Loading...    
   


लॉक डाउन 4.0 भोपाल में क्या कर सकते है क्या नहीं पढ़िए / BHOPAL NEWS

भोपाल। भोपाल में कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने शहर के छह सेक्टर में जरूरी शर्तों के साथ छूट दी है, एक सेक्टर का व्यक्ति दूसरे सेक्टर में नहीं जा सकेगा,जबकि जहांगीराबाद, ऐशबाग, अशोका गार्डन, मंगलवारा, तलैया समेत अन्य हॉटस्पॉट वाले इलाकों में टोटल लॉकडाउन लागू रहेगा। सिर्फ इमरजेंसी में अस्पताल जाने की छूट दी जाएगी। कंटेनमेंट जोन के बाहर और गोविंदपुरा क्षेत्र की इंडस्ट्री को 50 फीसदी स्टाफ के साथ खोलने की अनुमति दी गई है। रजिस्ट्री दफ्तर खुलेंगे, एक रजिस्ट्री में 20 से 25 मिनट का समय लगेगा।    

कंटेनमेंट जोन के बाहर प्राइवेट दफ्तर 33 फीसदी के साथ प्राइवेट और सरकारी दफ्तर खोलने की अनुमति दी जा सकती है, लेकिन कंटेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों को दफ्तर आने की अनुमति नहीं रहेगी। इन सेक्टरों में इंफ्रास्ट्रक्चर, कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी की अनुमति दी जाएगी। इसमें सीपीए, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी और निजी बिल्डर्स को पुराने प्रोजेक्ट को पूरा करने की अनुमति दी जाएगी। हालांकि इसके लिए शासन द्वारा तय की गई शर्तें लागू रहेंगी। मजदूरों को कंस्ट्रक्शन साइट पर रहकर काम करना होगा। यहां से दूसरी जगह जाने की अनुमति नहीं रहेगी। 

सभी सेक्टरों में इंडस्ट्री खोलने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन 50 फीसदी स्टॉफ के साथ। छह सेक्टरों में कंटेनमेंट जोन के बाद वाहन सुधारने और पार्टस की दुकानों को एसडीएम की अनुमति के आधार पर खोला जाएगा। सीपीए, नगर निगम को पानी की सप्लाई, सीवेज, पेंचवर्क, पार्क और गार्डन का मेंटेनेंस की अनुमति देने की योजना है।  कर्मचारी और मजदूरों को उस सेक्टर का रहवासी होना अनिवार्य है। संबंधित सेक्टर के बाहर के किसी भी कर्मचारी या मजदूर को संबंधित सेक्टर में जाने की रोक रहेगी। सेक्टर में काम करने वाले हर कर्मचारी और मजदूर को अपना वोटर आईडी और पहचान पत्र रखना अनिवार्य होगा। पुलिस द्वारा पूछताछ किए जाने पर बताना होगा।

हॉट स्पॉट क्षेत्र में रहने वाले लोगों को ग्रीन जोन वाले क्षेत्रों में जाने की अनुमति नहीं होगी और 6 सेक्टर में रहने वाले लोग हॉट स्पॉट और कंटेनमेंट क्षेत्र में नहीं जा सकेंगे। ऐसा यदि कोई करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

लॉक डाउन 4.0 में यह पूर्ण प्रतिबंधित

सार्वजनिक स्थलों पर थूकने, शराब, पान, गुटखा, तंबाकू सेवन प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट जोन में बिना अनुमति के ओपीडी एवं क्लीनिक संचालन पर रोक रहेगी। सभी स्कूल, कॉलेज, शिक्षण-प्रशिक्षण और कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्पोर्ट्स कंपलेक्स, स्विमिंग पूल, पार्क, होटल, स्पा और सलून भी नहीं खोले जाएंगे। समस्त धार्मिक, सामाजिक, राजनैतिक, खेल, शैक्षणिक और धार्मिक समारोह पर पहले की तरह प्रतिबंध रहेगा। सभी लोक परिवहन सेवाएं जिसमें निजी बसें, टैक्सी, ऑटो, ई-रिक्शा, अंतर जिला बस सेवा, रेल आदि भी बंद रहेंगे। जिले में टोटल लॉकडाउन जारी रहेगा, किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। जिले की सभी सीमाएं सील रहेंगी, आवागमन भी प्रतिबंधित रहेगा।       

इमरजेंसी सेवाओं पर रहेगी छूट, समस्त शासकीय, अर्द्धशासकीय कार्यालयों में अधिकतम 33% स्टाफ की उपस्थिति के साथ संचालन की अनुमति, लेकिन कंटेनमेंट जोन के अंतर्गत आने वाले स्टाफ को कार्यालय में जाने की अनुमति नहीं। कंटेनमेंट जोन के बाहर निर्माण कार्य जिसमें कार्यस्थल पर ही श्रमिक उपलब्ध हों। घर पर शादी/ विवाह समारोह होने पर अधिकतम 10 व्यक्तियों की उपस्थिति में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के आदेश दिए गए हैं। अंतिम संस्कार में अधिकतम 10 व्यक्तियों की उपस्थिति में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा। अति आवश्यक परिस्थितियों में उपयोग होने वाले प्रत्येक ट्रक में दो चालक एवं एक हेल्पर की अनुमति रहेगी।

प्रत्येक निजी फोर व्हीलर गाड़ी में चालक एवं अधिकतम दो व्यक्ति एवं प्रत्येक टू व्हीलर में केवल चालक की अनुमति रहेगी। होम डिलीवरी वाली स्टेशनरी दुकान, कूलर, फ्रिज, एसी, पंखा की दुकानें खोलने की अनुमति रहेगी। ऑप्टीशियन की दुकान जो डॉक्टर के परामर्श से चश्मे का ग्लास, फ्रेम आदि बदलने के लिए खोलने की अनुमति रहेगी। शहरी क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर समस्त रहवासी इलाके के अंदर स्थित दुकानें खोलने की अनुमति रहेगी। ग्रामीण क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर समस्त दुकानें खोलने की अनुमति रहेगी।

इन विभागों पर प्रतिबंध नहीं 

राजस्व, स्वास्थ्य, पुलिस, विद्युत, दूरसंचार, नगर पालिका, पंचायत, नगर सैनिक, आपदा प्रबंधन, पेयजल, प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, टेलीकॉम, इंटरनेट, पोस्टल सेवाएं कार्यालयों के लेखा शाखा भुगतान, बैंक और एटीएम वाहन प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।  
नगर निगम द्वारा खाना वितरण प्रणाली, किराने की होम डिलीवरी, सांची पार्लर में किराना खाद्य पदार्थ रखने एवं विक्रय नगर निगम द्वारा सब्जी, फल, किराना की होम डिलीवरी टोकन प्रणाली के आधार पर होगी, रेडी टू ईट वस्तुओं की होम डिलीवरी, बेकरी/ बैक्ड वस्तुओं की पार्सल या होम डिलीवरी सेवा प्रदान करने वाली दुकानें खुली रहने की अनुमति रहेगी।
दीनदयाल अंत्योदय कम्युनिटी किचन, होम डिलीवरी /होम टिफिन वाले होटल, पेट्रोल पंप, एलपीजी गैस कंपनी के डिपो से गैस सिलेंडरों की आपूर्ति, सुबह 6:30 बजे से 9:30 बजे तक घर-घर जाकर दूध बांटने वाले और न्यूज़पेपर हॉकर प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे।               

यह आवश्यकरूप से अनिवार्य

वोटर आईडी रखना अनिवार्य।
समस्त सार्वजनिक स्थलों पर फेस मास्क /फेस कवर पहनना।
सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन।
इमरजेंसी ड्यूटी वाले शासकीय कर्मचारियों को आईडी कार्ड रखना अनिवार्य होगा। 
मेडिकल इमरजेंसी, मृत्यु और अतिआवश्यक सेवाओं की आपूर्ति के लिए जिले से ई-पास के बिना आवागमन प्रतिबंधित रहेगा।

प्रशासन भोपाल इन 6 भागों  में बांटा 


कोलार - कोलार गेस्ट हाउस, बंसल अस्पताल चौराहा से कालापानी। हबीबगंज अंडरब्रिज से बावड़ियाकलां ब्रिज तक।

होशंगाबाद रोड- आईएसबीटी से मिसरोद थाना समरधा तक (बागसेवनिया लहारपुर जाटखेड़ी जाने, एम्स की कनेक्टिंग रोड को छोड़कर )

रातीबड़-सूरज नगर तिराहे से रातीबड़ थाने की सीमा तक

गोविंदपुरा एरिया-रायसेन रोड, निजामुद्दीन रोड, अयोध्या बायपास रोड से करारिया गांव तक

बीएचईएल क्षेत्र- कस्तूरबा अस्पताल से बीएचईएल कॉलोनी होते हुए पटेल नगर तक (नेहरु नगर, पीपलानी थाने के पीछे को छोड़कर )

बैरागढ़-लालघाटी से खजूरी थाने तक
 शर्तें लागू...  एक सेक्टर का व्यक्ति दूसरे सेक्टर में नहीं जा सकेगा


18 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

कांग्रेस की गोपनीय लिस्ट ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास पहुंच गई
गर्भपात के दौरान यदि महिला की मृत्यु हो गई तो जेल कौन जाएगा डॉक्टर या पति
भारत में परमाणु बम का कोड और हमले का अधिकार किसके पास होता है
इस साल स्कूल नहीं खुलेंगे तो बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया
सीबीएसई 10वीं-12वीं परीक्षा का टाइम टेबल / CBSE 10th-12th BOARD EXAM TIME TABLE
मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं होगा, IAS अफसरों को मंत्री जैसे अधिकार दे दिए
तुम डेढ़ साल तक रोते रहे, हमने डेढ महीने में कर दिखाया: शिवराज सिंह का कमलनाथ को जवाब
कंप्यूटर को टीवी की तरह डायरेक्ट स्विच ऑफ क्यों नहीं कर सकते
टॉयलेट के तुरंत बाद पानी पीना चाहिए या नहीं, पढ़िए
मध्यप्रदेश में गांव-गांव तक कोरोना: 13 जिलों में 50 से ज्यादा, 22 जिलों में 10 से ज्यादा
जबलपुर में भाजपा नेता की अवैध खदान पर रेड, 5 हाईवा 1 पोकलेन और एक JCB मशीन जप्त
ग्वालियर के प्राइवेट डॉक्टरों पर पाबंदी, सर्दी-जुकाम का इलाज नहीं करेंगे
महिलाएं आटा गूंथने के बाद उस पर उंगलियों से निशान क्यों बनाती हैं, जानिए रहस्य की बात 
मनमाने बिजली बिल के मामले में चुप नहीं बैठूंगा: कमलनाथ


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here