MP NEWS- क्या चाहती हैं उमा भारती, क्यों खलबली मचा रहीं हैं

भोपाल।
सक्रिय राजनीति से ऐच्छिक सेवानिवृत्ति ले चुकी पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती पिछले कुछ दिनों से राजनीति में काफी सक्रिय हो गई हैं। एक के बाद एक ताबड़तोड़ बयान जारी कर रही हैं। सभी को समझ में आ रहा है कि उमा भारती पार्टी के बड़े नेताओं पर दबाव बना रही है परंतु लोग जानना चाहते हैं कि नेताओं पर दबाव बनाकर उमा भारती क्या प्राप्त करना चाहती हैं। 

पिछली दफा जब उमा भारती ने शराबबंदी के लिए आंदोलन का ऐलान किया तो समाज के सभी प्रबुद्ध नागरिक उमा भारती से सहमत थे। उन्हें उम्मीद थी कि चुनाव में टिकट और पार्टी में पद के मोह से मुक्त हो चुकी साध्वी उमा भारती निश्चित रूप से कुछ अच्छा करेंगी, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक चिंतित हो गए थे परंतु उमा भारती ने अचानक यू-टर्न लिया और आंदोलन को स्थगित कर दिया। अब एक बार फिर उमा भारती ने वही प्रक्रिया शुरू कर दी है परंतु इस बार सबको समझ में आ रहा है कि मध्यप्रदेश में शराबबंदी का आंदोलन तो माध्यम मात्र है, उमा भारती का लक्ष्य कुछ और है। 

पिछले कुछ दिनों से उमा भारती जनता के बजाय केवल पिछड़े वर्ग की राजनीति कर रही हैं। ब्यूरोक्रेसी के बारे में उनके व्यक्तिगत विचार वाला वीडियो वायरल हो गया। उन्होंने माफी मांग ली लेकिन इसी को आधार बनाकर उमा भारती ने नया बयान जारी कर दिया है। उन्होंने भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसरों से अपील की है कि वह निकम्मे सत्तारूढ़ नेताओं से दूर रहें। लोग समझने का प्रयास कर रहे हैं कि उमा भारती के अनुसार मध्य प्रदेश में निकम्मे सत्तारूढ़ नेताओं की लिस्ट में कौन-कौन से नाम आते हैं।

राज्यपाल बनना चाहती हैं उमा भारती 

भाजपा सूत्रों का कहना है कि उमा भारती एक बार फिर सत्ता के गलियारों में प्रतिष्ठित होना चाहती हैं। भोपाल लोकसभा सीट से साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के चुनाव के बाद से ही उमा भारती अपने लिए किसी बड़े सिंहासन की तलाश कर रही हैं। संगठन के एक सूत्र ने बताया कि उमा भारती केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। पहले वह लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती थीं। इस बारे में उन्होंने बयान भी दिए थे परंतु जब गुंजाइश नहीं बनी तो अब उन्होंने नया लक्ष्य निर्धारित किया है। उमा भारती राज्यपाल बनना चाहती हैं। जब तक मनोकामना पूरी नहीं हो जाती तब तक अपनी ही पार्टी के नेताओं के लिए सिरदर्द बनी रहेंगी।

22 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP EMPLOYEES NEWS- प्रमोशन में आरक्षण: मंत्री समूह ने कर्मचारी संगठनों के बीच का रास्ता पूछा
MP TRIBAL स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति के लिए लास्ट डेट
BHOPAL NEWS- 14 ट्रेनें निरस्त, लिस्ट पढ़िए कौन-कौन परेशान होगा
मध्य प्रदेश मानसून- 13 जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी, 6 संभागों में सामान्य वर्षा
MP NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया TEAM के सदस्य रिटायर्ड IAS का हाई वोल्टेज ड्रामा, FIR दर्ज
INDORE NEWS- श्री गणेश प्रतिमाओं का अपमान करने वाले 9 कर्मचारियों के खिलाफ FIR
RGPV NEWS- नियमित पढ़ाई के लिए TED के आदेश जारी
MP NEWS- शिवराज सरकार ने आरक्षण के नाम पर अतिथि शिक्षकों के भविष्य से खिलवाड़ किया है 
MPPSC NOTIFICATION- वेटरनरी असिस्टेंट सर्जन भर्ती हेतु विज्ञापन
MP NEWS- अजय सिंह राहुल, नरोत्तम मिश्रा से मिले, कमलनाथ के ऑफिस में तनाव
MP EMPLOYEE NEWS- कर्मचारी संघ ने प्रदेश स्तरीय आंदोलन की रणनीति बनाई

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindi- किचन में सिर्फ डिनर सेट क्यों होता है, लंच सेट क्यों नहीं होता
GK in Hindiदुर्योधन की पत्नी कौन थी, किसकी पुत्री थी और कैसे विवाह हुआ
GK in Hindiशिवलिंग पर जल क्यों चढ़ाते हैं, कोई वैज्ञानिक कारण है या बस परंपरा
GK in Hindiगेहूं की रोटी में हवा कैसे भर जाती है, ज्वार और मक्का की रोटी में क्यों नहीं भरती
GK in Hindiजब अमेरिका 110V बिजली से जगमगाता है तो भारत में 220V बिजली सप्लाई क्यों की जाती है
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here