Loading...    
   


Good Job: मप्र विधानसभा के प्रमुख सचिव एवं ANI पत्रकार ने सेल्फ क्वॉरेंटाइन लिया | BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने खुद को होम क्वॉरेंटाइन कर लिया है। उन्होंने बताया कि 20 मार्च को पत्रकार श्री केके सक्सेना विधानसभा में भी आए थे। इसलिए एहतियात के तौर पर उन्होंने खुद को होम क्वॉरेंटाइन कर लिया है। यह एक अच्छी पहल है। भोपाल के पत्रकारों का कहना है कि यदि श्री केके सक्सेना भी ऐसा कर लेते तो आज यह स्थिति उपस्थित नहीं होती।

पत्रकारों एवं अधिकारियों से अपील, एहतियात बरतें

प्रमुख सचिव एपी सिंह ने सभी पत्रकारों एवं अधिकारियों से अपील की है कि वो भी एहतियात बरतें। यदि जरूरी हो तो डॉक्टर से संपर्क करें एवं यदि संभव हो तो खुद को होम क्वॉरेंटाइन कर लें। प्रशासन के प्रति लोगों में नाराजगी है। लोगों का कहना है कि जब एक लड़की में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाया गया था तो उसके पूरे परिवार को आइसोलेशन में क्यों नहीं लिया गया। इस तनाव के बीच एक सुखद खबर यह है कि पत्रकार श्री केके सक्सेना की पत्नी एवं अन्य लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

एएनआई पत्रकार संदीप सिंह ने भी खुद को होम क्वॉरेंटाइन किया

एएनआई के पत्रकार श्री संदीप सिंह ने भी खुद को होम क्वॉरेंटाइन कर लिया है। उन्होंने लिखा है कि 'दोस्तों भोपाल के एक पत्रकार के करोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद मैंने खुद को परिवार से अलग सेल्फ क्वॉरेंटाइन कर लिया है, अपने परिवार की सलामती के लिए आप सभी भी एहतियात बरतें। भोपाल के साथी पत्रकार व दिल्ली से आए सभी पत्रकार मित्र भी। सावधानी ही बचाव है।

25 मार्च को सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबरें

No Corona village: पंचायत ने इस तरह से गांव की सीमाएं सील कर दी
जयारोग्य हॉस्पिटल में कोरोना पॉजीटिव 3 दिन भटकाया, अब पत्नी को भर्ती करने की नौबत
सलाहकार मिगलानी के बाद कमलनाथ भी होम आइसोलेशन में 
मप्र कांग्रेस के 92 विधायकों पर कोरोना वायरस का खतरा! 
भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार कोरोना पॉजिटिव पाए गए, कमलनाथ की प्रेस कांफ्रेंस में शामिल थे
कमिश्नर कोष एवं लेखा द्वारा मार्च 2020 के देयक के संदर्भ में जरूरी सूचना
शिवराज सिंह की चार पारियां: दो बार जुगाड़ से दो बार चुनाव से 
मध्य प्रदेश कोरोना: इंदौर में 4, उज्जैन में 1 नए मरीज, कुल 6 जिले 14 लोग संक्रमित
जबलपुर में कर्फ्यू फेल, बाजार में भारी भीड़
जींस में छोटी जेब क्यों होती है, कोई बड़ा कारण है या बस डिजाइन
अतिथि विद्वानों ने कहा: कोरोना कंट्रोल के लिए हम बिना वेतन सेवा देने को तैयार
मध्य प्रदेश के 23000 पंचायत सचिवों ने कोरोना कंट्रोल के लिए 5 करोड रुपए दान किए
शिवराज सिंह ने कमलनाथ के दर्जन भर नजदीकी नेताओं को सड़क पर ला दिया


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here