाए गए शिक्षक, अर्जित अवकाश देने की मांग


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here