Loading...    
   


राजीव गांधी को कंदमूल खिलाने वाली आदिवासी महिला कोरोना पॉजिटिव - NATIONAL NEWS

नई दिल्ली।
कांग्रेस पार्टी की कार्यवाहक अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी को अच्छी तरह से याद होगा। सन 1985 में उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के साथ छत्तीसगढ़ के कुल्हाड़ी गांव में एक आदिवासी महिला के घर में रात्रि विश्राम किया था। आदिवासी महिला के घर में उनके स्वागत के लिए कुछ भी नहीं था। उसने पारंपरिक कंदमूल सामने रख दिए। स्वर्गीय राजीव गांधी ने बड़े ही प्रेम से बल्दी बाई के कंदमूल खाए थे। इस महिला की उम्र 92 साल हो गई है और जंगल में रहने के बावजूद कोरोनावायरस से संक्रमित हो गई है।

बल्दी बाई की हालत गंभीर, गरियाबंद से रायपुर रेफर

बताया जा रहा है कि बल्दी बाई को दो तीन दिन से सामान्य सर्दी बुखार के लक्षण दिखाई दे रहे थे। जिसके बाद कुल्हाड़ीघाट के स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा इसकी तत्काल जानकारी दी गई और कल रात में उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मैनपुर में एडमिट किया गया। यहां बल्दी बाई का यहां एंटीजन टेस्ट और प्रारंभिक उपचार के पश्चात उन्हें रात में ही कोविड अस्पताल गरियाबंद रिफर किया गया। हालांकि यहां गरियाबंद कलेक्टर निलेश क्षीरसागर के निर्देश पर सीएमएचओ डॉ नवरत्न ने कोविड-19 के बेहतर चिकित्सा के लिए उन्हें रायपुर मेकाहारा रिफर किया गया। जहां उनका इलाज जारी है।

मुख्यमंत्री ने कहा इलाज में कोई कमी नहीं रहनी चाहिए

स्वर्गीय राजीव गांधी को कंदमूल खिलाने के कारण बल्दी बाई को पूरा छत्तीसगढ़ जानता है। कांग्रेस पार्टी के पोस्टर पर श्रीमती बल्ली बाई का फोटो कई बार छापा जा चुका है। फिलहाल छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी की सरकार है। जानकारी मिलने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वरिष्ठ डॉक्टरों को बेहतर इलाज के लिए तत्काल निर्देशित किया है। उन्होंने कहा कि बल्दी बाई के स्वाथ्य पर कड़ी नजर रखी जाए और उन्हें किसी प्रकार की कोई तकलीफ न हो।

26 अप्रैल को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here