Loading...    
   


लॉकडाउन: लोगों में चिड़चिड़ापन बढ़ रहा है, 30 प्रतिशत लोग ज्यादा तनाव में | NATIONAL NEWS

लॉकडाउन की अवधि बढ़ने के साथ ही लोगों का तनाव, आर्थिक चिंता, घबराहट और फ्रीडम न मिलने से परेशानियां बढ़ रही हैं। इसके लिए वे मनोचिकित्सक से ऑनलाइन सलाह और काउंसिलिंग ले रहे हैं। सामान्य दिनों में 10 से 12 लोगों की काउंसिलिंग करने वाले चिकित्सकों का कहना है कि लॉकडाउन के दौरान यह संख्या बढ़कर 20 से 25 तक पहुंच गई हैं। घर में बंद लोग सबसे ज्यादा बिजनेस और नौकरी की परेशान सता रही है।

व्यापारी और प्रोफेशनल्स पुरुषों को भविष्य की चिंता सताने लगी है

लॉकडाउन में परिवार के साथ कुछ हंसी खुशी पल बिताने के बाद लोगों को अब कल की चिंता सता रही हैं। मनोचिकित्सकों का कहना है कि सामान्य दिनों की अपेक्षा लॉकडाउन में 30 से 40 फीसद लोग ज्यादा तनाव में हैं। उनमें चिड़चिड़ापन घबराहट, बोरियत और खुद को असहाय समझने की प्रवृत्ति बढ़ रही हैं। पिछले दस दिन के आंकड़े बताते हैं कि पुरुष 20 से 25 फीसद, महिलाएं 15 फीसद और बच्चों में 25 से 30 फीसद तनाव बढ़ा हैं। सभी के कारण अलग-अलग हैं।

इनका कहना है

लोगों की सामाजिक गतिविधियां खत्म हो गई हैं। एक दूसरे से बातचीत और मिलने-जुलने का दायरा भी सिमट गया हैं। ऐसे में 18 से 45 आयु वर्ग के लोगों में सबसे ज्यादा तनाव बढ रहा हैं। - डा. सम्यक जैन, मनोरोग विशेषज्ञ, मेरठ उत्तरप्रदेश

पुरुष आर्थिक कारण, बच्चे और महिलाएं फ्रीडम न मिलने के कारण अधिक परेशान हैं। इस समय पुरुषों में तनाव के केस की संख्या पहले की तुलना में 30 फीसद तक बढ़े हैं। - डा. कशिका जैन, मनोवैज्ञानिक

किस तरह की परेशानियां आ रहीं हैं

- कुछ बुरा होने की आशंका में नींद न आना।
- पुरानी यादों को याद कर भावुक होना।
- बार-बार खाने की इच्छा होना।
- किसी भी काम में मन न लगना।
- सिरदर्द, चिड़चिड़ापन, घबराहट और रोना आना।

प्रतिदिन केस के आंकड़े

- घबराहट और बेचैनी - 10 से 15
- चिड़चिड़ापन और झुंझलाहट - 8 से 10
- झगड़ालू प्रवृत्ति का बढ़ना या घुटन- 5 से 10
- किसी एक काम को बार-बार करने की प्रवृत्ति (ओसीडी) - 2 से 5

10 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

पत्नी को धर्मपत्नी क्यों कहते हैं, क्या कोई लॉजिक है या बस मान-सम्मान के लिए 
यदि एस्ट्रोनॉट अंतरिक्ष में अपने साथी पर गोली चलाए तो क्या होगा, पढ़िए 
कोर्ट में गीता पर हाथ रखकर कसम क्यों खिलाते थे, रामायण पर क्यों नहीं है
सांसदों की तरह मध्य प्रदेश में विधायकों की विधायक निधि बंद होगी: सीएम शिवराज सिंह
शिवराज के लिए सिरदर्द कम नहीं: COVID-19 के बाद CABINET-26
मध्यप्रदेश में ESMA लागू, पढ़िए आम जनता को इससे क्या फायदा होगा
लॉकडाउन के संदर्भ CM शिवराज की टेबल पर सुलेमान कमेटी की रिपोर्ट
भोपाल में टोटल लॉकडाउन की अवधि बढ़ी 
भाजपा नेता को धक्का देने वाले ADM सस्पेंड, संकट प्रबंधन समूह मीटिंग में हुआ था विवाद
समग्र पोर्टल में दर्ज सभी हितग्राहियों को निशुल्क राशन मिलेगा 
युवक की मौत के बाद आई रिपोर्ट, पॉजिटिव था
ग्वालियर बाजार अब 3 पार्ट में खोलने की तैयारी 
वेंटिलेटर क्या होता है, क्या इससे कोरोना वायरस मर जाता है
हाई कोर्ट में वकील ने जज को कोरोना संक्रमित होने का श्राप दे डाला
लॉकडाउन के बावजूद छिंदवाड़ा में मस्जिद में नमाज पढ़ते सरपंच सहित 40 गिरफ्तार
सीएम शिवराज सिंह ने IIFA-2020 की राशि कोरोना कंट्रोल के लिए मांगी
मध्य प्रदेश के 20 जिलों में संक्रमण, 40 नए पॉजिटिव, 37 स्वस्थ हुए 
लॉकडाउन में आने-जाने के लिए ई-पास यहां से प्राप्त करें 
मुस्लिम समाज में मृत्यु दर में चौंकाने वाली वृद्धि, भोपाल में 2 गुना 
भोपाल में मोबाइल स्विच ऑफ करके घूमते थे तबलीगी जमात के लोग 
कीबोर्ड के बटन ABCD (अल्फाबेटिकल) क्यों नहीं होते, क्या कोई रीजन है या गलती
शिवराज सिंह ने दिग्विजय सिंह और कमलनाथ से साथ मिलकर काम करने की अपील की


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here