Loading...    
   


भारतीयों के सामने कमजोर पड़ गया कोरोना, मृत्यु दर मात्र 0.2 प्रति लाख / NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। यदि भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों पर विश्वास करें तो मौत का तांडव मचा कर सारी दुनिया को लॉक डाउन के लिए मजबूर कर देने वाला कोरोनावायरस का असर भारत के नागरिकों पर कुछ खास नजर नहीं आ रहा है। भारतीयों के सामने कोरोनावायरस कमजोर पड़ गया है।

दुनिया की औसत मृत्यु दर 4.1, भारत की 0.2 

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा बताया गया है कि कोरोनावायरस से मृत्यु के मामले में प्रति एक लाख आबादी पर सारी दुनिया की औसत मृत्यु दर 4.1 है। यानी प्रत्येक 100000 में से करीब 4 लोगों की मौत कोरोनावायरस के कारण हुई लेकिन भारत में यह मृत्यु दर मात्र 0.2 है।

बेल्जियम, स्पेन, इटली और यूके की मृत्यु दर दुनिया में सबसे ज्यादा 

भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जो डाटा शीट जारी की गई है उसके अनुसार कोरोना वायरस के कारण भारत में मृत्यु दर सबसे कम है। सबसे ज्यादा 79.3 बेल्जियम में है। इसके अलावा स्पेन 59.2, इटली 52.8 और यूनाइटेड किंगडम 52.1 के साथ टॉप पर हैं और 50 से अधिक पर चल रहे हैं। 

भारत सहित सात देशों में मृत्यु दर 10 से नीचे 

तुलनात्मक अध्ययन में भारत के साथ कुछ अन्य देश भी हैं जहां मृत्यु दर 10 से नीचे चल रही है। इनमें ब्राजील 7.5, जर्मनी 9.6, ईरान 8.5, मेक्सिको 4.0, टर्की 5.0 और चीन 0.3 शामिल है।

19 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

लॉक डाउन 4.0 भोपाल में क्या कर सकते है क्या नहीं पढ़िए
कंप्यूटर को टीवी की तरह डायरेक्ट स्विच ऑफ क्यों नहीं कर सकते
गर्भपात के दौरान यदि महिला की मृत्यु हो गई तो जेल कौन जाएगा डॉक्टर या पति
कमलनाथ को पहला चुनावी झटका, कांग्रेस नेताओं की एक टीम भाजपा में शामिल
तुम डेढ़ साल तक रोते रहे, हमने डेढ महीने में कर दिखाया: शिवराज सिंह का कमलनाथ को जवाब
भारत में परमाणु बम का कोड और हमले का अधिकार किसके पास होता है
ग्वालियर के प्राइवेट डॉक्टरों पर पाबंदी, सर्दी-जुकाम का इलाज नहीं करेंगे
कांग्रेस की गोपनीय लिस्ट ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास पहुंच गई
इंदौर लॉक डाउन 4.0 में: किसको कितनी छूट मिली, पढ़िए
सीबीएसई 10वीं-12वीं परीक्षा का टाइम टेबल
इस साल स्कूल नहीं खुलेंगे तो बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया
विधायक कमलनाथ और सांसद नकुल नाथ लापता, छिंदवाड़ा में पोस्टर लगे
मध्य प्रदेश: RED ZONE में सरकारी एवं प्राइवेट कर्मचारियों के लिए गाइडलाइन
ग्वालियर से नवविवाहिता का अपहरण, करैरा में गैंगेरेप
सिंधिया के समर्थन में इस्तीफा देने वाले विधायकों के टिकट खतरे में
जब बिजली को स्टोर नहीं किया जा सकता तो फिर सरकार SAVE ELECTRICITY क्यों कहती है
OMG! सूरज कमजोर पड़ रहा है, यह कितना भयानक हो सकता है
PoK को लेकर तनाव शुरू, पाकिस्तान ने कदम उठा लिया, अब भारत की बारी है


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here