अतिथि शिक्षक भर्ती में डबल स्टैंडर्ड, हाईकोर्ट ने कहा निराकरण करो - MP NEWS

जबलपुर
। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने शिक्षा विभाग द्वारा संचालित विद्यालयों में अतिथि शिक्षक की भर्ती में डबल स्टैंडर्ड के खिलाफ दाखिल हुई है कि याचिका का निराकरण करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी जबलपुर को आदेश दिया एक 1 महीने के भीतर याचिकाकर्ता की समस्या का निराकरण किया जाए। 

अतिथि शिक्षक के 3 साल के अनुभव को अमान्य कर दिया

मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक व न्यायमूर्ति विजय कुमार शुक्ला की युगलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। इस दौरान याचिकाकर्ता हाई स्कूल ककरहटा पाटन में अतिथि शिक्षक स्वप्निल रजक की ओर से अधिवक्ता परितोष त्रिवेदी ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि याचिकाकर्ता तीन साल से अतिथि शिक्षक बतौर ईमानदारी से सेवा देता चला आ रहा था। उसके स्थान पर किसी अन्य को अतिथि शिक्षक नियुक्त कर दिया गया है।

अतिथि शिक्षक को अनुभव और मेरिट के बावजूद नियुक्ति नहीं दी

यह रवैया सर्वथा अनुचित है। साथ ही अनुभव की उपेक्षा भी। राज्य शासन के नए दिशा-निर्देशों के तहत पूर्व से कार्यरत अतिथि शिक्षकों को वरीयता देने का प्रावधान है। इसके बावजूद इस नियम की अवहेलना की गई। आश्चर्यजनक तथ्य तो यह है कि मैरिट के बावजूद याचिकाकर्ता को दरकिनार किया गया। 

अतिथि शिक्षक को अनुभव नहीं होने के कारण नियुक्ति नहीं दी

उसने मौजूदा स्कूल के साथ-साथ हाई स्कूल रमखिरया में भी नियुक्ति के लिए आवेदन किया था। वहां भी प्रणीण्य सूची में प्रथम आने के बावजूद नियुक्ति से वंचित किया गया। वहां पहले से पदस्थ अतिथि शिक्षक को वरीयता देते हुए नए आवेदक के रूप में याचिकाकर्ता को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। 

अतिथि शिक्षकों की भर्ती में डबल स्टैंडर्ड क्यों

इस तरह प्रश्न उठता है कि एक ही व्यक्ति के सिलसिले में दो प्राचार्य अलग-अलग निर्णय क्यों ले रहे हैं? हाई कोर्ट ने पूरा मामला समझने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी, जबलपुर को एक माह के भीतर शिकायत दूर करने के निर्देश दे दिए।

11 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- पटवारियों की हड़ताल शुरू, बस्ते जमा कराए
EMPLOYEE NEWS- BHOPAL में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहीं आशा कार्यकर्ताओं को पुलिस उठा ले गई
MPMSU NEWS- मंत्री विश्वास सारंग के बंगले पर स्टूडेंट्स का प्रदर्शन, परीक्षा के लिए भी आंदोलन करना पड़ रहा है
मध्य प्रदेश मानसून- 9 जिलों में भारी बारिश, 4 संभागों में वज्रपात की चेतावनी
MP NEWS- ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ तैयारी कर रहे जयवर्धन सिंह भोपाल में डॉ मिश्रा से मिले
BHOPAL NEWS- पुलिस पेपर चेक करने किसी वाहन को नहीं रोक सकती
MP NEWS- 30 महीने में तो तोता भी सीख जाता है, कमलनाथ जी क्यों नहीं सीखें: डॉ नरोत्तम मिश्रा
MP NEWS- अयोग्य अधिकारियों के कारण हुआ 5341.13 करोड़ का नुकसान जनता से वसूलने की तैयारी
MP COLLEGE ADMISSION- शिक्षा विभाग के इंस्टीट्यूट्स में प्राइवेट स्टूडेंट्स को एडमिशन मिलेगा
MP NEWS- जनता की समस्याओं पर चर्चा के बिना ही विधानसभा सत्र समाप्त
OBC reservation news- आरक्षण पर फैसले के लिए राज्य सरकार स्वतंत्र, संसद में विधेयक पारित

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiपरिक्रमा को इंग्लिश में क्या कहते हैं और हिंदी में इसका अर्थ क्या है
GK in Hindiघी में आग क्यों लग जाती है, दूध में क्यों नहीं लगती
GK in Hindiदुबई के सभी शेख अमीर क्यों होते हैं, कोई कंगाल क्यों नहीं होता
GK in Hindiकुत्ते कार का पीछा क्यों करते हैं, क्या वह कार चोरी की होती है, पढ़िए 4 कारण
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here