Loading...    
   


लॉकडाउन में अहमदाबाद से पैदल-पैदल इंदौर पहुंचे 20 लोग / INDORE NEWS

इंदौर। लॉकडाउन के एक महीने बाद भी मजदूरों का पलायन जारी है। उनका कहना है कि वे एक महीने तक राशन की व्यवस्था कर रुके हुए थे, लेकिन अब संबल टूट रहा है। इसके चलते कई मजदूरों ने कूच कर दिया है। सोमवार को 20 से ज्यादा मजदूर अहमदाबाद से निकले और पैदल-पैदल इंदौर के नावदा पंथ पहुंच गए। यहां उनका सब्र टूट गया, क्योंकि वे काफी पैदल चल चुके थे। इसलिए अब वे किसी जुगाड़ से यूपी जाना चाहते हैं।

जानकारी के अनुसार 20 लोगों का एक झुंड नावदा के पास पहुंचा है। ये सभी मजदूर हैं, जिसमें महिला और बच्चे भी शामिल हैं। मजदूरों का कहना है कि उन्होंने लॉकडाउन की घोषणा के हिसाब से एक महीने का राशन इकट्ठा कर लिया था, लेकिन 25 दिन बाद उन्हें लगा कि अब आगे की व्यवस्था नहीं होगी तो वे चल दिए। वे हफ्तेभर में यहां पहुंचे हैं।  

हालांकि कुछ लोगों ने उन्हें इंदौर के राधास्वामी आश्रम में रुकने को कहा है। बोला गया है कि आसपास के कई जगहों के मजदूर वहीं रुके हुए हैं। वहां आश्रम में प्रशासन की तरफ से सभी को निःशुल्क भोजन दिया जा रहा है। लोगों ने मजदूरों को कहा है कि वैसे भी शहर से कई लोग पलायन कर चुके हैं। ऐसे में शहर खुलते ही मजदूरों की जरूरत लगेगी। यहीं, रुको तो जल्दी काम भी मिल जाएगा। फिर अपनी व्यवस्था देख लेना। हालांकि अभी वे नावदा क्षेत्र में रुके हैं। 


27 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़ी जा रहीं खबरें

कार की स्टीयरिंग बीच सेंटर में क्यों नहीं होती, साइड क्यों होती है
SC-ST के धनाढ्य लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिलना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट 
ब्रेकिंग! भिड़े की बेटी सोनू का अफेयर टप्पू से नहीं गोली से चल रहा है! 
क्या LAPTOP को बिस्तर पर रखकर चलाने से वह जल्दी खराब हो जाता है, यहां पढ़िए
SR25 ASHA CONFECTIONARY की महंगी कार का तमाशा बन गया, उठक-बैठक लगानी पड़ी
ग्वालियर 10 मंजिला एमके सिटी में आग, लोग चौथी मंजिल से कूदे, बिल्डर गिरफ्तार, मामला दर्ज 
मध्य प्रदेश: कोरोना 2000 के पार, 145 नए पॉजिटिव, 100 से ज्यादा मौतें 
SLAP KINGS बना दुनिया का सबसे लोकप्रिय मोबाइल गेम, PUBG और Call Of Duty को पीछे छोड़ा
yesterday और tomorrow को हिंदी में 'कल' क्यों बोलते हैं, दो अलग-अलग शब्द क्यों नहीं 
मध्य प्रदेश के कई इलाकों में आंधी-बारिश, उमरिया में बिजली गिरी, 4 मरे 
ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंज से SDM नाराज, पटवारी को सस्पेंड किया 
रेलवे स्टेशन और रेलवे जंक्शन में क्या अंतर है, एक स्टेशन कब जंक्शन बन जाता है 
भोपाल में नए 36 जमाती कोरोना पॉजिटिव, हज हाउस में क्वॉरेंटाइन थे 
श्योपुर में सुलग रही है किसान आंदोलन की चिंगारी, कमलनाथ ने आवाज उठाई 
नेत्रहीन पीड़िता ने आवाज सुनते ही रेप के आरोपी को पहचान लिया 


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here