Loading...    
   


INDORE गैंगरेप पीड़िता कुरान लेकर DIG ऑफिस पहुंची, कहा BJP नेता निर्दोष - MP NEWS

इंदौर।
 मध्य प्रदेश के इंदौर में आपदा प्रबंधन समिति सदस्य रेहान शेख के विरुद्ध अपहरण, धमकी और सामूहिक दुष्कर्म की रिपोर्ट लिखवाने वाली महिला दूसरे ही दिन पलट गई। सोमवार दोपहर वह कुरान शरीफ लेकर डीआइजी कार्यालय पहुंची और कसम खाते हुए बोली कि रेहान शेख निर्दोष है। FIR में उसका नाम कैसे जोड़ दिया, वह हैरान है।      

सदर बाजार थाना टीआइ अजय वर्मा ने कहा कि उनके पास वीडियो रिकार्डिंग है, जिसमें पीड़िता और उसकी मां ने रेहान पर धमकाने का आरोप लगाया है। इस बीच पश्चिम क्षेत्र के एसपी महेश चंद जैन ने केस की विवेचना रावजी बाजार थाना टीआइ सविता चौधरी को सौंप दी है। जूना रिसाला निवासी महिला ने रविवार दोपहर रेहान शेख, समीर गट्टी, आसिफ, जुनैद, बिट्टू व हसनेन के खिलाफ बेटी के अपहरण, सामूहिक दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी जैसी गंभीर धाराओं में केस दर्ज करवाया था। 

रेहान भाजपा वार्ड-8 का अध्यक्ष है और हाल ही में गठित वार्ड आपदा प्रबंधन समिति का सदस्य भी है। रिपोर्ट लिखवाने के 20 घंटे बाद ही पीड़िता की मां रेहान के पक्ष में खड़ी हो गई। उसने डीआइजी कार्यालय पहुंच आवेदन पेश कर दिया। उसने कहा रेहान परिवार का सदस्य है। उसका कोई दोष नहीं है। मैंने उसका नाम लिया भी नहीं। उसने डीआइजी मनीष कपूरिया से कहा, मैं कुरान शरीफ की कसम खाती हूं सच बोल रही हूं। महिला ने आवेदन में लिखा कि टीआइ ने दबाव बना कर कहा था रेहान का नाम लिखवाओ।

डीआइजी ने एसपी महेश चंद्र जैन को जांच के निर्देश दिए हैं। एसपी ने तत्काल रावजी बाजार टीआइ सविता चौधरी को सौंप दी। वहीं टीआइ वर्मा के मुताबिक महिला खुद थाने आई थी। पुलिस के पास उसके वीडियो रिकार्डेड बयान हैं, जिनमें पीड़िता और उसकी मां ने कहा था कि रेहान ने जान से मारने की धमकी दी है।

महिला का आरोप था कि समीर, आसिफ, बिट्टू और हसनेन उसकी बेटी को अगवा कर चोरल ले गए और सामूहिक दुष्कर्म किया। शनिवार शाम तक बेटी नहीं लौटी तो उसे बुलाकर ले जाने वाली सहेलियों से पूछताछ की। रात को रेहान व जुनैद घर आए और रिपोर्ट लिखवाने पर धमकी दी। पूर्व विधायक सहित अन्य नेताओं ने पुलिस पर दबाव बनाया। अफसरों के हस्तक्षेप के बाद रेहान के विरुद्ध एफआइआर हुई। उधर पुलिस ने मामले के एक आरोपित समीर गट्टी को गिरफ्तार कर लिया।

पूर्व पार्षद का हस्तक्षेप

सूत्रों के मुताबिक धोखाधड़ी के मामले में कुछ दिन पहले ही जेल से छूटे पूर्व पार्षद का हस्तक्षेप सामने आया है। रेहान और उसकी दोस्ती है। उसने ही महिला को बयान बदलने की सलाह दी। महिला के साथ रेहान की मां भी थी। थोड़ी देर बाद रेहान भी कंट्रोल रूम पहुंचा व खुद को बेगुनाह बताया।

18 मई को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here