Loading...    
   


चम्मच के डिजाइन में फिजिक्स का कौन सा सिद्धांत मिलता है, यहां पढ़िए Spherical mirrors

क्या आपने कभी अपने किचन में काम आने वाली चम्मच को ध्यान से देखा। क्या आपको चम्मच के आकार में कोई विशेषता दिखाई देती है। यदि नहीं, तो इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको पता चलेगा कि चम्मच क्यों है खास!

यूं तो चम्मच एक साधारण सा बर्तन है जो कि स्टील, प्लास्टिक, चांदी आदि कई चीजों से बनी होती है। जब आप चम्मच को ध्यान से देखेंगे तो आपको पता चलेगा कि 🤪 "चम्मच का पेट एक तरफ से तो भरा होता है और दूसरी तरफ से खाली होता है "🤪
जिसे हम उल्टा और सीधा भी कहते हैं। 

परंतु यदि फिजिक्स या भौतिक विज्ञान की बात करें तो चम्मच का डिजाइन कुछ इस तरह से बनाया गया है कि उसमें दोनों प्रकार के गोलीय दर्पणों (Spherical mirrors) का उपयोग एक साथ होता है।
गोलीय दर्पण दो प्रकार के होते हैं - उत्तल (Convex) अवतल (Concave) 
उत्तल - का अर्थ है जिसका तल ऊपर की ओर उठा है यानी पेट भरा होना  🤪🤪
जबकि अवतल - का अर्थ है जिसका तल अन्दर की ओर धँसा है यानी पेट खाली है🤪🤪

इन गोलीय दर्पणों का उपयोग हमारे रोजमर्रा के जीवन में अक्सर होता है। जैसे -  हमारी गाड़ी का साइड व्यू मिरर, उत्तल दर्पण का बना होता है। जिससे कि पीछे से आ रही गाड़ी का सीधा और छोटा प्रतिबिंब बनता है और हमें पता चल जाता है कि पीछे से आ रही है गाड़ी हमसे कितनी दूर या पास है। जबकि अवतल दर्पण का उपयोग गाड़ियों की हेडलाइट में, शेविंग बनाने में, चिकित्सा आदि में किया जाता है।

तो अब आप समझे ना चम्मच का उपयोग सिर्फ खाना खाने तक ही नहीं है। इसका डिजाइन हमें गोलीय दर्पण के बारे में भी समझाता है और आप जान गए ना आप की चम्मच क्यों है खास!! आंखों के चश्मे बनाने में कौन से दर्पण का उपयोग किया जाता है इसकी कहानी हम आपको फिर कभी बताएँगे।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here