Loading...    
   


GK - उबले हुए चने अंकुरित क्यों नहीं होते जबकि भीगे हुए चने में अंकुर निकल आता है

Why do the boiled gram not get sprout

जैसे उबले अंडे से चूजा बाहर नहीं आ सकता वैसे ही उबले चने से अंकुर बाहर नहीं आ सकता। यह तो एक साधारण सी बात है जो सबको पता होती है परंतु महत्वपूर्ण बात यह है कि इसके पीछे वैज्ञानिक कारण क्या है। ऐसा क्यों है कि सामान्य पानी में भीगने के बाद चने अंकुरित हो जाते हैं लेकिन उसी पानी में उबलने के बाद अंकुरण नहीं होता। आइए आज हम इसका वैज्ञानिक कारण जानते हैं।

वैज्ञानिक रूप से चना क्या है / Scientifically What is Gram 

सबसे पहले तो यह जान लीजिए कि चना (Gram) का वैज्ञानिक नाम साईसर ऐरिटिनम (Cicer arietinum) है। चना लेग्युमिनेसी फैमिली (Leguminacece, दालकुल)  का एक पौधा है। जिसे बंगाल ग्राम, चिकन पी, एजिप्टियन पी आदि नामों से भी जाना जाता है। इसका खाया जाने वाला मुख्य भाग बीज होता है तथा भाजी के रूप में इसकी पत्तियां खाई जाती हैं। यह एक आवृत्तबीजी, द्विबीजपत्री तथा एकवर्षीय (Angiospermic, Dicotyledon and Annual) पौधा है। 

आवृतबीजी, द्विबीजपत्री एवं एकवर्षीय क्या है 

What is the meaning of  Angiosperm, Dicotyledon and Annual plant 

आवृत्तबीजी का अर्थ होता है कि इसके बीजों के ऊपर कवर या खोल या आवरण पाया जाता है तथा द्विबीजपत्री का अर्थ होता है कि इसके बीजों को दो बराबर भागों में विभाजित किया जा सकता है तथा एकवर्षीय का अर्थ है कि इसकी फसल एक साल में तैयार हो जाती है। अन्य उदाहरण जैसे  - मटर, मूंग, अरहर ,मूंगफली आदि। 

चने में अंकुरण  / Sprouting in Gram

चने के बीज को पानी में भिगोकर (6 से 8 घंटे के लिए) और फिर पानी से निकालकर कपड़े में बांधकर रख दिया जाता है, तो चने के बीजों में से एक छोटा सा अंकुर या स्प्राउट (Sprout) बाहर निकल आता है। इसे ही अंकुरण कहा जाता है। ऐसी ही प्राकृतिक प्रक्रिया यदि मिट्टी में की जाए तो मिट्टी में भी sapling (नन्हा पौधा) बाहर आ जाता है।

आइए जानते हैं बीज में अंकुरण का क्या कारण है 
What is the Reason behind Sprouting

अंकुरण के लिए आवश्यक कंडीशन हवा, पानी और प्रकाश है। चने के बीज या अन्य बीज जो कि अपने अंदर पौष्टिक पदार्थ को संचित किये होते है पानी में डालते ही पानी यह नमी अवशोषित कर के फूल जाते हैं और उनके अंदर उपस्थित पौष्टिक पदार्थ एक नुकीले सिरे से होकर बाहर निकलता है। अगर इसे जमीन में गाढ़ दिया जाए तो बीज का सिरा (नुकीला भाग) पूरी तरह अंकुरित होकर पौधे का एरियल पार्ट यानी तना, पत्ती, फल, फूल, आदि बनाता है जबकि बीज का नीचे वाला आधारीय भाग पौधे का अंडरग्राउंड पार्ट (जड़) को बनाता है। 

उबले हुए चने अंकुरित क्यों नहीं होते 
Why does boiled Gram not Sprout 

तो इसका सीधा सा जवाब है कि जब हम किसी बीज को उबालते हैं तो उसकी कोशिकाएं मृत या डेड हो जाती हैं जैसे- जब हम पानी को उबालते हैं तो पानी के जर्मस् भी मर जाते हैं। उसी तरह उबालने से चने के बीज की भी कोशिकाएं मृत हो जाती हैं और मृत कोशिकाओं में अंकुरण संभव नहीं है।

चने के बारे में कुछ रोचक जानकारी 
interesting facts about Chana or Gram

• आपको यह जानकर सुखद आश्चर्य होगा कि किसी मछली का नाम भी चाना है जोकि एशियन कंट्रीज का स्टेपल फूड है।
* Staple food- ऐसा खाद्य पदार्थ जो सबसे अधिक मात्रा में खाया जाता है।
• काबुली चने को, chicken pea इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसका कलर चिकन के जैसा होता है।
• संभवत यह सबसे प्राचीन दलहनी फसल है।
• चना प्रोटीन का रिच सोर्स होता है।
• चने के पौधे की जड़ों में नाइट्रोजन का स्थिरीकरण करने वाले बैक्टीरिया पाए जाते हैं।
• इसलिए पर्यावरण की दृष्टि से चने के पौधे महत्वपूर्ण हैं। Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article

मजेदार जानकारियों से भरे कुछ लेख जो पसंद किए जा रहे हैं

(current affairs in hindi, gk question in hindi, current affairs 2019 in hindi, current affairs 2018 in hindi, today current affairs in hindi, general knowledge in hindi, gk ke question, gktoday in hindi, gk question answer in hindi,)


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here