Loading...    
   


घर का ऑक्सीजन लेवल कैसे मेंटेन रखें - How to maintain oxygen level of your home

How to maintain oxygen level of your home at pollution

कुछ महीनों पहले तक बहुत सारे लोग ऑक्सीजन के महत्व जानते और मानते तक नहीं थे लेकिन अब ऑक्सीजन की कीमत लगभग हर कोई जान चुका है। साथ ही लोग यह भी जान चुके हैं कि अपने घर एवं ऑफिस का ऑक्सीजन लेवल मेंटेन करना जरूरी है क्योंकि जहां-जहां भीड़ होती है और ऑक्सीजन लेवल कम हो जाता है, वहां-वहां संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। अब सवाल यह है कि अपने घर का ऑक्सीजन लेवल कैसे मेंटेन रखें:-

घर का ऑक्सीजन लेवल मेंटेन रखने के तरीके 

- नकली उत्पाद बाजार में ज्यादा है लेकिन जो असली है उसकी कीमत लगभग ढाई लाख रुपए हैं। एक मशीन जो वायुमंडल में ऑक्सीजन को खींच कर एसी की तरह आपके घर में प्रवाहित करती रहेगी। दुनिया के कई देशों में इसकी बिक्री बढ़ गई है।
- आप चाहे तो घर का हर सदस्य अपने हिस्से की ऑक्सीजन अपने साथ रख सकता है। कुछ ऐसी मशीनें भी बन गई है। 

- सबसे आसान काम है, ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदें। ऑक्सीजन लेवल की जांच करते रहें और जैसे ही ऑक्सीजन कम हो सिलेंडर से ऑक्सीजन रिलीज कर दें। चीन में लोग ऐसा ही करते हैं। 
- सिलेंडर को रिफिल करने की झंझट है तो आप अपने घर पर भी ऑक्सीजन बना सकते हैं। हाइड्रोजन पराक्साइड (H2O2), कैटलिस्ट या उत्प्रेरक और मैग्नीस की उपस्थिति में पानी (H2O) और ऑक्सीजन (O2) में टूट जाता है। आपको ऑक्सीजन भी मिल जाएगी और थोड़ा सा पानी भी फ्री में मिलेगा। 

- सिलेंडर खरीदने का पैसा नहीं है और घर में ऑक्सीजन बनाने के लिए प्रयोगशाला नहीं है तो फिर वह करना होगा जो वैदिक साइंस में बताया गया है। 

घर का ऑक्सीजन लेवल मेंटेन रखने के भारतीय पारंपरिक घरेलू तरीके 

- घर की उस खिड़की को सुबह के समय पूरा खोल दीजिए जहां पीपल आदि के पेड़ लगे हुए हैं। घर के अंदर ऑक्सीजन फुल हो जाएगी। 
- उस खिड़की को हमेशा के लिए बंद कर दीजिए जहां से 500 मीटर के दायरे में हरियाली दिखाई नहीं देती। घर में ऑक्सीजन कम करने वाली गैस का प्रवेश कम से कम थोड़ा तो बाधित होगा। 
- तुलसी को माता लक्ष्मी बताया गया है। मां अपने बच्चों को कभी निराश नहीं करती। श्रद्धा पूर्वक तुलसी का पौधा घर के अंदर लगाई है। घर का ऑक्सीजन लेवल दिन भर के लिए बढ़ जाएगा। 
- ट्रैफिक पॉल्यूशन और दूसरी कई प्रकार की जहरीली गैस ऑक्सीजन लेवल को कम करती है, जिन्हें घर के अंदर से खत्म करने के लिए प्रातः सूर्योदय के समय और संध्या सूर्यास्त के समय अग्निहोत्र करें। यह मात्र 60 सेकंड की वैज्ञानिक प्रक्रिया है। घर का कोई भी सदस्य कर सकता है। घर के सहयोगी कर्मचारी से भी करवा सकते हैं। 
- आप हमेशा की तरह उपरोक्त सभी बिंदुओं को नजरअंदाज कर सकते हैं परंतु याद रखिए वायरस रूप बदलकर आ रहा है और हर बार पहले से ज्यादा शक्तिशाली होता जा रहा है। या तो आप उसे मार दीजिए या फिर वह....।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here