MPMSU NEWS- मंत्री विश्वास सारंग के बंगले पर स्टूडेंट्स का प्रदर्शन, परीक्षा के लिए भी आंदोलन करना पड़ रहा है

भोपाल
। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड भोपाल की तरह Madhya Pradesh Medical Science University, Jabalpur की परीक्षाएं बार-बार स्थगित की जा रही है। इससे परेशान विद्यार्थियों ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग के बंगले पर पहुंचकर प्रदर्शन किया एवं याद दिलाया कि चिकित्सा शिक्षा का प्रबंधन उनकी मूल जिम्मेदारी है। समय पर परीक्षाओं का आयोजन सुनिश्चित करें।

2019 में एडमिशन लिया था आज तक परीक्षा नहीं हुई

प्रदर्शनकारी स्टूडेंट्स का कहना था कि वे फ्री में पास होना नहीं चाहते। विश्वविद्यालय या तो परीक्षा कराए या फिर इंटरनल मार्कस के आधार पर पास करे, ताकि उनकी पढ़ाई सार्थक हो सके। स्टूडेंट्स प्रवीण ने बताया कि पैरामेडिकल कॉलेजों (मध्यप्रदेश मेडिकल साइंस यूनिवर्सिटी, जबलपुर) में अध्ययरत छात्रों ने वर्ष 2019 में एडमिशन लिया था। कुछ महीने बाद से ही कोविड-19 महामारी के कारण संबद्ध विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षा आयोजित नहीं की गई।

मेडिकल यूनिवर्सिटी हर बार परीक्षा की तारीख घोषित करके रद्द कर देती है

दो साल बीत जाने के बाद भी हम सिर्फ पढ़ाई कर रहे हैं। विश्वविद्यालय ने इस संबंध में परीक्षा की तिथि घोषित भी गई थी, लेकिन परीक्षा नहीं हुई। 18 मई को यूनिवर्सिटी ने आगामी आदेश तक रद्द करने के निर्देश दिए थे। परीक्षा कैसे होगी? इस बारे में कोई स्थिति साफ नहीं होने के कारण छात्र परेशान हो रहे हैं।

30000 स्टूडेंट के साथ खिलवाड़ कर रही है सरकार

ज्योति यादव का कहना है कि हमारी डिग्री कब पूरी होगी। हमें यह समझ नहीं आ रहे कि क्या करें। दो साल से एक ही क्लास में है। अभी अक्टूबर थर्ड ईयर शुरू हो जाएगा। पहले जनरल प्रमोशन भी दिया गया था। फिर उसे रद्द यह कहते हुए कहा कि गलती हो गई। कितने बार टाइम टेबल जारी हुए, लेकिन कुछ नहीं हुआ। हमारे साथ खिलवाड़ हो रहा है। हमारे जैसे 30000 से ज्यादा छात्र हैं। कई बार प्रदर्शन के लिए आए। अभी यहां आए तो हमे हटाकर साइड में कर दिया गया। बार-बार कह रहे हैं कि अभी मंत्री से मिलवाएंगे, लेकिन मुलाकात नहीं हुई।

मध्यप्रदेश में स्टूडेंट्स को परीक्षा के लिए भी आंदोलन करना पड़ रहा है

कितनी अजीब बात है, मध्यप्रदेश में मेडिकल यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स को नियमित परीक्षा के लिए भी आंदोलन करना पड़ रहा है। जिन स्टूडेंट्स ने 2019 में एडमिशन लिया था वह 2021 में भी फर्स्ट ईयर में ही है। वह जानना चाहते हैं कि उनकी डिग्री कब कंप्लीट होगी। स्टूडेंट्स की मांग है कि:-
कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए 2019-20 के फर्स्ट, सेकंड और थर्ड ईयर के छात्रों को आंतरिक मूल्याकंन के हिसाब से मार्कस दिए जाएं।
यदि जनरल प्रमोशन नहीं दे सकते तो परीक्षाएं ऑनलाइन या ओपन बुक के माध्यम से ली जाए।
तीसरा और अहम मुद्दा हमारे सेसन को सही करने के लिए परीक्षाएं हर 6 महीने में करवाई जाएं। तब तक जब तक सेसन सही नहीं हो जाता और 4 साल की डिग्री 4 साल में नहीं मिल जाती तब तक हमारी BSc नरर्सिंग की परीक्षाएं हर 6 महीने में करवाई जाएं।
आगामी कक्षा मे प्रोन्नोत करने पर, ऑनलाइन परीक्षा करवाने के बाद हमारे रिजल्ट तुरंत जारी किये जाएं।
हमारे चार साल के केर्स की डिग्री चार साल मे ही पूरी की जाए।
कोर्स पूर्ण होने के बाद हमे डिग्री तुरंत दी जाए।

10 अगस्त को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MP NEWS- जनजातीय दिवस पर सरकारी छुट्टी की घोषणा, कमलनाथ के नहले पर शिवराज सिंह का देहला
GWALIOR NEWS- लैंड रिकॉर्ड का सिस्टम बदल रहा है, सतर्क रहें
MPPSC DSP (MT) आयु सीमा एवं शारीरिक मापदंड का शुद्धि पत्र
MP COLLEGE ADMISSION- शिक्षा विभाग के इंस्टीट्यूट्स में प्राइवेट स्टूडेंट्स को एडमिशन मिलेगा
INFOSYS INDORE कैंपस भर्ती की घोषणा, एप्लीकेशन की लास्ट डेट 12 अगस्त
MP COLLEGE EXAM NEWS- 18 लाख स्टूडेंट्स के लिए फिर से परीक्षा होगी
MP POLICE SI भर्ती का इंतजार कर रहे बेरोजगार ने सुसाइड कर लिया
INDORE NEWS- खेल अकादमी के लिए कक्षा 7 से 12 तक के विद्यार्थी यहां आवेदन करें
GWALIOR NEWS- बाढ़ के सर्वे में शिक्षकों की ड्यूटी लगाई, 4 कर्मचारी सस्पेंड
MARUTI DZIRE को इलेक्ट्रिक बनाया, 160 टॉप स्पीड, 1 घंटे में चार्ज
MP Employees Annual Statement 2020-21 of GPF Online, यहां देखें

महत्वपूर्ण, मददगार एवं मजेदार जानकारियां

GK in Hindiपरिक्रमा को इंग्लिश में क्या कहते हैं और हिंदी में इसका अर्थ क्या है
GK in Hindiघी में आग क्यों लग जाती है, दूध में क्यों नहीं लगती
GK in Hindiदुबई के सभी शेख अमीर क्यों होते हैं, कोई कंगाल क्यों नहीं होता
GK in Hindiकुत्ते कार का पीछा क्यों करते हैं, क्या वह कार चोरी की होती है, पढ़िए 4 कारण
GK in Hindi- वह कौन सी संख्या है जिसे रोमन में नहीं लिखा जा सकता
GK in Hindiरानियों के रेशमी वस्त्र किससे धुलते थे, वाशिंग पाउडर तो था नहीं
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com
:- यदि आपके पास भी हैं ऐसे ही मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here