Loading...    
   


हाई कोर्ट में वकील ने जज को कोरोना संक्रमित होने का श्राप दे डाला | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। क्या यह लॉक डाउन का तनाव था या कुछ और लेकिन कोलकाता हाईकोर्ट से एक अजीब सी खबर आ रही है। हाईकोर्ट में एक वकील ने जज को कोरोनावायरस से संक्रमित हो जाने का श्राप दे दिया। गुस्साए जज ने वकील के खिलाफ न्यायालय की अवमानना का केस चलाने की सिफारिश की है। दरअसल वकील एक फैसले से नाराज था।

जज को वकील ने दिया अभिशाप

कोरोना वायरस के कारण कलकत्ता हाईकोर्ट में 15 मार्च से सिर्फ अहम मामलों की ही सुनवाई हो रही है। 25 मार्च से वीडियो कॉंफ्रेंसिंग के माध्यम से जरूरी केस का निबटारा किया जा रहा है। अति आवश्यक मामले को बताते हुए वकील बिजॉय अधिकारी ने जस्टिस दत्ता की कोर्ट का रुख किया था। वकील ने अपने मुवक्किल की बस की नीलामी पर रोक लगाए जाने की मांग की। बैंक लोन की अदायगी में विफल रहने पर बस की नीलामी करने जा रहा था। वकील की दलील थी कि 15 जनवरी को बस जब्त कर लिया गया है। उन्होंने बैंक की कार्यवाही पर रोक लगाने की मांग की मगर कोर्ट ने केस की फौरन सुनवाई करने से इंकार कर दिया। जिससे नाराज वकील ने जज को कोरोना से संक्रमित होने का अभिशाप दिया। 

कोरोना से संक्रमित होने की कामना

जज ने लिखा कि अधिकारी को मना करने के बावजूद कि उन्हें अपने भविष्य की चिंता नहीं है और ना ही उन्हें कोरोना वायरस से संक्रमित होने का खौफ। मगर इसके बावजूद उन्होंने अदालती कार्यवाही में बाधा डालने की कोशिश की। कई बार वकील के व्यवहार पर उन्होंने लताड भी लगाई। मगर उन्होंने चेतावनी को नजर अंदाज कर दिया। लिहाजा वकील को अदालत की अवमानना का नोटिस जारी किया। साथ ही ये भी आदेश दिया कि नोटिस के मिलने के एक पखवाड़े के अंदर जवाब तलब किया जाए। जस्टिस दत्ता ने कहा कि कोर्ट खुलने के बाद अवमानना मामले की डिविजन बेंच सुनवाई करे।

10 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

पत्नी को धर्मपत्नी क्यों कहते हैं, क्या कोई लॉजिक है या बस मान-सम्मान के लिए 
यदि एस्ट्रोनॉट अंतरिक्ष में अपने साथी पर गोली चलाए तो क्या होगा, पढ़िए 
जबलपुर में कोकिला रिसोर्ट सहित तीन होटल डॉक्टर्स और नर्सों के लिए अधिग्रहित 
छिंदवाड़ा में पहचान छुपा कर रह रहे थे चार जमाती
भोपाल में AIIMS के 2 डॉक्टरों को पुलिस ने पीटा, एक आरक्षक लाइन अटैच 
मध्य प्रदेश के 15 जिलों में 46 इलाके हॉटस्पॉट: जहां आना-जाना प्रतिबंध
कोर्ट में गीता पर हाथ रखकर कसम क्यों खिलाते थे, रामायण पर क्यों नहीं है
सांसदों की तरह मध्य प्रदेश में विधायकों की विधायक निधि बंद होगी: सीएम शिवराज सिंह
शिवराज के लिए सिरदर्द कम नहीं: COVID-19 के बाद CABINET-26
मध्यप्रदेश में ESMA लागू, पढ़िए आम जनता को इससे क्या फायदा होगा
लॉकडाउन के संदर्भ CM शिवराज की टेबल पर सुलेमान कमेटी की रिपोर्ट


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here