Loading...    
   


तुम डेढ़ साल तक रोते रहे, हमने डेढ महीने में कर दिखाया: शिवराज सिंह का कमलनाथ को जवाब / MP NEWS

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि डेढ साल बाद मध्यप्रदेश के गरीब, किसान और मजदूर का फिर से भाग्य उदय हुआ है। कांग्रेस के मात्र डेढ साल के शासनकाल में गरीब की सुविधाएं चुन चुनकर छीन ली गयी और उसे दर दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर किया गया। कांग्रेस सरकार एक तरफ खजाना खाली होने का रोना रोती रही और दूसरी तरफ एकमात्र लूट खसोट के एजेंडे पर काम करती रही। 

गरीब जनता की पढाई, लिखाई, दवाई सब बर्बाद कर दी गयी लेकिन डेढ साल बाद प्रदेश ने फिर करवट बदली है और मात्र डेढ महीने में हमने जनता और प्रदेश के हित में ताबड़तोड़ निर्णय किए है। न सिर्फ निर्णय किए है बल्कि उन निर्णयों पर अमल करने के लिए 16489 करोड़ की पर्याप्त धनराशि भी त्वरित गति से आवंटित की है। आज प्रदेश के लोगों में फिर से आत्मविश्वास की लहर जागी है। कोरोना संकट में भी मध्यप्रदेश के नागरिक उम्मीदों से भरे हुए है।

कमलनाथ सरकार ने संबल योजना को किनारे करके महापाप किया था: शिवराज सिंह

श्री चौहान ने कहा कि भाजपा की सरकार गरीब, किसान, श्रमिक तथा अन्य सभी प्रकार के कमजोर वर्गों का हित करने वाली सरकार है। यह हमने मात्र डेढ महीने में फिर से सिद्ध किया है। कांग्रेस की सरकार ने गरीबों का समग्र कल्याण करने वाली संबल योजना को किनारे करके महापाप किया था। गरीबों की दवाई, बेटा बेटियों की पढाई सबके उपर काले बादल छा गए थे। लेकिन अब चिंता की कोई बात नहीं है। हमने संबल सहित सभी कल्याण की योजनाओं को प्रारंभ किया है। मंडी एक्ट और श्रम कानून में सुधार करके मध्यप्रदेश के सुनहरे भविष्य की नई इबारत लिखी है।

डेढ़ महीने में 16000 करोड़ कहां खर्च किए, शिवराज सिंह ने विस्तार से बताया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि हमारी सरकार ने विगत 1.5 माह में लगभग 16 हज़ार 489 करोड़ की सहायता गरीब भाई-बहनो, किसानो, श्रमिकों को दी है स सरकार ने विभिन्न योजनाओं अंतर्गत 6 हजार 489 करोड़ रुपये और गेंहू के उपार्जन के 10 हजार करोड़ रुपये गरीब भाई-बहनो, श्रमिकों और किसानो के खातों में सीधे पहुंचाए है जिससे इन वर्गो को कोरोना संकट के दौरान आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े स 15 लाख किसानों के खातों में फसल बीमा योजना की 2 हजार 9 सौ 90 करोड़ की राशि ट्रांसफर किए गई। उन्होने बताया कि कोरोना संकट के बावजूद किसानों से गेहूँ उपार्जन की उत्कृष्ट व्यवस्था की 12 लाख 61 हजार किसानों से 87 लाख 43 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीदा गया। उपार्जित गेहूं के विरूद्व किसानों को अब तक 10 हजार करोड़ का भुगतान उनके खातों मे किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अंतर्गत 1 लाख 78 हजार 417 हितग्राहियों के 451 करोड़, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अंतर्गत 8 हजार 241 हितग्राहियों को 82 करोड़ 41 लाख, और संबल योजना में 1963 हितग्रहियों को 41 करोड़ 33 लाख ट्रांसफर किये गये।

भाजपा सरकार ने सहारिया, बैगा एवं भारिया महिलाओं को आहार अनुदान योजना अंतर्गत् 2 लाख 26 हजार 362 हितग्राहियों को 44 करोड़ 60 लाख तथा 8.85 लाख निर्माण श्रमिकों के खातों में 177 करोड़ रूपये ट्रांसफार किये गये। राज्य के बाहर फंसे 1 लाख 31 हजार श्रमिकों को 13 करोड़ 10 लाख की राशि ट्रांसफर की गई। समाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं के अंतर्गत् 46 लाख हितग्राहियों को 562 करोड़ की राशि अंतरित की गई।

श्री चौहान ने बताया कि मध्यान्ह भोजन योजना में 87 लाख बच्चों के अभिभावकों के खातों में 117 करोड़, 2 लाख 10 हजार रसोईयों को 42 करोड़ की राशि दी गई है। विभिन्न छात्रवृत्तियों के अंतर्गत 52 लाख हितग्राहियों के खातें में 430 करोड़ की राशि ट्रांसफर की गई। गौ-शाला में चना, भूसा आपूर्ति के लिए 29 करोड़ 85 लाख, पंच परमेश्वर योजना के अंतग्रत् जिलों में राहत एवं अन्य वयवस्था के लिए 156 करोड की राशि दी गई। प्रधानमंत्री किसान मान धन योजना के अंतर्गत 68 लाख 13 हजार किसानों को 1 हजार 3 सौ 62 करोड़ 60 लाख रू की राशि दी गई।

17 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

कांग्रेस की गोपनीय लिस्ट ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास पहुंच गई 
टॉयलेट के तुरंत बाद पानी पीना चाहिए या नहीं, पढ़िए 
शादी के लिए जाति, धर्म या पहचान छुपाने वाले के खिलाफ क्या कार्रवाई होती है
महिलाएं आटा गूंथने के बाद उस पर उंगलियों से निशान क्यों बनाती हैं, जानिए रहस्य की बात 
भारत में परमाणु बम का कोड और हमले का अधिकार किसके पास होता है
CAR जैसे हैंडब्रेक ट्रेन में क्यों नहीं होते, एक्सीडेंट क्यों हो जाता है 
मध्यप्रदेश में 10वीं को जनरल प्रमोशन, 12वीं की परीक्षा होगी
गर्भपात के दौरान यदि महिला की मृत्यु हो गई तो जेल कौन जाएगा डॉक्टर या पति
ऑनलाइन पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते समय क्या करें और क्या नहीं करें
मध्य प्रदेश: 24 सीटों पर चुनाव से पहले भाजपा में बगावत की सुगबुगाहट
कानून में संशोधन के बाद गर्भपात कब-कब अपराध की श्रेणी में आता है, जानिए 
नए टू व्हीलर्स की हेडलाइट हमेशा ऑन क्यों रहती है
चक्रवाती तूफान #अम्फान उम्मीद से ज्यादा भयानक हो गया, 3 दिन में टकराएगा
इस साल स्कूल नहीं खुलेंगे तो बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया
YES BANK: मात्र ₹1 लाख की FD पर, सबसे ज्यादा ब्याज और कोरोना इंश्योरेंस फ्री
एक साथ कई कामों में लगाए गए शिक्षक, अर्जित अवकाश देने की मांग


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here