Loading...    
   


CORONA UPDATE: इंदौर में फिर 4 नए पॉजिटिव, उज्जैन में एक, TOTAL: INDORE 20, MP 39

इंदौर। इंदौर के हालात नियंत्रण से बाहर होते जा रहे हैं। इंदौर शहर में मरीजों की संख्या यहां उपलब्ध कुल वेंटिलेटर से ज्यादा होने वाली है। शनिवार आधी रात के बाद जारी हेल्थ रिपोर्ट में पांच नए पॉजिटिव केस घोषित किए गए। इनमें से चार इंदौर शहर की एवं एक उज्जैन का है। इंदौर और उज्जैन मिलाकर कुल संख्या 24 हो गई है। इसमें से इंदौर 20, उज्जैन 4, मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 39 है। अकेले इंदौर में आधे से ज्यादा मरीज हैं।

रानीपुरा, मुसाखेड़ी और हाथीपाला संक्रमित क्षेत्र, उज्जैन में 17 साल की लड़की

रानीपुरा के दौलतगंज निवासी 40 और 38 वर्षीय पुरुष, मुसाखेड़ी चंद्रपुरी कॉलोनी के 48 वर्षीय पुरूष, हाथीपाला के दौलतगंज में 21 वर्षीय युवक। यह सभी एमआरटीबी अस्पताल में भर्ती है। उज्जैन की 17 वर्षीय युवती वहीं के माधवनगर अस्पताल में भर्ती है।

इंदौर उज्जैन के बाद बड़वानी, शाजापुर और खरगोन के सैंपल आए

शनिवार सात बजे तक कोरोना संदिग्धों के 98 सैंपल एमजीएम मेडिकल की बायरोलॉजी लैब को प्राप्त हुए थे। जिनमें से 79 सैंपल इंदौर के और 19 सैंपल उज्जैन, बड़वानी, शाजापुर और खरगोन के हैं।

MRTB अस्पताल में संदिग्ध मरीज की मौत, डॉक्टरों ने सैंपल तक नहीं लिए थे

एमआरटीबी अस्पताल में इलाज के लिए आए एक मरीज की शनिवार शाम मौत हो गई। स्वजन का आरोप था कि तीन दिन पहले वह सर्दी-खांसी व बुखार की जांच के लिए अस्पताल पहुंचा था, लेकिन वहां से दवाई देकर होम आइसोलेट रहने की सलाह दी गई। शनिवार को गंभीर स्थिति में लेकर पहुंचे तो बचाया नहीं जा सका। स्वजन का कहना था कि मरीज की कोरोना संक्रमण की जांच की जानी थी।

क्वारंटाइन सेंटर में 2/19 की तबीयत खराब

जानकारी के अनुसार नूरानी नगर से नावेद खान को लेकर स्वजन एमआरटीबी अस्पताल पहुंचे थे। गंभीर स्थिति होने के कारण उसका चेकअप किया गया, लेकिन इलाज के दौरान ही उसने दम तोड़ दिया। मरीज के साथ पहुंचे स्वजन ने हंगामा भी किया। इधर, असरावद में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में शुक्रवार को 19 संदिग्ध मरीज को क्वारंटाइन किया गया था। शनिवार सुबह इनमें से दो की तबीयत खराब होने पर जांच की गई। इनमें सर्दी-खांसी सहित कोरोना के लक्षण दिखाई दिए। इसके बाद इन्हें एमटीएच अस्पताल में बने आइसोलेशन सेंटर भेजा गया।

तीन मरीजों की हिस्ट्री पता कर रहा विभाग

स्वास्थ्य विभाग शुक्रवार को मिले तीन पॉजिटिव मरीजों की हिस्ट्री पता कर रहा है। प्रारंभिक जानकारी के बाद तीनों मरीजों के 11 स्वजन को असरावद स्थित सेंटर में रखा गया है। उधर, अरिहंत अस्पताल में भर्ती मरीज का कोई स्वजन सामने नहीं आया।

ट्रेनिंग सेंटर को बनाया जाएगा क्वारंटाइन सेंटर

एमवाय अस्पताल के ट्रेनिंग सेंटर को क्वारंटाइन सेंटर में बदला जाएगा। अभी यहां 50 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। अस्पताल को क्वारंटाइन सेंटर बनाए जाने के लिए डॉक्टरों सहित 20 नर्सिंग स्टाफ की व्यवस्था की गई है। मेडिकल कॉलेज डीन डॉ. ज्योति बिंदल ने बताया कि पॉजिटिव मरीजों का उपचार डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन के अनुसार किया जा रहा है। इसमें टेमीफ्लू दवाई के साथ ही अन्य एंटीबायोटिक का उपयोग किया जा रहा है, ताकि सर्दी-खांसी व बुखार सहित सांस लेने में तकलीफ और अन्य समस्याओं को नियंत्रित किया जा सके। गाइडलाइन के अनुसार हर अस्पताल में इन मरीजों का उपचार किया जा रहा है।

28 मार्च की सबसे ज्यादा पढ़ी गईं खबरें

सर्जरी के बाद डॉक्टर टांका लगाने कौन सा धागा यूज करते हैं 
VVIP कारों की प्लेट पर नंबर क्यों नहीं होते, कोई लॉजिक है या अकड़ दिखाने के लिए, पढ़िए 
CRPC की धारा 144 का उल्लंघन करने पर IPC की धारा 188 के तहत FIR क्यों होती है
MP VIMARSH PORTAL 9th-11th EXAM RESULT DIRECT LINK यहां देखें
31 मार्च को 12000 कर्मचारी रिटायर होंगे, 3500 करोड़ कहां से लाएंगे शिवराज
कोरोना संदिग्ध अधिकारी ने अपनी सारी संपत्ति सरकार के नाम वसीयत कर दी
कर्फ्यू में किराना के बदले दुकानदार ने लड़की का रेप किया
मील के पत्थरों पर अलग-अलग रंग क्यों होता है, कोई संकेत है या पेंटर की मर्जी 
शुक्र ग्रह का वृषभ राशि में गोचर शुरू: पढ़िए आपका राशिफल
BSF का लेफ्टिनेंट कर्नल कोरोना पॉजिटिव
एमपी बोर्ड का नया शिक्षा सत्र 1 जुलाई से शुरू होगा 
'पास आउट' का सही अर्थ, 'अकॉर्डिंग टू मी' का मतलब क्या होता है
शिक्षा विभाग ने कक्षा 1-12 तक के विद्यार्थियों हेतु होमवर्क जारी किया


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here